• Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • Jamshedpur News brother in law of ranchi and nephew of mango performed the last rites of the body of babli there was no contact with sister living in mango

रांची के रहने वाले जीजा और मानगो के भतीजा ने किया बबली के शव का अंतिम संस्कार, मानगो में रहने वाली बहन से भी नहीं था संपर्क

Jamshedpur News - कदमा थाना अंतर्गत भाटिया बस्ती मंदिर पथ स्थित मकान संख्या 81 में सोफा पर मृत मिली बबली देवी (35) के शव का अंतिम संस्कार...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 06:51 AM IST
Jamshedpur News - brother in law of ranchi and nephew of mango performed the last rites of the body of babli there was no contact with sister living in mango
कदमा थाना अंतर्गत भाटिया बस्ती मंदिर पथ स्थित मकान संख्या 81 में सोफा पर मृत मिली बबली देवी (35) के शव का अंतिम संस्कार रविवार को भुइयांडीह सुवर्णरेखा बर्निंग घाट पर हुअा। बबली देवी के रांची के पिठोरिया में रहने वाले जीजा मिथिलेश प्रसाद और मानगो में रहने वाले भतीजा कुंदन कुमार ने शव का अंतिम संस्कार किया। कदमा थाना में लिखित देने के बाद बबली के जीजा और भतीजा पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे। इस मामले में कदमा थाना में यूडी केस दर्ज किया गया है। वहीं, परिजन सोमवार को घाघीडीह जेल में सजा काट रहे बबली के दोनों भाई पंकज वर्मा और दिनेश वर्मा को बबली के अंतिम संस्कार करने की जानकारी देंगे।

बबली के जीजा मिथिलेश कुमार ने बताया कि लगभग डेढ़ साल से बबली और उनके बीच कोई बातचीत नहीं हुई थी। बबली की मां की मौत के बाद से उनके बीच बातचीत बंद थी। बबली के पास मोबाइल भी नहीं था। मिथिलेश कुमार ने बताया कि शादी के कुछ दिनों बाद ही बबली अपने मायके चली अाई थी। तब से वह यहीं रह रही थी। उन्होंने बताया कि बबली की मौत की जानकारी कदमा पुलिस ने उन्हें दी थी। इधर, भतीजा कुंदन कुमार ने बताया कि छोटे मामा दिनेश वर्मा के जेल जाने के बाद से बबली देवी की उनके परिवार से किसी प्रकार की बातचीत नहीं हुई थी। मालूम हो कि शुक्रवार को कदमा पुलिस ने भाटिया बस्ती मंदिर पथ स्थित मकान संख्या 81 में बबली देवी की सड़ी-गली लाश बरामद की थी। घर अंदर से बंद था। इस कारण पुलिस मेजिस्ट्रेट की मौजूदगी में दरवाजा तोड़कर घर में घुसी और शव को बरामद किया था। जांच में उसके घर से खाने की सामग्री भी नहीं मिली थी। बबली देवी की मौत का कारण भूख बताया जा रहा है। इधर, पोस्टमार्टम में बबली के पेट में अन्न का एक दाना भी नहीं मिला था।

पोस्टमार्टम के बाद शव ले जाते परिजन।

डीसी के अादेश पर एसआरओ ने बबली के मौत की जांच की

कदमा भाटिया बस्ती मंदिर पथ में बबली देवी की मौत की जांच जिले के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला के आदेश पर रविवार को एसआरओ ने जांच की। जांच के क्रम में एसआरओ नवीन कुमार बबली के घर पहुंचे। जहां घर में ताला लटका हुआ मिला। इसके बाद आसपास के लोगों से घटना और बबली देवी के संबंध में जानकारी हासिल की। इस दौरान पड़ोसियों के बयान दर्ज किया। भाटिया बस्ती की जांच करने के बाद एसआरओ कदमा बाजार स्थित बबली के भाई के ज्वेलरी दुकान पर गए। दुकान को बंद पाया। आसपास से जानकारी हासिल की। एसआरओ की जांच में अबतक कोई निष्कर्ष नहीं निकला है। बबली की मौत को लेकर आशंका जताई जा रही थी कि उसकी मौत भूख से हुई थी। इसके बाद डीसी ने जांच का आदेश दिया था।

कुपोषण और रक्त की कमी से हुई मौत के मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने डीसी को जांच रिपोर्ट देने का दिया निर्देश

एमजीएम अस्पताल में कुपोषण एवं रक्त की कमी से अाठ माह की बच्ची उषा रानी महाली की मौत मामले में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उपायुक्त रविशंकर शुक्ला से चार सप्ताह के अंदर जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। आदेश में आयोग ने कहा है कि चार सप्ताह के भीतर रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं किए जाने की स्थिति मे मानवाधिकार संरक्षण अधिनियम 1993 के सेक्शन 13 के तहत संबधित अधिकारी को व्यक्तिगत रूप से आयोग में उपस्थित होना होगा। आदेश की प्रति उपायुक्त सहित मानवाधिकार संगठन झारखंड ह्यूमन राइट्स कांफ्रेंस के केन्द्रीय अध्यक्ष मनोज मिश्रा को भी भेजी गई है।

X
Jamshedpur News - brother in law of ranchi and nephew of mango performed the last rites of the body of babli there was no contact with sister living in mango
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना