--Advertisement--

2030 तक उत्पादन 30 एमटी पहुंचाएंगे : एमडी

नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत पर टाटा स्टील के वर्क्स जनरल आफिस लॉन में केक कटिंग समारोह हुआ। इसमें सीईओ सह एमडी टीवी...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत पर टाटा स्टील के वर्क्स जनरल आफिस लॉन में केक कटिंग समारोह हुआ। इसमें सीईओ सह एमडी टीवी नरेंद्रन ने कहा कि हमने 2030 में 30 मिलियन टन के उत्पादन का सपना देखा है। भूषण स्टील के अधिग्रहण से यह सपना भी साकार होते दिखने लगा है। उन्होंने कहा कि नए वर्ष में कई चुनौती है। माइंस डिवीजन को जो टारगेट दिया गया था, उसे पूरा किया गया है। इससे कंपनी बेहतर हालत में है।

टाटा स्टील के टीक्यूएम एंड स्टील बिजनेस के प्रेसिडेंट आनंद सेन ने कहा- टाटा स्टील को गुजरे वित्तीय वर्ष में कुल 2524 करोड़ रुपए की बचत हुई है। टाटा स्टील के कर्मचारियों के सतत प्रयास, बेहतर उत्पाद और गुणवत्ता के कारण यह उपलब्धि हासिल हुई है। आनंद सेन ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2016_17 में कंपनी को लगभग 2000 करोड़ रुपए की बचत हुई थी। इसमें सभी विभागों के वाइस प्रेसिडेंट, टाटा वर्कर्स यूनियन के डिप्टी प्रेसिडेंट अरविंद पांडेय, महामंत्री सतीश सिंह समेत अफसर और कर्मचारी शामिल हुए।

नए वित्तीय वर्ष के मौके पर आयरन मेकिंग डिवीजन द्वारा स्टीलेनियम सभागार व स्टील मैन्युफैक्चरिंग विभाग द्वारा सीआरएम लॉन में भी केक कटिंग समारोह किया गया। इसमें कंपनी के उपाध्यक्ष उत्तम सिंह, सुधांशु पाठक सहित यूनियन व कंपनी के वरीय अधिकारी शामिल हुए।

वेंडर मानकों को पूरा करें वरना बाहर कर दिए जाएंगे

एमडी ने कहा- टाटा स्टील के वेंडरों को भी विश्व स्तरीय मानकों को पूरा करना होगा वरना उन्हें कंपनी से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। पिछले चार साल में कंपनी के भीतर दुर्घटना में ठेका कर्मचारियों की मौत हुई है, न कि कंपनी के स्थायी कर्मचारियों की। शीर्ष प्रबंधन ने फैसला लिया है कि अब उन्हीं लोकल वेंडरों को प्राथमिकता दी जाएगी जो सभी मानकों का बेहतर पालन करते हो। आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र में कई ऐसी कंपनियां हैं, जो ग्लोबल मानक के मुताबिक प्रदर्शन कर रही हैं।

शहर को आईटी हब बनाना चाहिए : रवि

टाटा वर्कर्स यूनियन अध्यक्ष आर. रवि प्रसाद ने कहा- टाटा समूह के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन के आगमन पर उनसे शहर को आईटी हब बनाने का अनुरोध किया गया था। यूनियन ने पिछली बार भी इस मांग से चेयरमैन को अवगत कराया था। कंपनी के सीईओ से अनुरोध है कि इस दिशा में पहल करे।

कर्मचारियों को स्मार्टफोन दिए जाने की वकालत

वित्तीय वर्ष के पहले दिन यूनियन अध्यक्ष ने कर्मचारियों को स्मार्टफोन देने की वकालत की। कहा- कंपनी डिजिटलाइजेशन की ओर तेजी से बढ़ रही है। प्रबंधन सभी कर्मचारियों को मोबाइल फोन दे ताकि वे हमेशा कंपनी के साथ जुड़े रहे। इससे कंपनी के कामकाज में आसानी होगी।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..