--Advertisement--

सफलता / नक्सलियों के नाम पर शिक्षक से मांगे 12 लाख, पुलिस ने किया गिरफ्तार



पुलिस हिरासत में आरोपी। पुलिस हिरासत में आरोपी।
X
पुलिस हिरासत में आरोपी।पुलिस हिरासत में आरोपी।

  • आरोपी ने पांच माह में तीन बार झारखंड बंद की घोषणा की थी
  • नक्सली ने नाम पर पोस्टर के जरिए वसूलता था लेवी, थाना प्रभारी को भी दी थी धमकी

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 06:45 PM IST

चाईबासा. पश्चिमी सिंहभूम जिले में भाकपा माओवादी संगठन के नाम पर पोस्टरबाजी कर लेवी वसूलने और नक्सली बंद की घोषणा करने वाले वरुण महतो उर्फ दुखु महतो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी सोनुवा थाना क्षेत्र के पोड़ाहाट गांव का रहने वाला है। एसपी क्रांति कुमार ने बताया कि सोनुवा के सोनापोस निवासी शिक्षक यशवंत प्रधान के घर 8 अक्टूबर की रात माओवादी के नाम पर पोस्टरबाजी की गई थी। उनसे 12 लाख रुपए की लेवी मांगी गई थी। रुपए नहीं देने पर जान से मारने और घर को बम विस्फोट कर उड़ाने की धमकी भी दी गई थी। शिक्षक यशवंत प्रधान ने इसकी शिकायत सोनुवा थाने में की। शिक्षक की शिकायत पर सोनुवा थाना पुलिस ने मामले की जांच कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। लेवी के पैसों से उसने करीब 15 लाख का मकान, एक कार व एक बुलेट खरीदा था, जिसे जब्त किया जाएगा।

3-4 सालों से वसूल रहा था लेवी

  1. आरोपी जिले के सोनुवा, गोइलकेरा व चक्रधरपुर थाना क्षेत्र में पोस्टरबाजी कर झारखंड बंद का आह्वान करता था। उसने 5 माह में 3 बार झारखंड बंद की घोषणा की थी। माओवादी के डर से चक्रधरपुर इलाके में बंद भी असरदार रहता था। जिन लोगों से वह लेवी मांगता था, उन्हें बंद की तिथि पहले ही बता देता था, ताकि उन्हें विश्वास हो जाए कि लेवी मांगने वाला असली नक्सली है। उसके पास से दो मोबाइल व नक्सली पोस्टर बरामद किया गया है। पता चला कि वह भाकपा माओवादी के नाम पर पिछले 3-4 साल से रंगदारी वसूली कर रहा था। 

  2. कभी लड़की, तो कभी लड़का की आवाज में करता था फोन

    शिक्षक यशवंत प्रधान उत्क्रमित मध्य विद्यालय वृंदावन खड़ियामाटी में सहायक शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं। 8 अक्टूबर की रात भाकपा माओवादी संगठन के नाम पर उनके घर पर पोस्टर चिपकाया गया था। उनसे 12 लाख रुपए लेवी मांगी गई व रुपए नहीं देने पर जान से मारने व घर को बम से उड़ाने की धमकी की चिट्ठी भी दी गई थी। इतना ही नहीं उनके मोबाइल पर कभी लड़का, तो कभी लड़की की आवाज में फोन आता था और रुपए मांगे जाते थे। इतना ही नहीं रंगदारी के रुपए किस्तों में भुगतान करने की बात भी कही गई थी।  डर से शिक्षक रुपए देने के लिए तैयार भी हो गए थे, लेकिन तब तक पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

  3. सोनुवा थाना प्रभारी को भी दी थी धमकी

    आरोपी ने माओवादियों के नाम पर 8 अक्टूबर को बंदी की घोषणा की थी, लेकिन सोनुवा थाना प्रभारी ने बंद का खंडन कर दिया। इसके बाद थाना प्रभारी कुलदीप कुमार के खिलाफ भी पोस्टर जारी हुआ, जिसमें लिखा था- ‘थाना प्रभारी अब तुम हमलोगों के निशाने पर रहोगे’। इस पोस्टर को भी पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर बरामद कर लिया है।  

  4. लड़कियों के नाम पर लिया था सिम कार्ड

    आरोपी के पास से दो लड़कियों के नाम पर जारी  सिम कार्ड भी बरामद हुआ है। एसपी क्रांति कुमार ने बताया कि दोनों सिम कार्ड भुवनेश्वर (ओडिशा) की दो लड़कियों के नाम से जारी हुआ है। इसकी जांच चल रही है। आरोपी लड़कियों के नाम से जारी सिम के जरिए लोगों को फोन कर खुद लेवी वसूलने जाता था।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..