झारखंड / फूड प्वाइजनिंग से कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की 200 छात्राओं की तबीयत बिगड़ी, 72 अस्पताल में भर्ती

सदर अस्पताल में इलाजरत छात्राएं। सदर अस्पताल में इलाजरत छात्राएं।
X
सदर अस्पताल में इलाजरत छात्राएं।सदर अस्पताल में इलाजरत छात्राएं।

  • चाईबासा सदर अस्पताल पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री, सिविल सर्जन को दिए समुचित इलाज के निर्देश 
  • 11 छात्राओं का शुक्रवार को इंटरमीडिएट का एग्जाम था, परीक्षा देने से हुईं वंचित
  • चाईबासा डीसी ने जांच कमेटी गठित कर 48 घंटे में मांगी रिपाेर्ट

दैनिक भास्कर

Feb 15, 2020, 08:51 AM IST

चाईबासा. सदर चाईबासा स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका अावासीय विद्यालय की करीब 200 छात्राओं की गुरुवार रात खाना खाने के बाद तबीयत बिगड़ गई। फूड प्वाइजनिंग से पीड़ित इन छात्राओं को शुक्रवार सुबह काे सदर अस्पताल चाईबासा में भर्ती कराया गया। इलाज के बाद देर शाम तक 72 छात्राएं अस्पताल में पेट में गैस अाैर सिर चक्कर की शिकायत पर भर्ती थीं, जबकि अन्य को उपचार के बाद छोड़ दिया गया। तीन अलग अलग कमराें में डाॅक्टराें की टीम बीमार छात्राओं की देखरेख में जुटी है। 

इधर, इस मामले में डीसी अरवा राजकमल ने तीन सदस्यीय जांच टीम गठित कर 24 घंटे में रिपोर्ट मांगी है। इस घटना की खबर पाकर पीएचईडी मंत्री मिथिलेश ठाकुर अाैर स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने अस्पताल पहुंचकर छात्राअाें का हालचाल लिया। मंत्रियों ने विशेष स्वास्थ्य सेवा देने का निर्देश दिया। जिला प्रशासन की टीम डीसी अाैर सिविल सर्जन डॉ मंजू दूबे के नेतृत्व में अस्पताल में कैंप कर रही है। 

खाना का सैंपल लिया गया
डीसी के निर्देश पर डीडीसी आदित्य रंजन की अध्यक्षता में गठित कमेटी में एडीसी इंदु गुप्ता और डीआरडीए निदेशक प्रभात कुमार बर्दियार को शामिल किया गया है। खाद्य सुरक्षा पदाधिकारी संगीत घाेष ने केजीबीवी पहुंचकर खाने का सैंपल लिया है। मेडिकल रिपोर्ट के लिए उल्टी का सैंपल भी लिया गया है। 

मंत्री का है कहना

पीएचईडी मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने छात्राओं से मिलने के बाद कहा कि बीमार बच्चियों का स्पेशल केयर किया जा रहा है। खाना या पानी में ही कहीं गड़बड़ी है। इस मामले में जाे भी दाेषी होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। इससे पहले ट्वीट कर उन्होंने सिविल सर्जन को समुचित इलाज की व्यवस्था करने का निर्देश दिए। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- इस संबंध में एक जांच समिति बनाकर रिपोर्ट देने को कहा गया है।

फूड प्वाइजनिंग की शिकार 11 छात्राओं का आज था एग्जाम
फूड प्वाइजनिंग की शिकार छात्राओं में से 11 बच्चियों का शुक्रवार को इंटरमीडिएट का एग्जाम था। बीमार होने के बाद ये छात्राएं एग्जाम देने से वंचित हो गईं। बताया जा रहा है कि सुबह बच्चियों के उल्टी और दस्त की शिकायत के बाद स्वास्थ्य विभाग की पांच सदस्यीय टीम आवासीय विद्यालय पहुंची, जहां से 60 से अधिक छात्राओं को सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया। आवासीय विद्यालय में करीब 200 छात्राएं पढ़ाई करतीं हैं। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना