--Advertisement--

जमशेदपुर पश्चिम क्षेत्र के 85% स्कूलों में पानी, 60% में बाउंड्रीवाल नहीं

सरकारी स्कूलों की व्यवस्था बदतर, मंत्री ने शिक्षा विभाग के अफसरों को दिए कार्रवाई का निर्देश।

Danik Bhaskar | Nov 26, 2017, 06:07 AM IST

जमशेदपुर। शहरी क्षेत्र में भी सरकारी स्कूलों की हालत दयनीय है। जमशेदपुर पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र में 58 मध्य उच्च विद्यालय हैं, इनमें से 85% स्कूल पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। 60% स्कूलों में बाउंड्री वाल नहीं है। मंत्री सरयू राय ने शनिवार को अपने इलाके के स्कूलों की दशा पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों से बैठक की तो इस बात का खुलासा हुआ।

- जिला शिक्षा पदाधिकारी राजकुमार प्रसाद जिला शिक्षा अधीक्षक बांके बिहारी सिंह की मौजूदगी में 58 स्कूलों के प्रिंसिपल ने समस्याओं की जानकारी दी। न्यू प्राथमिक विद्यालय की हेडमास्टर ने चापाकल के पानी से सेहत पर हो रहे असर की शिकायत की। हेडमास्टरों ने कहा उनके यहां चापाकल है, लेकिन खराब रहता है।

- दूसरी सबसे बड़ी शिकायत बाउंड्री वाल को लेकर थी। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी स्कूल की हेडमास्टर ने कहा एक ही कैंपस में मानगो अक्षेस का कार्यालय स्कूल है। अक्षेस में अक्सर विरोध प्रदर्शन होता है। हंगामे की वजह से पढ़ाई बाधित होती है।

- मध्य विद्यालय पारडीह के हेडमास्टर ने बताया कि हाथी ने स्कूल की दीवार तोड़ दी है। बैठक में स्कूलों की सफाई का मुद्दा भी उठा। कई स्कूलों ने अपने कैंपस में फैली गंदगी की शिकायत मंत्री सरयू राय से की।

- प्राथमिक विद्यालय शंकोसाई की हेडमास्टर ने कहा गंदगी की वजह से पढ़ाई करा पाना मुश्किल हो जाता है। अपग्रेड प्राथमिक विद्यालय कुंवर बस्ती की हेडमास्टर ने बाहरी लोगों द्वारा गंदगी फैलाने की शिकायत की। मंत्री ने शिक्षा विभाग के अफसरों को शीघ्र कार्रवाई करने का निर्देश दिया।
- मंत्री सरयू राय ने कहा जल्द ही स्कूलों का दौरा करेंगे। शिक्षकों की कमी स्कूल प्रबंधन समिति दूर कर सकती है। समिति अवकाशप्राप्त शिक्षकों या योग्य अभ्यर्थियों से पढ़ाई करा सकती है। सरकार के स्तर पर मदद करने का प्रयास करेंगे। हर स्कूल मासिक समीक्षा रिपोर्ट बनाएं। इसमें स्कूल की समस्या इसे दूर करने के उपाय बताएं। सभी सरकारी स्कूल बिजली, पानी, शौचालय, सफाई की व्यवस्था को बेहतर बनाने की कोशिश करें।

उर्दूस्कूल में हिंदी विद्यालय विलय करने की अनुशंसा
मानगोमुंशी मुहल्ला में नजरिया उर्दू विद्यालय है। यहां से करीब 300 मीटर दूरी पर गुरुद्वारा बस्ती में स्थित अनुग्रह प्राथमिक विद्यालय को इसमें मर्ज किया जा रहा है। स्थानीय लोग विरोध कर रहे हैं।


स्कूल में शौचालय नहीं, खुले में शाैच मुक्त घोषित
शिक्षा विभाग ने जिले के स्कूलाें को खुले में शौच मुक्त घोषित किया है। मछुआ पाड़ा प्राथमिक विद्यालय में शौचालय नहीं है। सीपी समिति मध्य विद्यालय के शौचालय में ताला लगा दिया गया है।