जमशेदपुर / बेसमेंट में आग के धुएं से भरा अपार्टमेंट, 10 साल के बेटे को बालकनी से फेंक कूदी महिला



बेसमेंट में जली हुई बाइक। बेसमेंट में जली हुई बाइक।
X
बेसमेंट में जली हुई बाइक।बेसमेंट में जली हुई बाइक।

  • मोटरसाकिलों में आग लगने से फटी थी टंकी, दम घुटने पर जान बचा भागे लोग
  • पड़ोसियों ने अपार्टमेंट के फ्लैट में कैद लोगों को बालकनी में सीढ़ी लगाकर नीचे उतारा, एक महिला का पैर जला 

Dainik Bhaskar

Jul 13, 2019, 12:25 PM IST

जमशेदपुर. गोविंदपुर थाना क्षेत्र के जोजोबेड़ा अारएस टावर अपार्टमेंट के बेसमेंट में गुरुवार रात 1.30 बजे तीन बाइक धू-धू कर जल गई। दो बाइक की टंकी फटने से अाग फैल गयी। पूरा अपार्टमेंट धुएं से भर गया। भगदड़ मच गई। पहले तल्ला में रहने वाली अारती वर्मा ने जान बचाने के लिए 10 साल के बेटे स्नेह को लेकर बालकनी से कूद गई। दम घुटने पर चिल्ला रहे बच्चे, महिला और पुरुषों को पड़ोसियों ने बालकनी में सीढ़ी लगाकर नीचे उतारा। कुछ लोगों ने फ्लैट की बालकनी में रस्सी के सहारे नीचे उतरकर जान बचाई। खुद को बचाने में बेसमेंट में रहने वाली सुशीला देवी का पैर जल गया। 

 

बालकनी से कूदने वाली महिला और उनके बेटे को हाथ पैर में लगी चोट
वहीं, बालकनी से कूदने वाली महिला और उनके बेटे को हाथ पैर में चोट लगी है। दोनों का टाटा मोटर्स अस्पताल में इलाज चला। घटना के अाधे घंटे के बाद गोविंदपुर पुलिस तथा दमकल की एक गाड़ी पहुंची। बाइकों की अाग को बुझाया। दमकल आने से पहले लोग आग को बुझाने में जुटे हुए थे। घटना में शिव शंकर मंडल की पैशन प्रो (जेएच05एजेड-8149) तथा सविता देवी के बेटे नीरज यादव की पैशन प्रो (जेएच05सीडी-2720) पूरी तरह से जल गई। तीसरी बाइक स्पलेंडर किसकी है। यह लोगों को नहीं पता। 

 

एक घंटे मची भगदड़, पड़ोसियों की सूझबूझ और सहयोग से टला हादसा 
बहन ने कूद कर जान बचाई आरती के भाई राहरगोड़ा निवासी पप्पू श्रीवास्तव ने बताया कि अाग की सूचना पर अारती को कुछ समझ नहीं अाया। पहले दस साल के बेटे स्नेह को बालकनी से नीचे लटकाया और फिर उसका हाथ छोड़ दिया। इसके बाद अारती भी कूद गई। इधर, गोविंदपुर थाना एसआई लुईस मिंज ने बताया कि लोगों ने एफआईआर के लिए अावेदन नहीं दिया है। लोग का कहना था कि किसी को अाग लगाते नहीं देखा है। वह चाहते हैं कि उनको इंश्योरेंस क्लेम मिल जाए। 

 

यह है कारण 
गोविंदपुर थाना में शिकायत दर्ज करने पहुंचे लाेगों ने पुलिस को बताया कि गैरेज में तीसरी बाइक खड़ी करने वाले ने ही घटना को अंजाम दिया। अपार्टमेंट में रहने वाली एक नाबालिग के बाहरी दोस्तों के बस्ती में अाने का विरोध स्थानीय युवकों ने किया था। दोनों ग्रुप के बीच मारपीट हुई। इसी विवाद पर घटना को अंजाम दिया गया है। गोविंदपुर पुलिस भी नाबालिग के दोस्तों व तीसरी बाइक के मालिक का पता लगाने में जुटी है। घटना के बाद से लोगों में अाक्रोश है। 

COMMENT