• Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • 100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली, शाम चार बजे ही अंधेरा, आंधी बारिश में आधे घंटे थम गया शहर
--Advertisement--

100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली, शाम चार बजे ही अंधेरा, आंधी-बारिश में आधे घंटे थम गया शहर

Jamshedpur News - रविवार शाम चार बजे काले बादलों ने पूरा शहर ढंक गया। दिन में ही रात सा नजारा दिखने लगा। विजिबिलिटी एक किलोमीटर से कम...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 03:00 AM IST
100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली, शाम चार बजे ही अंधेरा, आंधी-बारिश में आधे घंटे थम गया शहर
रविवार शाम चार बजे काले बादलों ने पूरा शहर ढंक गया। दिन में ही रात सा नजारा दिखने लगा। विजिबिलिटी एक किलोमीटर से कम हो गई। आंधी व गरज के साथ तेज बारिश शुरू हुई। सात बजे तक रुक-रुककर होती रही। 26 मिलीमीटर बारिश रिकाॅर्ड किया गया। कुछ क्षेत्रों में ओले भी गिरे। 90 से 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली। दो दर्जन से अधिक पेड़ गिर गए। 150 से अधिक जगहों पर पेड़ की डालियां टूट गईं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक 21 मार्च के बाद यह स्थिति लगभग हर साल बनती है। हालांकि इसका प्रभाव अलग-अलग होता है। इसे काल वैशाखी भी कहते हैं। शहर की यातायात व्यवस्था प्रभावित हुई। हवा की रफ्तार की वजह से जो लोग जहां थे, वहीं रुक गए। हालांकि 20 मिनट बाद हवा की रफ्तार थोड़ी कम हुई। रविवार को दिन की शुरुआत धूप के साथ हुई और दोपहर तक मौसम साफ रहा। इसके बाद मौसम बदला हवा की रफ्तार भी बढ़ने लगी। अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री रिकाॅर्ड किया गया।

अचानक ऐसा मौसम क्यों?

रांची के मौसम वैज्ञानिक आरएस शर्मा ने बताया कि राज्य के ऊपर दो दिनों से अपर एयर सर्कुलेशन बना हुआ है। लगातार बंगाल की खाड़ी से हवाओं में नमी झारखंड आ रही है। इसलिए राज्यभर में ऐसा मौसम बना है।

अगले दो दिनों तक ऐसा ही रहेगा मौसम

मौसम विभाग के रांची केंद्र की माने तो अगले दो दिनों तक मौसम ऐसा ही रहेगा। धूप के बीच बादलों की लुकाछिपी रहेगी। तेज हवा चलेगी। गरज के साथ बारिश की संभावना है। बदलाव की मुख्य वजह वेस्टर्न डिस्टरबेंस है। जिसकी वजह से पूरे पूर्वोत्तर भारत में गर्जन व तेज हवा के साथ बारिश हो रही है।

डेढ़ लाख घरों की बिजली गुल रही

गैर कंपनी क्षेत्र रविवार शाम चार बजे आंधी व बारिश से अंधेरे में डूब गए। मानगो, जुगसलाई, करनडीह व छोटा गोविंदपुर सब डिवीजन के लगभग डेढ़ लाख उपभोक्ताओं के घरों की बिजली गुल रही। कई क्षेत्रों में हाइटेंशन तार पर पेड़ की डाली गिरी। कई इलाकों में तेज हवा व बारिश से इंसुलेटर पंक्चर व सब स्टेशन में तकनीकी गड़बड़ी से बोर्ड को लाखों का नुकसान हुआ।

एक घंटे में 150 से अधिक शिकायतें, सबसे अधिक मानगो और परसुडीह से

झारखंड राज्य विद्युत बोर्ड के कमांड क्षेत्रों में बिजली गुल होने के बाद शिकायत केंद्रों 150 से अधिक शिकायतें आई। जूनियर इंजीनियर से लेकर सहायक अभियंता स्तर के अधिकारियों को लोगों ने बिजली गुल होने और बिजली का तार गिरने की शिकायतें की। अधिकारियों का कहना है सबसे अधिक शिकायत मानगो और परसुडीह क्षेत्रों से आई। पचास से अधिक शिकायतें सिर्फ मानगो और परसुडीह से आई है।

साकची स्ट्रेट माइल रोड, बाग-ए-जमशेद, बाराद्वारी के पास पेड़ गिरे, यातायात डायवर्ट करना पड़ा

अंधेरे ने रोकी ट्रेनों की रफ्तार, ओएचई टूटने से टाटानगर व गम्हरिया की ओर खड़ी रही ट्रेनें

तेज आंधी व बारिश के कारण जम्मूतवी एक्सप्रेस, जनशताब्दी, गीतांजलि एक्सप्रेस सहित आधा दर्जन ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहा। आदित्यपुर-गम्हरिया के बीच ओवरहेड वायर पर पेड़ की टहनी गिर गई। एक से डेढ़ घंटा तक ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। टाटानगर स्टेशन में टाटा-बड़बिल पैसेंजर, टाटा बिलासपुर पैसेंजर, गीतांजलि एक्सप्रेस व दो मालगाड़ी टाटानगर स्टेशन में रुकी रही। टाटा बिलासपुर पैसेंजर पांच छह बजे टाटानगर स्टेशन से खुली। जम्मूतवी एक्सप्रेस गम्हरिया में रुकी रही। जनशताब्दी सीनी में डेढ़ घंटा तक रुकी रही। गीतांजली एक्सप्रेस 15 मिनट तक टाटानगर स्टेशन में ही रुकी रही।

गैर कंपनी क्षेत्रों में ‘ब्लैक आउट’, कदमा, सोनारी व साकची में ट्रैफिक बाधित

प्लेटफॉर्म पर पानी भरा, बचने के लिए बाहर निकले यात्री

टाटानगर स्टेशन के प्लेटफॉर्म एक से पांच तक यात्री बारिश में भींगे। प्लेटफॉर्म-1 पर शेड से पानी रिसने से पानी भर गया।

दो दर्जन से अधिक पेड़ उखड़ेे, 150 जगहों पर डालियां टूटीं, ओले गिरे

नहीं मिल रहा फाल्ट, विभाग फेल

आदित्यपुर में देर रात तक नहीं आई बिजली, फाल्ट खोजता रहा विभाग

आदित्यपुर इलाके में रात भर बिजली नहीं आई। आंधी पानी के चलते कई जगहों पर तार और खंभे गिर गए। बिजली नहीं आने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। बिजली विभाग के दफ्तरों में लोग फोन लगाकर बिजली आने की जानकारी लेते रहे। अफसर यही कहते रहें- फाल्ट खोजने का काम चल रहा है। बिष्टुपुर में सिंहभूम चैंबर भवन के सामने निर्माणाधीन भवन की टिन से की गई घेराबंदी धराशाई हो गई।

आंधी की रफ्तार को लेकर गलत साबित हो रहा मौसम विभाग का पूर्वानुमान

हवा को लेकर मौसम विभाग का पूर्वानुमान लगातार गलत साबित हो रहा है। शनिवार को मौसम विभाग ने 50 से 60 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्ता से हवा चलने का अनुमान जताया था। लेकिन हवा सिर्फ 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चली।

सीएम का कार्यक्रम रद्द: सीएम का स्वागत नहीं कर सके भाजपाई, आंधी में कुर्सी टूटी, मैदान में पानी

रविवार शाम चार बजे आंधी व बारिश से एग्रिको स्थित ट्रांसपोर्ट मैदान में सीएम रघुवर दास का अभिनंदन समारोह कार्यक्रम नहीं हो सका। बारिश के कारण बस्ती विकास समिति की तैयारी पर पानी फिर गया। बारिश व आंधी से कुर्सियां बिखर गईं। बारिश से मैदान में पानी भर गया। बारिश नहीं रुकने पर शाम छह बजे बस्ती विकास समिति के अध्यक्ष खेमलाल चौधरी, रामबाबू तिवारी, खादी बोर्ड के सदस्य कुलवंत सिंह बंटी, समेत बस्तीवासियों की भीड़ मैदान छोड़ दी। भाजपा नेताओं के साथ सीएम के एग्रिको आवास पर पहुंचे। सीएम सड़क मार्ग से देर शाम 6.30 बजे एग्रिको आवास पहुंचे थे।

मानगो, बिरसानगर, जुगसलाई व बागबेड़ा में पानी आपूर्ति बंद

मानगो, बागबेड़ा, जुगसलाई व बिरसानगर में जलापूर्ति ठप रही। रात में मानगो में इंटेकवेल का मोटर पंप चलाया जाएगा, तो जुगसलाई में जलमीनार को रात में मोटर चलाकर पानी भरने का काम होगा। सुबह में पानी आपूर्ति होगी।

तेज हवा से रेलवे लाेको फाटक के पास खड़ी मोटरसाइकिलें गिरी

टाटानगर लोको कॉलोनी जाने वाले मार्ग पर फाटक के पास कई वाहन तेज हवा के झोंके से पलट गए।

क्लिक टाइम : 4.33 PM

एसपी कार्यालय के पास

X
100 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा चली, शाम चार बजे ही अंधेरा, आंधी-बारिश में आधे घंटे थम गया शहर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..