--Advertisement--

अतिक्रमण हटाओ अभियान : 4 घंटे में 40 दुकानें तोड़ी फुटपाथ भी खाली कराया

शनिवार को भी साकची में काफी तामझाम के साथ अतिक्रमित हटाओ अभियान चलाया गया था।

Danik Bhaskar | Nov 17, 2017, 06:55 AM IST

जमशेदपुर. जिला प्रशासन ने टाटा स्टील लैंड डिपार्टमेंट की टीम के साथ मिलकर गुरुवार को साकची बाजार में अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया। लगभग चार घंटे तक चले अभियान में दो जेसीबी की सहायता से 40 झोपड़ीनुमा दुकानों को तोड़ दिया गया। साथ ही फुटपाथ को खाली कराया गया।


अभियान के दौरान सीओ महेश्वर महतो, कार्यपालक दंडाधिकारी यस्मिता सिंह, साकची थाना प्रभारी मदन मोहन शर्मा, टाटा स्टील लैंड डिपार्टमेंट के सुनील कुमार सिंह समेत पुलिस बल मौजूद था। मालूम हो कि शनिवार को भी साकची में काफी तामझाम के साथ अतिक्रमित हटाओ अभियान चलाया गया था, लेकिन लोगों के विरोध के कारण सिर्फ चार झोपड़ीनुमा दुकानों को ही तोड़ा जा सका था। गुरुवार की दोपहर करीब 12 बजे प्रशासनिक टीम साकची मुर्गा लाइन पहुंची। यहां फुटपाथ पर लगी दुकानों को हटा दिया गया। 10 मुर्गा जाली जब्त करने के बाद दुकानदारों द्वारा फुटपाथ पर बनाई गई संरचना को तोड़ा गया। इसके बाद मोहम्मडन लाइन में साकची-बारीडीह स्ट्रेट माइल रोड पर सड़क के किनारे बनी अस्थायी दुकानों को तोड़ा गया। मोहम्मडन लाइन के बाद शौचालय लाइन की दुकानें टूटीं। इसके बाद टीम बाबू मार्केट की ओर बढ़ी। बाबू मार्केट में करीब 35 अतिक्रमित दुकानों को तोड़ा जाना था, तब तक एसडीओ माधवी मिश्रा भी पहुंच गईं। बाबू मार्केट के दुकानदारों ने एसडीओ को दुकान के लिए जमीन आवंटन से जुड़े कागजात दिखाए तो वहां कार्रवाई को रोक दिया गया। इसके बाद टीम ने सब्जी मार्केट का रूख किया। साकची सब्जी मार्केट में अतिक्रमण कर बनी झोपड़ीनुमा दुकानों को तोड़ने के बाद टीम शीतला मंदिर की ओर बढ़ी। वहीं, शाम करीब चार बजे अभियान को समाप्त कर दिया गया।

मंदिर में ली शरण
बाबू मार्केट में दुकानदार फुटपाथ पर ही दुकान लगाते हैं। दुकानदारों को जब अभियान की भनक लगी तो उन्होंने अपने सामान को जब्त होने से बचाने के लिए संकट मोचन मंदिर परिसर में रख दिया।

विशेष पदाधिकारी को अभियान से रखा दूर
अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान जुर्माना वसूली और सामान जब्ती को लेकर जमशेदपुर अक्षेस के विशेष पदाधिकारी को गुरुवार को दूर रखा गया।

झोपड़ीनुमा दुकान टूटी थी, अब बन रहा मकान
मसाला पट्टी में अतिक्रमण हटाओ अभियान के दौरान शेख सलाउद्दीन की झोपड़ीनुमा आवंटित दुकान टूट गई थी, जहां लोहे से पक्की दुकान बनाई जा रही है।