पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

नशे में धुत बहू ने रॉड से वारकर ससुर की कर दी हत्या, पुलिस हिरासत में आरोपी महिला

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिम्बॉलिक इमेज।
  • आरोपी पी रही थी कच्ची शराब, ससुर ने मना किया तो वारदात को दिया अंजाम
Advertisement
Advertisement

चाईबासा. पश्चिम सिंहभूम के तांतनगर ओपी क्षेत्र के लोवाहातु गांव में नशे में धुत बहू ने रॉड से वार से ससुर को मौत कर घाट उतार दिया। प्रहार इतना तेज था कि बुजुर्ग के सिर पर तीन इंच गहरा निशान हो गया था। जिसके कारण घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक की पहचान 70 वर्षीय वंशीधर सामड के रूप में हुई है। घटना गुरुवार शाम करीब छह बजे की है। 


वरदात की सूचना के बाद तांतनगर ओपी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और मामले की जानकारी लेने के बाद शव को कब्जे में लेकर थाने ले गई। साथ ही आरोपी महिला जिंगी कुई को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी महिला का मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। इसके कारण अक्सर नशे की हालत में रहती है। गुरुवार को भी जिंगी अपने घर के बरामदे में हड़िया (कच्ची शराब) पी रही थी। तभी ससुर वंशीधर सामड वहां आया और उसे हड़िया पीने से मना करने लगा। इतने में जिंगी कुई ने अपने घर के अंदर रखे रॉड से ससुर के सिर पर वार कर दिया। 

ससुर को मार देने के बाद आग सेंकने चली गई बहू
ससुर को मौत का घाट उतार देने के बाद आरोपी बहू ने बगल के घर में चली गई। वहां घर के आंगन में आग सेंक रही महिलाओं के साथ बैठकर बात करने लगी। इसी क्रम में वह हंसते हुए कहने लगी कि उसने उसके ससुर को रॉड से पीट दिया। उस दौरान बिजली नहीं होने के कारण कोई उसके घर नहीं गया। करीब आधे घंटे बाद जब बिजली आई तो वे लोग वंशीधर के घर पहुंचे तो देखा कि वहां उसका शव पड़ा था। उधर, ग्रामीणों ने बताया कि महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के चलते उसका पति साथ नहीं रहता है।

क्या कहना है पुलिस का
तांतनगर ओपी प्रभारी परमाचंद यादव ने बताया कि आरोपी महिला के परिजनों के अनुसार उसकी दिमागी हालत ठीक नहीं है। उसके ससुर को मार देने के बाद वह बगल के घर में बैठी हुई थी। मौके पर पहुंच कर उसे हिरासत में लिया गया है। उससे पूछताछ जारी है।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज आप कई प्रकार की गतिविधियों में व्यस्त रहेंगे। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आ जाने से मन में राहत रहेगी। धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में महत्वपूर्ण...

और पढ़ें

Advertisement