Hindi News »Jharkhand »Jamshedpur »Jamshedpur» Pankaj Thakur Was Murdered By His Friend And Business Partner.

फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश, यूं बिजनेस पार्टनर की कर दी हत्या

मनीफीट धोबी लाइन के पंकज ठाकुर की हत्या उसके दोस्त और बिजनेस पार्टनर ने ही की थी।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 15, 2017, 05:04 AM IST

  • फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश, यूं बिजनेस पार्टनर की कर दी हत्या
    +3और स्लाइड देखें

    जमशेदपुर।मनीफीट धोबी लाइन के पंकज ठाकुर की हत्या उसके दोस्त और बिजनेस पार्टनर ने ही की थी। आरोपी ने चार साथियों की मदद से हत्या की। लाश को बुंडू से आगे तैमारा घाटी में फेंक दिया। पहचान नहीं हो इसलिए चेहरे पर तेजाब डाल दिया। आरोपियों ने फिल्म दृश्यम की देखादेखी हत्या को अंजाम दिया। उन्हें उम्मीद थी कि फिल्म की तरह वह भी बच जाएंगे लेकिन पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

    - हत्या का मुख्य आरोपी पंकज का दोस्त गोलमुरी के बुल टाउन डीएस फ्लैट निवासी उदय चौधरी है। बर्मामाइंस ईस्ट प्लांट बस्ती के सुमित मिश्रा, जेम्को आजाद बस्ती निवासी मोनी दास, सोनारी कुम्हारपाड़ा ग्वाला बस्ती के दीपक कुमार महतो और जेम्को बस्ती टेल्को के रहनेवाले महेश मिश्रा ने उसकी मदद की।

    - आरोपियों की निशानदेही पर हत्या में उपयोग की गई पिस्तौल, गोली और डस्टर कार बरामद कर ली गई है। पंकज ठाकुर की बाइक भी मिल गई है। मुख्य आरोपी उदय ने पुलिस को बताया कि दोनों पार्टनरशिप में सिदगोड़ा जैप-6 में स्लैग गिराने का कारोबार कर रहे थे।

    - पंकज काम अच्छे से मैनेज करने लगा था। पहले वह उसके यहां मुंशी का काम करता था। उसे डर होने लगा था कि धंधे में पंकज आगे निकल जाएगा। पैसों के लेन-देन को लेकर कुछ दिनों से विवाद भी चल रहा था। इसलिए 28 अक्टूबर को दोस्तों के साथ मिलकर उसकी हत्या की साजिश रची।

    - 30 अक्टूबर को उसे बुलाया। 31 अक्टूबर की सुबह उसे शराब पिलाई। वह नशे में धुत हो गया तो अपनी डस्टर कार में बैठाकर ले गया। चांडिल के पास रास्ते में सुनसान स्थल पर कार रोकी और तीन दोस्तों ने बारी-बारी से उसे गोली मारी। हत्या के बाद बुंडू के आगे दशम फॉल थाना क्षेत्र के तैमारा घाटी में कार से उतरे। उदय ने फिर एक गोली मारी और शव घाटी में फेंक दिया। सभी घर लौट गए।

    पिता ने कहा... घर पर पंकज की शादी की तैयारी चल रही थी

    - मृतक के पिता अशोक ठाकुर ने बताया- मेरे दो बेटे और एक बेटी है। बड़े बेटे राकेश और बेटी की शादी हो गई है। पंकज सबसे छोटा था। उसकी शादी की तैयारी चल रही थी लेकिन पंकज शादी से इंकार कर रहा था। उसने कहा था कि पहले घर बनाऊंगा, फिर शादी करूंगा। बकौल अशोक- पंकज और उदय गहरे दोस्त थे।

    पुलिस ने बताया... आरोपियों ने फिल्म देख कर बनाई थी योजना

    - एसएसपी के अनुसार, अपराधी उदय व साथियों ने फिल्म दृश्यम् देख 28 अक्टूबर को हत्या की योजना बनाई थी। पंकज पहले केबुल टाउन डीएस फ्लैट निवासी उदय के पास मुंशी था। बाद में वह पार्टनर बन गया। कम समय में ही पंकज ने काफी तरक्की कर ली। उदय को लगा कि कहीं पंकज उसे पीछे न छोड़ दे। इसी वजह से उसने पंकज की हत्या कर दी।

    घरवालों को शक नहीं हो इसलिए खुद की शिकायत

    - घरवालों को शक न हो इसलिए एक नवंबर को उदय व साथी पंकज के घर गए। अनजान बनकर वे पंकज को तलाशने लगे। घरवालों के साथ ही वे टेल्को थाने गए। पंकज के गुम होने की सनहा दर्ज कराई।

    -मंगलवार को एसएसपी अनूप टी मैथ्यू ने मामले का खुलासा किया। 11 नवंबर को पंकज की मां ने पांचों के खिलाफ अपहरण की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। मंगलवार को परिजन रिम्स गए और वहां मॉर्चुरी में रखे शव की पहचान की।

  • फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश, यूं बिजनेस पार्टनर की कर दी हत्या
    +3और स्लाइड देखें
    मृतक पंकज ठाकुर।
  • फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश, यूं बिजनेस पार्टनर की कर दी हत्या
    +3और स्लाइड देखें
    लाल घेरे में मुख्य आरोपी उदय चौधरी और अन्य साथी।
  • फिल्म देखकर रची कत्ल की साजिश, यूं बिजनेस पार्टनर की कर दी हत्या
    +3और स्लाइड देखें
    पुलिस गिरफ्त में आरोपी
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jamshedpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×