--Advertisement--

विवाद / पी एंड एम मॉल में मां दुर्गा को फ्रॉक में दिखाया, हाथ में अस्त्र भी नहीं, हंगामा



इसी कार्टून को लेकर लोगों ने किया हंगामा। इसी कार्टून को लेकर लोगों ने किया हंगामा।
X
इसी कार्टून को लेकर लोगों ने किया हंगामा।इसी कार्टून को लेकर लोगों ने किया हंगामा।

  • केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी और विश्व हिंदू परिषद के लोग पहुंचे मॉल
  • थर्मोकोल से बनाई गई देवी-देवताओं के कट आउट पर जताई आपत्ति 

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 11:23 AM IST

जमशेदपुर.  बिष्टुपुर स्थित पी एंड एम हाईटेक मॉल में थर्मोकोल से बनाई गई मां दुर्गा की कट आउट को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। मॉल के निचले तल के मुख्य द्वार के पास यह कट आउट लगाया गया है। इसमें मां दुर्गा को गणेश, कार्तिक, सरस्वती और मां लक्ष्मी के रूप में दिखाया गया है। इसमें मां दुर्गा को फ्राॅक पहने हुए शेर पर सवार दिखाया गया है। इसको लेकर गुरुवार को केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी और विश्व हिंदू परिषद के लोग मॉल पहुंचे। हिंदुओं की देवी-देवताओं को कार्टून के रूप में पेश करने का आरोप लगाते हुए विरोध किया। इसको लेकर हंगामा किया।

पुलिस बल भी घटना स्थल पर पहुंची

  1. केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी के सदस्यों का कहना है माता दुर्गा के हाथ में अस्त्र भी नहीं है, पहनावा भी ठीक नहीं है। इसको तुरंत हटाया जाना चाहिए। हंगामे को देखते हुए पुलिस बल और मॉल के अधिकारी पहुंचे। उन्होंने समझाने की कोशिश की कि दुर्गा पूजा उत्सव को दिखाने के लिए प्रतीकात्मक कट आउट लगाया गया है, यह आस्था से खिलवाड़ नहीं है। आश्वासन दिया गया कि वरीय अधिकारियों को अवगत कराया जाएगा। केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी के सचिव अरुण सिंह, साउथ जोन के सहायक सचिव अरूप मजुमदार मौजूद थे। 

  2. यह माता का अपमान है नहीं बदला तो केस करेंगे

    केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी के सचिव अरुण सिंह ने कहा कि मॉल में दुर्गा माता का कार्टून लगाया गया, इसमें न तो अस्त्र लगाया गया है न ही पारंपरिक साड़ी पहनाई गई। यह माता का अपमान है। तुरंत बदलने या हटाने की मांग की है। प्रशासन को भी जानकारी दी है।नहीं हटेगा तो एफआईआर दर्ज करेंगे।

  3. हर मॉल में फेस्टिव को दिखाने को ऐसा होता है

    पीएंडएम मॉल के महाप्रबंधक शौभिक बनर्जी ने कहा कि हर मॉल में फेस्टिव को दिखाने के लिए ऐसा होता है। इसमें कोई आपत्ति नहीं होनी चाहिए। फिर भी आपत्ति जताई गई है तो इस पर विचार किया जा रहा है। वैसे हमने अस्त्र बनाने को कहा है, ताकि इसको लगाया जा सके।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..