जमशेदपुर

  • Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • पैसा मांगने वाले ठेका कंपनी कर्मी को हटाने का आदेश, विभाग के ईई-एई कर रहे मामले की जांच
--Advertisement--

पैसा मांगने वाले ठेका कंपनी कर्मी को हटाने का आदेश, विभाग के ईई-एई कर रहे मामले की जांच

क्वैश कॉरपोरेशन कंपनी के कर्मचारियों द्वारा बिलिंग करने और मीटर लगाने की मांग को लेकर बिजली बोर्ड गंभीर हुआ है।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:45 PM IST
क्वैश कॉरपोरेशन कंपनी के कर्मचारियों द्वारा बिलिंग करने और मीटर लगाने की मांग को लेकर बिजली बोर्ड गंभीर हुआ है। झारखंड राज्य बिजली बोर्ड के जमशेदपुर के महाप्रबंधक (जीएम) अमरनाथ मिश्रा ने इसको लेकर अभियंताओं को सख्त निर्देश दिया है। जीएम ने जमशेदपुर प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता पीके विश्वकर्मा को मामले की जांच रिपोर्ट देने को कहा है। इसके बाद वे ठेका कंपनी के खिलाफ मुख्यालय को पत्र लिखेंगे।

बुधवार को बैठक में जीएम ने कहा- जेई से लेकर बिजली मिस्त्री तक किसी कर्मचारी के खिलाफ मीटर लगाने के लिए किसी प्रकार से पैसे की मांग की शिकायत मिली तो उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। ठेका कंपनी क्वैश कॉरपोरेशन बोर्ड के अधीन नहीं है। फिर भी ठेका कंपनी के वरीय अधिकारियों को पैसा मांगने वाले कर्मचारियों से काम नहीं लेने को कहा गया है। इधर, बिजली बिल और मीटर के नाम पर पैसे लेने वाले तीन कर्मचारियों पर कार्रवाई की जा चुकी है। कपाली क्षेत्र के बिलिंग सुपरवाइजर रंधीर कुमार को दो दिन पहले ही हटा दिया गया था। कदमा में मीटर लगाने के नाम पर वसूली करने वाले कर्मचारी रशीद व आलम को भी हटा दिया गया है।

बिजली बिल

फर्जीवाड़ा

लोग भी जिम्मेदार हैं जो पैसे दे रहे हैं : जीएम

जीएम अमरनाथ मिश्रा के अनुसार, बार-बार अपील करने के बाद भी लोग खुद पैसे देते हैं। ऐसे में पैसे देने के मामले में जनता भी जिम्मेदार है। उन्होंने कहा- बिजली बोर्ड के मिस्त्री से लेकर अभियंता तक कोई भी कर्मचारी उपभोक्ता से किसी काम के लिए पैसे मांगते हैं, तो इसकी शिकायत कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता अथवा उनसे (जीएम से) कर सकते हैं। बोर्ड ने ठेका कंपनी को मीटर फ्री में लगाने का काम दिया है। ऐसे में ठेका कंपनी वाले मीटर लगाने के लिए पैसा नहीं ले सकते हैं। इसलिए पैसा मांगना आपराधिक मामला है।

X
Click to listen..