• Home
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • नए साल में टाटा मोटर्स ऑटोमेशन की प्रक्रिया होगी तेज, उत्पादन लक्ष्य पाने के लिए रोबोट करेंगे काम
--Advertisement--

नए साल में टाटा मोटर्स ऑटोमेशन की प्रक्रिया होगी तेज, उत्पादन लक्ष्य पाने के लिए रोबोट करेंगे काम

टाटा मोटर्स का नया वित्तीय वर्ष इस साल काफी चुनौतीपूर्ण होगा। नए साल में टाटा मोटर्स के एमडी गुंटेर बुशेक 2 अप्रैल...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:50 AM IST
टाटा मोटर्स का नया वित्तीय वर्ष इस साल काफी चुनौतीपूर्ण होगा। नए साल में टाटा मोटर्स के एमडी गुंटेर बुशेक 2 अप्रैल को टाटा मोटर्स के सभी प्लांट के अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से संबोधित करेंगे। इसकी तैयारी को लेकर शनिवार को टाटा मोटर्स के कार्यकारी निदेशक एसबी बोवरंकर ने अधिकारियों के साथ बैठक की।

उन्होंने नए वित्तीय वर्ष के लक्ष्य को पाने की योजनाओं और ऑटोमेशन (रोबोट) की प्रक्रिया को तेज करने पर विचार किया। नए साल में कंपनी की उत्पादकता के साथ उत्पादन प्रभावित होने वाले सिस्टम की कमियों को दूर करने पर जोर दिया। उन्होंने उत्पादन क्षमता बढ़ाने के साथ ही एमओपी बैंड को बढ़ाने पर जोर दिया। टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट के इतिहास में पहली बार एक लाख 38 हजार का लक्ष्य पाने के लिए नए वित्तीय वर्ष में कंपनी का ऑटोमेशन होगा।

मार्च माह में 10 हजार ही वाहन बन पाए

इस वित्तीय वर्ष के अंतिम माह मार्च में 10 हजार वाहन ही बन पाए। इस तरह वित्तीय वर्ष 2017-18 में लगभग 90 हजार गाड़ियां बनीं, जो रिकॉर्ड है। पिछले साल करीब 75 हजार गाड़ियां बनी थी। नए वित्तीय वर्ष (2018-19) में उत्पादन लक्ष्य एक लाख 38 हजार से ज्यादा वाहन बनाने का होगा। अप्रैल से ही उत्पादन का दबाव रहेगा और हर माह लगभग 12 हजार गाड़ियां बनाने का लक्ष्य रहेगा। अगले वित्तीय वर्ष में 40 हजार ज्यादा वाहन बनाने का लक्ष्य होगा। कंपनी अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए एसेंबली लाइन में कर्मचारियों की संख्या न केवल बढ़ा रही है बल्कि विभिन्न मोर्चे पर भी सख्ती बरत रही है।

आज टाटा मोटर्स में इन्वेंट्री रहेगा

लगातार 10 दिन के उत्पादन के बाद टाटा मोटर्स में एक अप्रैल को इन्वेंट्री रहेगा। इस दिन कंपनी में काम नहीं होगा। कुछ विभाग खुले रहेंगे। टाटा कमिंस में 31 मार्च को छुट्टी रही। वहां एक अप्रैल से काम शुरू हो जाएगा।