--Advertisement--

ग्राउंड रिपोर्ट / इस दिवाली भी झारखंड के 7 लाख से अधिक घरों का नहीं छंटा अंधेरा



राजाबसा, पटमदा में अपने घर में खाना बनाती महिला। राजाबसा, पटमदा में अपने घर में खाना बनाती महिला।
X
राजाबसा, पटमदा में अपने घर में खाना बनाती महिला।राजाबसा, पटमदा में अपने घर में खाना बनाती महिला।

  • साैभाग्य योजना से राज्य के सभी घरों को राेशन करने का लक्ष्य था, कई गांवों में खंभे लगे पर तार नहीं डले 
  • झारखंड के 4 जिले में 100% बिजली का दावा, 20 जिलों में अब 31 दिसंबर तक \'रोशनी\' की उम्मीद 
  • 31 दिसंबर 2017 को सरकार ने दीपावली तक घर-घर बिजली पहुंचाने की घोषणा की थी 

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 11:45 AM IST

जमशेदपुर.  पूर्वी सिंहभूम के 19 हजार से अधिक घरों में इस दिवाली भी अंधेरा रहा। जिले के 763 टोले में बिजली नहीं आई। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने 2017 में सौभाग्य योजना की शुरुआत करते हुए 2018 दीपावली तक राज्य के हर घर में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा था, लेकिन अब भी दर्जनों गांव ऐसे हैं जहां बिजली नहीं पहुंची है। पूरे राज्य में सात लाख से अधिक घर इस दिवाली भी अंधेरे में रहे। 

बिजली विभाग का दावा है...

  1. बिजली विभाग का दावा है रांची, धनबाद, बोकारो और रामगढ़ के 100% घरों तक बिजली पहुंचा दी गई है। झारखंड स्तर पर 88.49% घर रोशन हो चुके हैं। पूर्वी सिंहभूम में करीब 95% घरों में बिजली पहुंचा देने का दावा किया गया है। विभाग ने कहा है कि 31 दिसंबर 2018 तक 20 जिले के सभी घरों में बिजली कनेक्शन दे दिया जाएगा। कोल्हान में तीन जिलों की स्थिति खराब है। पूर्वी सिंहभूम में 19585 घर इस दिवाली भी अंधेरे में रहे। प. सिंहभूम में 24 हजार और सरायकेला-खरसावां में 18 हजार घरों को बिजली के लिए इंतजार करना होगा। पूर्वी सिंहभूम के 19 बड़े गांव सहित 763 टोलों में न बिजली के तार पहुंचे और न खंभे लग पाए। 

  2. बोर्ड के अधिकारियों ने कहा...

    बोर्ड के अधिकारियों के अनुसार, गांवों में आईएलएफएस और ईस्ट इंडिया नाम की निजी कंपनियों को बिजली पहुंचाने का जिम्मा दिया गया था। कंपनियों की लापरवाही के कारण समय पर काम पूरा नहीं हो पाया। आईएलएफएस 763 टोले को बिजली कनेक्शन नहीं दे पाई, वहीं, ईस्ट इंडिया कंपनी 19 बड़े गांवों तक बिजली नहीं पहुंचा सकी। 

  3. ग्रामीणों की पीड़ा : उम्मीद थी रोशन हाेंगे घर, लेकिन अंधेरे में मनाना पड़ा पर्व

    • राजाबसा पटमदा के नागेन मुर्मू ने बताया कि सरकार ने घोषणा की तो भरोसा था कि इस बार रोशनी में पर्व मनेगा। हमलोग काफी खुश थे। पड़ोस के गांव में खंभा लगने की सूचना सुनी तो उम्मीद थी कि हमारे घर भी बिजली आ जाएगी लेकिन इस बार भी अंधेरे में दिवाली मनानी पड़ी।
    • राजाबसा पटमदा की गीता रानी महतो ने बताया कि ब्लॉक के अफसरों ने कहा था सौभाग्य योजना से बिजली मिल जाएगी। उम्मीद बंधी कि अब हमलोगों का टोला-मुहल्ला भी रोशन हो जाएगा, लेकिन हमें निराशा हुई। दिवाली में बिजली नहीं आई है। अभी इंतजार करने बोला जा रहा है। 
    • ईचागढ़ निवासी धनंजय मुर्मू ने बताया कि अबतक तो बिजली नहीं मिली। रात 9 बजे तक लालटेन जलाते हैं। इसके बाद अंधेरे में रात गुजारनी पड़ती है। पता नहीं सरकार की नजर हमारे टोले पर कब पड़ेगी। बोला गया है दिसंबर तक बिजली मिल जाएगी, लेकिन साहबों पर कैसे भरोसा करें। 
    • ईचागढ़ निवासी राजन कुमार ने बताया कि अब तो त्योहार अंधेरे में मनाने की आदत पड़ गई है। गांव में नेता-अफसर आते हैं। दावा-वादा करने के बाद भूल जाते हैं। हमलोग भी उनकी बातों को गंभीरता से नहीं लेते। जब बिजली आएगी, तब आएगी। अभी तो अंधेरे में ही दिवाली मनानी पड़ी। 

  4. अफसरों की सफाई : निजी कंपनियों ने काम में ढिलाई दिखाई, इसलिए हुई देरी

    • जमशेदपुर व आसपास में सबसे धीमा काम हुआ 

    विद्युत निगम के एमडी राहुल पुरवार ने बताया कि रांची, धनबाद, बोकारो और रामगढ़ के 100% घरों में बिजली दे दी गई। जमशेदपुर समेत अन्य जिलों में 31 दिसंबर तक योजना पूरी कर ली जाएगी। सबसे धीमा काम जमशेदपुर व आसपास में हुआ। 

    • तकनीकी कारणों के चलते विद्युतीकरण में हुई देरी 

    जमशेदपुर जेएसईबी के अधीक्षण अभियंता सुधांशु ने बताया कि पूर्वी सिंहभूम में घर-घर बिजली पहुंचाने की योजना पर काम चल रहा है। तकनीकी कारणों से थोड़ी देर हुई है। निजी कंपनियों ने भी काम में ढिलाई की। 31 दिसंबर तक हर घर में बिजली उपलब्ध होगी। 

  5. जिलेवार उजाले का आंकड़ा

    जिला लक्ष्य अबतक
    रांची 117417 117417 100 
    धनबाद 90272 90272 100 
    पू.सिंहभूम 99885 80300 95
    गिरिडीह 144986 83240 85.4 
    पलामू 238990 132225 71 
    प. सिंहभूम 65849 26396 88 
    दुमका 64548 12832 84.3 
    देवघर 58630 28241 90.4 
    हजारीबाग 51453 42063 97 
    गोड्डा 78333 51284 90.2 
    सरायकेला 77914 32280 83.4 
    बोकारो 49999 49999 100 
    गढ़वा 100475 40288 75 
    साहेबगंज 40320 29048 95.2 
    चतरा 120705 46279 66.4 
    पाकुड़ 35341 18495 91.6 
    गुमला 37526 22455 92.1 
    जामताड़ा 41226 15662 85.1 
    सिमडेगा 31605 12822 87 
    लातेहार 40752 11042 78.8 
    रामगढ़ 36700 36700 100 
    कोडरमा 41092 22475 85.4 
    खूंटी 27761 14079 88.2 
    लोहरदगा 26607 20574 93.9 
           

    (आंकड़ा बिजली विभाग के अनुसार) 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..