जमशेदपुर में कोरोना इफेक्ट / कोल्हान यूनिवर्सिटी ने स्नातक और स्नातकाेत्तर प्रथम सेमेस्टर, बीएड थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा स्थगित की

23 मार्च से शुरू हाेने वाली एमबीबीएस की परीक्षा काे भी स्थगित कर दिया है। -फाइल फोटो। 23 मार्च से शुरू हाेने वाली एमबीबीएस की परीक्षा काे भी स्थगित कर दिया है। -फाइल फोटो।
X
23 मार्च से शुरू हाेने वाली एमबीबीएस की परीक्षा काे भी स्थगित कर दिया है। -फाइल फोटो।23 मार्च से शुरू हाेने वाली एमबीबीएस की परीक्षा काे भी स्थगित कर दिया है। -फाइल फोटो।

  • वीसी बाेलीं- बच्चाें का बेहतर स्वास्थ्य हमारे लिए पहली प्राथमिकता

दैनिक भास्कर

Mar 21, 2020, 11:04 AM IST

जमशेदपुर. काेराेना वायरस से बचाव काे लेकर काेल्हान विश्वविद्यालय (केयू) की अाेर से संचालित हाे रहे सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। शुक्रवार काे कुलपति (वीसी) डाॅ. शुक्ला माेहंती की अध्यक्षता में हुई बैठक में विवि के सभी बड़े पदाधिकारी शामिल हुए। इस दाैरान एमएचअारडी के निर्देश व पीएम नरेंद्र माेदी का राष्ट्र के नाम संबाेधन काे ध्यान में रखते हुए स्नातक व स्नातकाेत्तर प्रथम सेमेस्टर व बीएड थर्ड सेमेस्टर की परीक्षा काे अगले अादेश तक के लिए स्थगित रखने काे फैसला लिया गया। 

कहा गया कि इन परीक्षाअाें में करीब 40 हजार छात्र शामिल हाे रहे हैं। हर केंद्र पर एक से डेढ़ हजार परीक्षार्थी परीक्षा दे रहे हैं। एेसे में जिस प्रकार से काेराेना का असर बढ़ रहा है उसे देखते हुए इतनी बड़ी संख्या में परीक्षार्थियों का एक जगह जुटना सही नहीं है। विवि ने 23 मार्च से शुरू हाेने वाली एमबीबीएस की परीक्षा काे भी स्थगित कर दिया है।

गंभीर बीमारी से पीड़ित महिला कर्मी का वेतन नहीं काटने की मांग
सेनापति की अाेर से कोल्हान विवि व इसके अंतर्गत अाने वाले महाविद्यालयों में स्थायी, अस्थायी, अनुबंध पर कार्यरत महिला शिक्षक और कर्मचारी जाे गर्भवती हैं और मधुमेह, उच्च रक्तचाप रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी आदि से पीड़ित हैं कर्मचारी का वेतन नहीं काटने की मांग की गई थी।

छात्र संगठन परीक्षाएं स्थगित करने की केयू से कर रहे थे मांग
काेराेना के डर के बीच परीक्षा काे स्थगित करने की छात्र संगठन लगातार मांग कर रहे थे। शुक्रवार काे भी कोल्हान विश्वविद्यालय के सिंडिकेट सदस्य अमिताभ सेनापति ने कुलपति से मिलकर कोरोना इस महामारी के फैलाव को रोकने हेतु विश्वविद्यालय में चल रही परीक्षा स्थगित करने की मांग की थी। 

जनता कर्फ्यू के दिन टाटा स्टील में कर्मचारियों की ड्यूटी में बदलाव
कोरोना से बचाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील के आलोक में टाटा स्टील प्रबंधन ने बड़ा फैसला लिया है। 22 मार्च को ए शिफ्ट के कर्मचारी निर्धारित समय सुबह छह बजे और बी शिफ्ट के कर्मचारी दोपहर दो बजे के बजाए सुबह सात बजे ही कंपनी में प्रवेश कर जाएंगे। प्रबंधन की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि 22 मार्च को ए शिफ्ट के साथ बी शिफ्ट के कर्मचारी भी दोपहर दो बजे के बजाए सुबह सात बजे तक कंपनी में प्रवेश करेंगे। बी शिफ्ट के कर्मचारी रेस्ट रूम में रहेंगे और दो बजे से ड्यूटी पर लग जाएंगे। वहीं ए शिफ्ट के कर्मचारी दोपहर दो बजे के बाद रेस्ट रूम में आ जाएंगे और रात्रि नौ बजे के बाद कंपनी से निकलेंगे।

हर आधा घंटा पर वाॅशरूम और रेस्ट रूम किया जाएगा सैनेटाइज
प्रबंधन के फैसले से कंपनी का प्रोडक्शन भी प्रभावित नहीं होगा। 22 मार्च को प्रबंधन ने कैंटीन सुबह 6 बजे से रात्रि 10 बजे तक खोलने और आधे घंटे पर वाॅशरूम को सैनेटाइज करने का आदेश दिया है। ए व बी शिफ्ट के कर्मियों को जरूरत अनुसार एक दिन छुट्टी मिलेगी।

क्लब हाउसों में 16 अप्रैल तक होने वाले 125 आयोजन रद्द
कोरोना वायरस की वजह से टाटा स्टील द्वारा निर्मित और टाटा वर्कर्स यूनियन द्वारा संचालित शहर के विभिन्न क्लब हाउसों में 16 अप्रैल तक की गई सभी बुकिंग रद्द कर दी गई है। बुकिंग के लिए डीसी की अनुमति लेना अनिवार्य कर दिया गया है। इस संबंध में यूनियन अध्यक्ष आर रवि प्रसाद ने सभी क्लब हाउसों के प्रबंध समिति को नोटिस जारी किया है। नोटिस में अध्यक्ष ने कहा है कि वे डीसी से एनओसी (अनापत्ति प्रमाणपत्र) लेकर आएं अन्यथा बुकिंग रद्द कराएं। बुकिंग रद्द कराने पर जमा की गई पूरी राशि वापस कर दी जाएगी। उल्लेखनीय है कि शहर के विभिन्न हिस्सों में शादी-विवाह जैसे विभिन्न आयोजनों के लिए 21 क्लब हाउस संचालित किए जाते हैं। यह क्लब हाउस उस क्षेत्र में रहने वाले कर्मचारियों को प्राथमिकता के तौर पर दी जाती है। इस नोटिस की वजह से करीब 125 आयोजनों पर असर पड़ेगा।

कल बस अौर टेंपाे नहीं चलेंगे टाटा से गुजरने वाली 22 जोड़ी ट्रेनें रद्द
शहर में रविवार काे मिनी अाैर लंबी दूरी की बसाें का परिचालन बंद रहेगा। टेंपो भी नहीं चलेंगे। यह निर्णय शुक्रवार काे बस एसाेसिएशन की बैठक में लिया गया। वहीं रेलवे ने टाटानगर से गुजरने वाली 22 जाेड़ी एक्सप्रेस, मेल समेत सभी यात्री ट्रेनाें काे रद्द करने की घाेषणा की है।

शिक्षित बेरोजगार मिनी बस एसोसिएशन की बैठक संजय पांडेय की अध्यक्षता में हुई। इसमें तय हुअा कि 23 से 31 मार्च तक 85 में से करीब 40 बसों का ही परिचालन किया जाएगा। खिड़कियाें से पर्दाे को हटा दिया जाएगा। सफाई के साथ हाथ धाेने के लिए सैनेटाइजर की व्यवस्था रहेगी। वहीं, जमशेदपुर बस आेनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के कोषाध्यक्ष किशोर कुणाल ने कहा कि 22 मार्च को लंबी दूरी की बसों का परिचालन नहीं किया जाएगा। ज्यादा जरूरी हाेने पर एक-दो बसें चलाई जा सकती हैं।

स्टील, एलेप्पी, साउथ बिहार, टाटा-छपरा रहेगी रद्द
जनता कर्फ्यू को ध्यान में रखते हुए रेलवे ने 22 मार्च को सुबह चार बजे से शुरुआती स्टेशन से रवाना होने वाली सभी सुपरफास्ट, पैसेंजर अाैर एक्सप्रेस ट्रेनों को रद्द कर दिया है। सीपीअारअाे संजय घाेष ने बताया कि शुरुअाती स्टेशन से जिन ट्रेनाें की रवानगी का समय सुबह चार बजे से पहले हाेगा या फिर जाे ट्रेनें रास्ते में हाेंगी वे निर्धारित समय पर गंतव्य तक पहुंचेंगी।

 

टाटानगर से गुरनेवाली ये ट्रेनें रहेगी रद्द
स्टील एक्सप्रेस, टाटा जम्मूतवी, एल्लप्पी, खड़गपुर व चक्रधरपुर लोकल, बड़काकाना पैसेंजर, धनबाद स्वर्णरेखा, साउथ बिहार, टाटा- छपरा, गीतांजलि, कुर्ला एक्सप्रेस समेत दो दर्जन ट्रेनें रद्द रहेंगी।

एक्सएलआरआई के हाॅस्टल पूरी तरह खाली, छात्रों को जून में लौटने का आदेश
एक्सएलआरआई का छात्रावास शुक्रवार को पूरी तरह खाली हो गया। एक्सएलआरआई प्रबंधन ने सभी विद्यार्थियों को हाॅस्टल खाली करने के लिए शुक्रवार तक का समय दिया था। पिछले बुधवार से ही विद्यार्थियों ने हाॅस्टल खाली करना शुरू कर दिया था। गुरुवार और शुक्रवार को बाकी बचे हुए छात्रों ने हाॅस्टल पूरी तरह खाली कर दिया। इन विद्यार्थियों को अब सीधे जून मेें वापस लौटने को कहा गया है। एक्सएलआरआई प्रबंधन का कहना है कि विद्यार्थियों ने काफी सहयोग किया है।

एनआईटी का हाॅस्टल खाली
नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलाॅजी, जमशेदपुर से हाॅस्टल शत-प्रतिशत खाली हो गया है। केवल पीएचडी करने वाले विद्यार्थियों को हाॅस्टल में रहने की छूट दी गई है, वे भी पूरी सतर्कता से रह रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना