--Advertisement--

दर्ज करना था 29830, लिख दिया 25814

एजुकेशन रिपोर्टर | जमशेदपुर आठवीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की संख्या में आए अंतर को लेकर नया...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 03:20 AM IST
एजुकेशन रिपोर्टर | जमशेदपुर

आठवीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की संख्या में आए अंतर को लेकर नया खुलासा हुआ है। पूर्वी सिंहभूम जिला शिक्षा कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, विभाग के जिला व राज्य कार्यालयों के बीच आपसी तालमेल की कमी की वजह से अलग-अलग दिन अलग-अलग आंकड़े दर्ज किए गए। इससे कंफ्यूजन पैदा हुआ। पूर्वी सिंहभूम जिले में अलग-अलग कोटि के विद्यालयों में करीब 31 हजार छात्र नामांकित थे।

बोर्ड परीक्षा के पहले दिन हिंदी विषय की परीक्षा में शामिल छात्रों की जो संख्या जिला कार्यालय ने रांची स्थित राज्य कार्यालय को भेजा, वह 29830 था। लेकिन वहां बैठे लोगों ने गलती से अपने नोट बुक में संख्या 25814 लिखा। दूसरे व तीसरे दिन विभाग ने 29830 दर्ज किया। इस प्रकार पहले दिन की परीक्षा के मुकाबले आश्चर्यजनक रूप में दूसरे व तीसरे दिन 4016 परीक्षार्थी बढ़ गए। एक ही दिन के अंदर छात्रों की संख्या में इतनी बड़ी बढ़ोतरी देख कर ही जैक के साथ ही मानव संसाधन विकास विभाग ने इस पर सवाल उठाते हुए जांच का आदेश जारी कर दिया। परीक्षार्थियों के आंकड़े में बदलाव गुमला को छोड़ हर जिलों में हुआ था।

डीएसई ने जांच की मांग की तो सही आंकड़ा आया सामने

जिले के परीक्षार्थियों के आंकड़े में इतना बड़ा अंतर का मामला जैसे ही प्रकाश में आया, तो उसकी जांच डीएसई बांके बिहारी सिंह ने अपने स्तर से की। उन्होंने पाया कि जो आंकड़ा दूसरे वे तीसरे दिन भेजा था वही आंकड़ा पहले दिन भी भेजा गया था। इसके बाद उन्होंने राज्य कार्यालय को आंकड़े को पुन: जांचने को कहा तो पाया गया कि पूर्वी सिंहभूम कार्यालय द्वारा परीक्षा के पहले तीनों दिन एक ही आंकड़ा भेजा गया था। इसके बाद उन्होंने अपने चार्ट में दर्ज पूर्व केे आंकड़े को संधोधित करते हुए 29830 किया।

चौथे दिन बदला आंकड़ा

डीएसई कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, उन्होंने आठवीं की परीक्षा के तीनों दिन 20, 21 व 22 फरवरी को 29830 परीक्षार्थियों की संख्या राज्य कार्यालय को भेजा। लेकिन परीक्षा के चौथे दिन यह बात सामने आई की एक निजी स्कूल के 16 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल नहीं हो रहे थे। इसके बाद यह संख्या घटकर 29814 हो गई।

जिले ने यह आंकड़े भेजे

तिथि जिला ऑफिस राज्य ऑफिस

20 फरवरी 29830 25814

21 फरवरी 29830 29830

22 फरवरी 29830 29830

23 फरवरी 29814 29814

पुन: जांच में स्थिति स्पष्ट हुई