जमशेदपुर / सैल्यूट नहीं करने पर थानेदार ने प्रशासक के बॉडीगार्ड को रातभर बिष्टुपुर थाने में बैठाया



राघवेंद्र सिंह और राजेश प्रकाश सिन्हा। (फाइल फोटो) राघवेंद्र सिंह और राजेश प्रकाश सिन्हा। (फाइल फोटो)
X
राघवेंद्र सिंह और राजेश प्रकाश सिन्हा। (फाइल फोटो)राघवेंद्र सिंह और राजेश प्रकाश सिन्हा। (फाइल फोटो)

  • शिकायत करने पहुंचा एसएसपी नहीं मिले तो गोपनीय शाखा में दिया आवेदन 
  • महाअष्टमी की रात टीएमएच गेट नंबर दो के पास की घटना; बाइक जब्त, पीआर बॉन्ड पर छोड़ा 

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2019, 01:58 PM IST

जमशेदपुर. सुवर्णरेखा परियोजना के प्रशासक ब्रज मोहन कुमार के बॉडीगार्ड राघवेंद्र कुमार सिंह को बिष्टुपुर थानेदार राजेश प्रसाद सिन्हा को जय हिंद (सैल्यूट) नहीं बोलना महंगा पड़ गया। जय हिंद नहीं बोलने पर थानेदार भड़क गए और उसे थाना ले कर गए। बॉडीगार्ड की बाइक संख्या बीअार03एल- 3958 भी जब्त कर ली। थानेदार ने राघवेंद्र सिंह को महाअष्टमी की रात 10.30 बजे से सुबह चार बजे तक थाने में बैठाए रखा। वह थानेदार के सामने गिड़गिड़ाता रहा लेकिन नहीं माने। जब उसने पत्नी काे घर में बंद कर अाने की बात की तब उसे पीअार बाॅन्ड पर छोड़ा गया। 

 

गोपनीय शाखा में दिया आवेदन
मामला 6 अक्तूबर महाअष्टमी की रात 10.30 बजे की है। राघवेंद्र शुक्रवार को मामले की शिकायत करने एसएसपी कार्यालय पहुंचा। एसएसपी अनूप बिरथरे के कार्यालय में नहीं होने के कारण वह मामले की शिकायत नहीं कर सका। उसने गोपनीय शाखा में अपना अावेदन जमा कर दिया। 

 

राघवेंद्र सिंह का आरोप

थानेदार को नहीं पहचाना इसलिए सैल्यूट नहीं कर सका, पर कई बार माफी मांगी 
अादित्यपुर निवासी राघवेंद्र सिंह ने बताया कि महाअष्टमी की रात 10.30 बजे वह एक दोस्त के साथ टीएमएच दो नंबर गेट के पास चाय पी रहा था। वहां कुछ अन्य युवक भी सिगरेट पी रहे थे। तभी बिष्टुपुर थानेदार पहुंचे और नशा करने वाले युवकों को खदेड़ने लगे। वे हमारे पास भी आए। मैंने अपना परिचय दिया। मुझसे बस इतनी भूल हो गई कि थानेदार को जय हिंद नहीं बोला। वह थानेदार को पहचान नहीं पाया था। बाद में कई बार माफी मांगी। उसने बताया कि थानेदार ने उसकी बाइक को जब्त कर ली है। बाइक थाने में है। सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट से पूछने पर उन्होंने बताया कि मामले की जानकारी उन्हें नहीं है। 

 

थानेदार की सफाई

बॉडीगार्ड दुर्व्यवहार कर रहा था, उसके पास न तो लाइसेंस है और न ही गाड़ी के कागजात 
बिष्टुपुर के थाना प्रभारी राजेश प्रकाश सिन्हा ने बताया कि बॉडीगार्ड महाअष्टमी के दिन बिष्टुपुर शंभू पान दुकान के पास गाड़ी पर लेटा हुआ था। पूछने पर बताया कि वह प्रशासक का बॉडीगार्ड है। वह दुर्व्यवहार कर रहा था। आम लोगों पर जो सड़क पर बदमाशी कर रहे थे उनपर कार्रवाई की जा रही थी। बॉडीगार्ड को कानून व्यवस्था तोड़ने की छूट नहीं दी जा सकती है। इसके बाद उसको थाना लाया गया। पीआर बॉन्ड पर छोड़ दिया गया। गाड़ी के कागजात मांगे गए हैं। उसके पास न तो लाइसेंस है और न ही गाड़ी के कागजात है। जब दिखाएगा गाड़ी छोड़ दी जाएगी। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना