जमशेदपुर

--Advertisement--

पुिलसिया कार्रवाई से नाराज कांग्रेसी नेता बलदेव सिंह ने थाने के सामने सुसाइड की कोशिश की

पुलिस पर 4 नवंबर को टैगोर एकेडमी के पास फायरिंग मामले में बयान बदलने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया।

Danik Bhaskar

Nov 21, 2017, 08:22 AM IST

जमशेदपुर। टैगोर एकेडमी के पास फायरिंग मामले में घायल मानगो दाईगुट्टू निवासी कांग्रेस नेता बलदेव सिंह ने पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट होकर उलीडीह थाना में आत्मदाह का प्रयास किया। बलदेव शरीर पर केरोसिन छिड़कने के बाद आग लगाने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन पुलिसकर्मियों ने माचिस छीन ली।

- पुलिस बलदेव सिंह को पकड़कर थाने के अंदर ले गई। इस दौरान पुलिसकर्मी और बलदेव सिंह के बीच छीनाझपटी भी हुई। घटना सोमवार रात करीब 9.30 बजे की है। उस समय सिटी एसपी प्रशांत आनंद भी उलीडीह थाने में मौजूद थे।

- बलदेव सिंह के अनुसार, पुलिस हमलावरों को बचाने का प्रयास कर रही है। सोमवार शाम पुलिस ने फोन कर उन्हें उलीडीह थाना बुलाया। वहां पहले से छोटू पंडित के घरवाले मौजूद थे। पुलिस उन पर (बलदेव) बयान बदलने के लिए दबाव बना रही है।

- छोटू पंडित के घरवाले भी ऊंची पहुंच की धौंस दिखा रहे हैं। शाम में थाना से निकलने के क्रम में भी उन्होंने धमकी दी। इसके बाद उन्होंने आत्मदाह करने की ठानी। बलदेव ने बताया- 4 नवंबर की दोपहर वे बेटे को लेने टैगोर एकेडमी गए थे। वहां मुन्ना पंडित, मंकज पंडित, विकास पांडेय उसके साथियों ने हत्या की नीयत से उनपर अंधाधुंध फायरिंग की। उन्हें तीन गोली लगी। टीएमएच में इलाज के बाद तबीयत में सुधार आया। उन्होंने साकची थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। लेकिन घटना के 16 दिन बाद भी पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर सकी। अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं और पुलिस उन्हें परेशान कर रही है।
- जानकारी मिलने पर बलदेव सिंह के घरवाले भी उलीडीह थाना पहुंचे। घरवालों ने बताया- सोमवार को पुलिस ने बलदेव को करीब तीन घंटे तक थाने में बैठाए रखा, जबकि डॉक्टर ने उसे बेड रेस्ट करने को कहा है। इधर, उलीडीह पुलिस ने कहा- मामले की जांच की जा रही है। अपराधियों की गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा है। सोमवार को बलदेव सिंह को घटना के बाबत पूछताछ के लिए थाने बुलाया गया था।

वीडियो : अनिल कुमार।

Click to listen..