--Advertisement--

आत्महत्या / नाबालिग ने कमरा बंद कर फांसी लगाकर दी जान, स्कूल जाने के लिए थी तैयार



मृत छात्रा की लाश। मृत छात्रा की लाश।
X
मृत छात्रा की लाश।मृत छात्रा की लाश।

  • सुसाइड नोट बरामद, लिखा- तुमने प्यार का नाटक कर धोखा दिया, अब मैं चलती हूं.... 

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 11:59 AM IST

जमशेदपुर. गालूडीह थाना क्षेत्र के सालबनी की रहनेवाली 10वीं  कक्षा की एक नाबालिग छात्रा ने प्यार में धोखा मिलने पर अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के प्रेमी ने उसे ऐसे दो राहे पर लाकर खड़ा कर दिया था कि न उसे जिंदगी बोझ लगने लगी और उसने आत्महत्या करने का फैसला कर ली। वह काफी दिनों से अपने ब्वॉयफ्रेंड के रवैये से  परेशान थी। उसने मरने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ा, जिसमें अपनी मौत के लिए जिम्मेवार प्रेमी के बारे में भी लिखा है। पुलिस ने इसी से आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। गालूडीह थाना क्षेत्र के सालबनी गांव के विनोद गिरी की एकलौती पुत्री (14)  का शव शुक्रवार  सुबह घर में गमछा के सहारे लटकते हुए  पुलिस ने बरामद किया। शव के पास एक सुसाइड नोट भी बरामद किया।  

सुबह सात बजे आया था ब्वॉयफ्रेंड का फोन

  1. छात्रा हर दिन की तरह  सुबह स्कूल जाने के लिए यूनिफार्म पहनकर तैयार हुई थी। इसी दौरान सुबह 7 बजे प्रेमी  का फोन आया, फोन से बात करने के बाद फोन रखकर अपने कमरे में चली गई और घर का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। परिजनों को जब पूजा के कमरे में जाने की जानकारी मिली, तो पता चला कि कमरे का दरवाजा अंदर से बंद है। इसकी सूचना  लड़की के पिता ने ग्रामीणों को दी। सूचना मिलने पर ग्रामीण जुटने लगे व घर का टीना शेड खोलकर अंदर प्रवेश किया।  ग्रामीणों ने देखा  कि छात्रा का शव गमछे के सहारे झूल रहा है। इसकी सूचना  परिजनों ने गालूडीह थाना को दी। सूचना मिलते ही गालूडीह थाना प्रभारी सुधांशु कुमार दल बल के साथ घटनास्थल पहुंचे शव को  कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अनुमंडल अस्पताल घाटशिला भेज दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। लड़की के पिता एक लाइन होटल में कुक का काम करते हैं।  

  2. सुसाइड नोट में क्या लिखा...

    मेरी मौत का कारण घरवालाें की गलती नहीं है। कुलदीप ने मेरे से कभी प्यार नहीं किया। वह मेरे शरीर से प्यार करता था। मेरे शरीर के साथ जो चाहा उसने किया। इतना होने के बाद उसने बताया कि वह उसके साथ शादी नहीं करना चाहता है। यह कैसा प्यार है? अपना शरीर सबसे ज्यादा सम्मान की चीज है। उसी शरीर के साथ वह खेला। मैं उस लड़के को जान से ज्यादा प्यार करती थी। उसने मुझे इसके बदले क्या दिया । धोखा... धोखा... धोखा.....। मेरे जाने के बाद मेरी मम्मी पापा मेरे छोटे भाई को अच्छे से रखेंगे। पापा सालबनी को छोड़कर कही और चले जाइएगा। मेरे भाई का अच्छे डॉक्टर से इलाज कराइएगा। मैं चलती हूं। अच्छे से रहेंगे । मेरी याद आएगी, तो हंसेंगे, यह समझेंगे कि हंसी के अंदर हम हैं। गुड बाय... आपकी प्यारी बेटी।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..