पहल / जमशेदपुर देश का पहला इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट फ्री सिटी बनेगा, शहरवासी देंगे इलेक्ट्रॉनिक सामान



डीसी अमित कुमार ने शहर से एकत्र दो ट्रक इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट को कोलकाता के लिए रवाना किया। डीसी अमित कुमार ने शहर से एकत्र दो ट्रक इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट को कोलकाता के लिए रवाना किया।
X
डीसी अमित कुमार ने शहर से एकत्र दो ट्रक इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट को कोलकाता के लिए रवाना किया।डीसी अमित कुमार ने शहर से एकत्र दो ट्रक इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट को कोलकाता के लिए रवाना किया।

  • विश्व पर्यावरण दिवस पर जमशेदपुर में झारखंड का पहला ई वेस्ट मैनेजमेंट सेंटर खुला 
  • पर्यावरण सुधार की दिशा में बड़ा कदम , पहले चरण में 45 हजार घरों को लक्ष्य बनाया गया 

Jun 06, 2019, 11:53 AM IST

जमशेदपुर. पर्यावरण को बचाने के लिए विश्व पर्यावरण दिवस पर शहर में एक और पहल शुरू हुई है। झारखंड का पहला ई-वेस्ट मैनेजमेंट सेंटर साकची बिरुपा रोड लोयोला फ्लैट्स के पीछे खोला गया है। पहले चरण में शहर के 45 हजार घरों को केंद्र में रखा गया है। इलेक्ट्रॉनिक उपकरण के लिए अलग-अलग कीमत रखी गई है। जो भी वेस्ट होगा, उसे वजन करने के बाद उसका वाजिब दाम सीधे कस्टमर के खाते में ट्रान्सफर कर दिया जाएगा। कस्टमर हेल्पलाइन के जरिए अपने घर का इलेक्ट्रानिक कचरा बेच सकता है। मैनेजमेंट सेंटर के लोग घर जाकर कचरे का कलेक्शन भी करेंगे। मोबाइल-लैपटॉप 75 रुपए प्रति किलो के हिसाब से खरीदा जाएगा। फ्रीज 10 रुपए और एसी 30 रुपए प्रति किलो के मान से खरीदा जाएगा। 

 

इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट जमा करने पर कन्जूमर को मिलेगा पैसा
ई-वेस्ट मैनेजमेंट सेंटर का उदघाटन बुधवार को डीसी अमित कुमार ने किया। उन्होंने कहा कि जब हर हाथ में मोबाइल और घरों में टीवी है, वैसे में जमशेदपुर में ई (इलेट्रॉनिक) वेस्ट मैनेजमेंट सेंटर खुलना एक मिसाल है। इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट के निष्पादन के लिए कोलकाता की रिसाइक्लिंग कंपनी हुलाडेक के साथ करार किया गया है। सोलिड वेस्ट मैनेजमेंट के निष्पादन के लिए निविदा निकल गई है। राज्य सरकार के सहयोग से हम जल्द ही इसका रिसाइक्लिंग सेंटर बनाने जा रहे हैं। जमीन भी आबंटित हो गई है। सोलिड वेस्ट से बिजली का उत्पादन होगा। इलेक्ट्रॉनिक वेस्ट जमा करने पर कन्जूमर को पैसा मिलेगा। 

 

इलेक्ट्रानिक वेस्ट फ्री सिटी बनाने में लेंगे एनएमएल का सहयोग : चाणक्य चौधरी 
टाटा स्टील के वीपी (कारपोरेट सर्विसेस) चाणक्य चौधरी ने कहा कि हम शहर के इलेक्ट्रानिक वेस्ट फ्री सिटी बनाने में एनएमएल जमशेदपुर का भी सहयोग लेंगे। यही नहीं हमारी कोशिश है कि शहर में ज्यादा से ज्यादा हरियाली हो। भारत सरकार के मानक के अनुसार कुल भूमि का 33 फीसदी हिस्सा वन आच्छादित होना चाहिए, लेकिन जमशेदपुर में यह प्रतिशत 35 प्रतिशत है। जमशेदपुर में प्रति व्यक्ति पानी की खपत देश में सबसे ज्यादा है। 

 

सुबह में खुंटाडीह में प्लांटेशन और शाम को नीलडीह में ट्री बैंक का उदघाटन 
विश्व पर्यावरण दिवस पर टाटा स्टील और जुस्को की ओर से बुधवार सुबह सोनारी खुंटाडीह में पौधारोपण किया गया। इसके तहत नीम के पौधे लगाए गए। मौके पर टाटा स्टील के वीपीसीएस चाणक्य चौधरी, जुस्को एमडी तरूण डाग्गा और जुस्को श्रमिक यूनियन के अध्यक्ष रघुनाथ पांडेय मौजूद थे। शाम को नीलडीह में शाम को ट्री बैंक का उदघाटन हुआ। उदघाटन डीएफओ डॉ.अभिषेक कुमार ने किया। 

 

ई-वेस्ट एक बड़ी चुनौती रही है: एमडी, जुस्को 
जुस्को के एमडी तरुण डाग्गा ने कहा कि जुस्को शहर को सुंदर और सुरक्षित बनाने के लिए पहले से ही वेस्ट मैनेजमेंट पर काम कर रहा है। आज ई वेस्ट एक बहुत बड़ी चुनौती है। ऐसे में हमने यह सेंटर खोला है ताकि शहर के लोगों को ई वेस्ट मैनेजमेंट के लिए एक विकल्प मिल सके। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना