--Advertisement--

होली खेलकर किया नववर्ष का स्वागत

चैत्र मास के प्रतिपदा पर नववर्ष का स्वागत करते हुए सरायकेला सहित आसपास के ग्रामीण इलाकों में भी होली का त्योहार...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:50 AM IST
चैत्र मास के प्रतिपदा पर नववर्ष का स्वागत करते हुए सरायकेला सहित आसपास के ग्रामीण इलाकों में भी होली का त्योहार हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शुक्रवार की सुबह से ही लोगों में उत्साह देखा गया। विशेषकर छोटे बच्चे सुबह से ही पानी वाली भींगी होली खेलते हुए देखे गए। युवक और बुजुर्ग भी टोली बनाकर एक दूसरे को रंग लगाते हुए होली की शुभकामनाएं देते रहे। इधर होली जैसे महत्वपूर्ण अवसर पर विधि व्यवस्था को लेकर सरायकेला पुलिस मुस्तैद दिखी। लगातार गस्ती करते हुए होली के शांतिपूर्ण तरीके से मनाए जाने को लेकर निगरानी की जाती रही। हालांकि शांतिपूर्ण संपन्न हुए रंगों के महा उत्सव पर लोगों का सुरूर अपने चरम पर रहा। कहीं ढोल मंजीरे पर फगुआ के गीत गाये जाते रहे। तो कहीं डीजे की धुन पर लोग नाचते देखे गए।

होरिया में उड़े रे गुलाल...

टोली की परंपरा दिखी- सरायकेला के गेस्ट हाउस और इंद्रटांडी मोहल्ले में टोली की परंपरा बनी रही। जिसमें युवक, बुजुर्ग और महिलाएं भी अपनी अपनी टोली बनाकर रंग और गुलाल की होली खेलते हुए देखे गए।

दोल यात्रा के समय पधारे श्री राधा-कृष्ण

शांति व सौहार्द के साथ मनी होली

खरसावां| खरसावां और कुचाई में शांति व सौहार्द का पर्व होली आपसी भाईचारे के साथ मनाया गया। सुबह 7 बजे से ही हर उम्र के लोगों ने एक दूसरे को रंग व अबीर लगाकर खुशी का इजहार करना शुरू कर दिया था। होली पर खरसावां थाना में होली मिलन समारोह किया गया। इस समारोह में बीडीओ दयानंद प्रसाद जायसवाल, थाना प्रभारी नरसिंह मुंडा सहित कई पदाधिकारियों के अलावा कई गणमान्य लोग भी शामिल हुए।

हुई वृंदावन की होली भी

श्री जगन्नाथ आध्यात्मिक उत्थान मंडली के तत्वाधान मनाए जाने वाले सरायकेला की परंपरागत होली के तहत पूर्णिमा तिथि बृहस्पतिवार को दोल यात्रा निकाली गई। मंडली के प्रमुख संयोजक ज्योति लाल साहू के नेतृत्व में निकाली गई उक्त दोल यात्रा में लोगों ने पालकी पर नगर परिभ्रमण कर रहे श्री राधा-कृष्ण के साथ गुलाल वाली होली जमकर खेली।

मेहमानवाजी रही खास

दिन के प्रथम आधे बेला तक रंगों वाली गीली होली के बाद लोगों ने स्नान ध्यान कर नए वस्त्र के साथ देवदर्शन किया। इस अवसर पर नव वर्ष की मंगल कामना करते हुए सभी ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर स्वागत किया। इसके साथ ही घरों पर मेहमान नवाजी का दौर देर रात तक चलते हुए देखा गया।