जमशेदपुर मजदूर, मध्यम वर्ग और मुस्लिम आबादी को एक साथ साधने की कोशिश

Jamshedpur News - निहितार्थ : जमशेदपुर की नब्ज पकड़ने के लिए टाटा की बात जरूरी है। यहां लगभग हर वोटर किसी न किसी रूप में टाटा से जुड़ा...

Dec 04, 2019, 09:15 AM IST
Jamshedpur News - jamshedpur workers middle class and muslim population trying to work together
निहितार्थ : जमशेदपुर की नब्ज पकड़ने के लिए टाटा की बात जरूरी है। यहां लगभग हर वोटर किसी न किसी रूप में टाटा से जुड़ा है। सीधा निशाना शहरी वोटर को साधने पर था।

मजदूर-मिडिल क्लास : झारखंड तो सरकारी योजनाओं की गंगोत्री बन गया है। ये जो योजनाएं हैं, ये हमारे मध्यम वर्ग के लिए जरूरी हैं। इन योजनाओं का फायदा भी मजदूरों और मध्यम वर्ग को मिलता है। श्रमयोगी मानधन योजना से असंगठित कामगारों को पेंशन मिलती है। पीएम आवास के तहत भी मजदूरों को ही फायदा मिला है।

निहितार्थ : कोल्हान की सीटों पर सबसे बड़ा फैक्टर उद्योग और मजदूर ही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हर सरकारी योजना को मजदूरों से जोड़ उसके फायदे गिनाकर ये बताने की कोशिश की है कि भाजपा सरकार ही मजदूरों की हितैषी है।

सड़क से विमान : पांच साल पहले झारखंड में सिर्फ 36 किमी. ही एनएच बना था। पिछले 5 साल में 700 किमी. नए एनएच बने। रेलवे के आधारभूत ढांचे के लिए भाजपा सरकार 10 हजार करोड़ से ज्यादा झारखंड को दिया। पिछली कांग्रेस सरकारों ने 2000 करोड़ ही दिए थे। एयर कनेक्टिविटी कई गुना बढ़ी है।

निहितार्थ : परिवहन का मुद्दा शहरी वोटरों के लिए बड़ा है। खासतौर पर जमशेदपुर में कनेक्टिविटी का मुद्दा उठता रहा है। पीएम ने इसके जरिये भी शहरी वोटरों को साधा है।

स्थिर सरकार : कांग्रेस-झामुमो के सत्ता के लालच के चलते ही झारखंड ने 15 साल में 10 सीएम देख लिए। गुजरात में तो सिर्फ मैं ही 13 साल सीएम रहा। इस स्थिरता का नतीजा देखिए...। झारखंड का मौसम जितनी जल्दी नहीं बदलता, उससे भी तेजी से यहां सीएम बदले गए। स्थिरता से ही विकास संभव है।

निहितार्थ : प्रधानमंत्री ने स्थिरता के सहारे लोगों को ये संदेश देने की कोशिश की कि विकास चाहिए तो स्थिर सरकार जरूरी है और उसके लिए स्पष्ट बहुमत मिलना बहुत जरूरी है।

तीन तलाक : तीन तलाक को खत्म करने का कानून लाकर हमने मांआें-बहनों को सम्मान से जीने का अधिकार दिया है। तीन तलाक से सिर्फ मुस्लिम महिलाएं ही नहीं मुस्लिम पुरुष भी परेशान थे। हर पिता को हर भाई को चिंता थी कि बेटी-बहन को विदा तो किया है, मगर कहीं तीन तलाक के कारण उसे घर न लौटना पड़े।

निहितार्थ : शहरी क्षेत्रों खासकर जमशेदपुर की मुस्लिम आबादी को तीन तलाक बिल के बहाने मोदी ने साधने की कोशिश की। मुस्लिम पुरुषों को भी साथ में मिलाया।

X
Jamshedpur News - jamshedpur workers middle class and muslim population trying to work together
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना