• Home
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • बर्मामाइंस हरिजन बस्ती में रेल कर्मचारी की गोली मारकर हत्या, दोस्त से हो रही पूछताछ
--Advertisement--

बर्मामाइंस हरिजन बस्ती में रेल कर्मचारी की गोली मारकर हत्या, दोस्त से हो रही पूछताछ

इसी मकान के बाहर चौकी पर सोए थे प्रशांतो डे, जहां उन्हें गोली मारी गई। 10 साल से परिवार से अलग रह रहे थे प्रशांतो,...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:55 AM IST
इसी मकान के बाहर चौकी पर सोए थे प्रशांतो डे, जहां उन्हें गोली मारी गई।

10 साल से परिवार से अलग रह रहे थे प्रशांतो, प|ी भी छोड़ गई थी

प्रवीर डे के अनुसार, वे तीन भाई हैं। मंझले भाई की सितंबर में ब्रेन ट्यूमर के कारण मौत हो गई थी। अब प्रशांतो भी चला गया। प्रशांतो पिछले 10 साल से परिवार से अलग रह रहा था। सात साल पहले प्रशांतो की प|ी असमी ने उससे अलग होकर दूसरी शादी कर ली। प्रशांतो की मां नमिता डे ने बताया- बेटा (प्रशांतो) कभी-कभी उनसे मिलने आता था। वह बहुत ज्यादा शराब पीता था। घरवालों को रविवार दोपहर तक उसकी हत्या की बात की जानकारी नहीं थी। गोली मारे जाने की बात से परिवारवालों के होश उड़ गए। नमिता डे ने बताया- उनके पति और तीनों बेटे रेलवे में ही काम करते थे। अब बड़ा बेटे पर पूरे परिवार की जिम्मेवारी है।

छोटे बेटे प्रशांतो की गोली लगने से मौत की सूचना पर स्तब्ध रह गईं मां नमिता डे।

प|ी थाने पहुंची, शव देखने की बात कही

रविवार को प्रशांतो की मौत की सूचना मिलने पर असमी बर्मामाइंस थाना पहुंची और प्रशांत का शव एक बार देखने की अपील की। थाना प्रभारी ने बताया- शव लोको कॉलोनी जाएगा। इसके बाद थाना प्रभारी ने प्रशांतो के बड़े भाई प्रवीर को फोनकर कहा- असमी शव देखने जाएगी। उसे रोक ना जाए। असमी थाने में एक साल के बच्चे के साथ पहुंची थी। असमी ने कहा- उसने दूसरी शादी नहीं की है। इधर, कुछ लोगों ने प्रशांतो के भी अवैध संबंध की बात कही।

हत्या के पीछे कई कारण, सभी बिंदुओं पर जांच होगी