विज्ञापन

रोजाना 30 पुलिस के जवान और 50 से ज्यादा बाहरी लोग खा रहे हैं कैंटीन में खाना

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 03:15 AM IST

Jamshedpur News - जवानों के लिए खोली कैंटीन में पुलिस वाले कम, आम आदमी की संख्या ज्यादा डीबी स्टार

Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
  • comment
जवानों के लिए खोली कैंटीन में पुलिस वाले कम, आम आदमी की संख्या ज्यादा

डीबी स्टार
साकची थाना परिसर में पुलिस के जवानों के लिए केंद्रीय कैंटीन में पुलिस के जवान कम खाना खा रहे हैं और बाहरी लोग की संख्या अधिक है जो यहां भोेजन करते हैं। 50 रुपए का खाना खाने के लिए आम लोगों की दिलचस्पी ज्यादा है वहीं पुलिस के जवानों की कम। हर दिन औसतन 80 से 100 लोग एक टाइम का खाना खाने के लिए आते हैं। इसमें से 30 पुलिस के जवान होते हैं। जबकि 50 के लगभग लोग बाहरी होते हैं। कैंटीन की स्थापना झारखंड पुलिस एसोसिएशन के सहयोग से की गई थी। निजी संचालक को इसके संचालन की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पुलिस के जवानों को एक जगह बेहतर खाना मिले इसके लिए यह कैंटीन खोला गया था। लेकिन इसका लाभ पुलिस के जवान कम उठा रहे हैं। पार्सल पैकिंग में भी बाहरी लोग अधिक लेकर जाते हैं। लोगों का कहना है कि बेहतर खाना कम कीमत में मिल रहा है। 15 जनवरी के इस कैंटीन का उद्घाटन सीएम रघुवर दास ने किया था। 26 जनवरी से इसे आम लोगों के लिए खोल दिया गया था।

पुलिस के जवानों की दिलचस्पी कम

पुलिस के जवानों की संख्या कम होने से कैंटीन संचालक भी दुविधा में हैं। कैंटीन संचालक का कहना है कि अधिकतर पुलिस के जवान परिवार से दूर रहते हैं। इसके अलावे वे ड्यूटी में रहते हैं इसके बावजूद उनका कम आना समझ से परे है। पुलिस अधिकारियों का मानना है कि खाने का कोई दूसरा प्रबंध होने के चलते पुलिस वालों की संख्या कम होगी। पेट्रोलिंग के दौरान वे जहां होते होंगे वे वहीं के नजदीक के होटल में खाना खा लेते होंगे। इसके चलते भी कर्मियों का पहुंचना आम लोगों से कम है।

पुलिस केंद्रीय कैंटीन में 50 रुपए में मिल रहा खाना, पैकिंग करा घर जा रहे बाहरी लोग

साकची कैंटीन को पुलिस एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने आपसी सहयोग से बनाया

50 रुपए में बेहतर खाना

कैंटीन में दोपहर और रात के खाने की व्यवस्था है। जिसके तहत 50 रुपए में खाना दिया जाता है। आम लोगों के साथ पुलिस के जवानों के लिए कीमत सामान्य है। दोपहर के मैन्यू में 50 रुपये में चार रोटी, चावल, दाल, सब्जी, भुजिया, सलाद परोसा जाता है। भुजिया, चोखा व साग दिया जाता है। दही बड़ा भी लोगों के बीच परोसा जाता है। अतिरिक्त खाना लेने पर अलग से चार्ज लिया जाता है। रात के मैन्यू में रोटी, तड़का, सब्जी, पाइस परोसा जाता है।

ये होगी कैंटीन की मेन्यू

दिन दोपहर का भोजन रात का भोजन

सोमवार चावल, दाल, सब्जी रोटी, मटर-पनीर, सलाद या रायता

मंगलवार चावल,दाल, हरी सब्जी रोटी-सब्जी, पापड़,चोखा

बुधवार चावल,दाल, सब्जी सत्तू रोटी, टमाटर चटनी/ अचार, दही-बाड़ा

गुरुवार चावल, कड़ी-बड़ी, भुजिया रोटी, तड़का, भुजिया, पापड़, बचका, सलाद

शुक्रवार चावल,दाल,पनीर सब्जी रोटी, सब्जी, सलाद/रायता

शनिवार खिचड़ी, घी-चोखा,दही लिट्टी-चोखा, पापड़,अचार

रविवार चावल,दाल,सब्जी,चटनी पूड़ी,खीर/सेवई,भुजिया, पापड़

राज्य की है पहली पुलिस कैंटीन

जिले में कहीं भी पुलिस के लिए कैंटीन नहीं था। पुलिस के जवानों के लिए बेहतर खाने का प्रबंध के लिए इसे बनाया। यह राज्य की पहली ऐसी कैंटीन है। पुलिस के जवान काम के दौरान खाना खाने पर ध्यान नहीं देते हैं। इससे उनके स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। उनको पौष्टिक खाना समय पर मिले। इसको ध्यान में रखकर कैंटीन का संचालन किया जा रहा है।

जवानों को सस्ते दाम पर एक जगह पर खाना मिले इसलिए शुरू की गई थी योजना

कम दाम में बेहतर खाना दे रहे हम

 50 रुपये में लोगों को यहां बेहतर खाना दिया जा रहा है। एक माह पूर्व से आम लोगों के लिए भी इस कैंटीन को खोल दिया गया है। मैन्यू में कभी-कभी भुजिया के जगह साग और चोखा दिया जाता है।  सत्यनारायण भारती, मास्टर सेफ सल संचालक, पुलिस केंद्रीय कैंटीन

Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
  • comment
Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
  • comment
X
Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
Jamshedpur News - daily 30 police jawans and more than 50 outsiders are eating at the canteen
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन