Hindi News »Jharkhand »Jamshedpur »Jamshedpur» विनोद को हर बूथ पर, पुरेंद्र-मुन्ना को शहर में ज्यादा वोट

विनोद को हर बूथ पर, पुरेंद्र-मुन्ना को शहर में ज्यादा वोट

पहली बार दलीय आधार पर आदित्यपुर नगर निगम के मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव सोमवार को हो गया। आमतौर पर लोकसभा व...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:00 AM IST

पहली बार दलीय आधार पर आदित्यपुर नगर निगम के मेयर और डिप्टी मेयर का चुनाव सोमवार को हो गया। आमतौर पर लोकसभा व विधानसभा चुनाव में आदित्यपुर में भाजपा का बोलबाला रहता है, लेकिन नगर निगम के चुनाव में नजारा बदला दिखा। मेयर पद पर किसको जीत मिलेगी? स्थिति साफ नहीं है। आदित्यपुर को भले ही भाजपा का गढ़ कहा जाता है, मगर मतदान के बाद कोई भी दावे के साथ कुछ कहने की हालत में नहीं है। विनोद श्रीवास्तव, पुरेंद्र नारायण सिंह, मुन्ना शर्मा व रंजीत प्रधान में कांटे की टक्कर है। हालांकि, सभी प्रत्याशी जीत का दावा कर रहे हैं, यह कहते हुए कि कड़ी टक्कर है।

जाति, शहरी-ग्रामीण के अलावा पार्टी आधार पर हुई वोटिंग, इन्हीं से बनेगा जीत के गणित

हर बूथ पर भाजपा के वोटर

विनोद श्रीवास्तव (भाजपा)

पुराने लीडर हैं। नगर पर्षद में उपाध्यक्ष रहे हैं। अस्वस्थ होने के नाते आमलोगों को पूरा समय नहीं दे पा रहे थे। यही एक वजह है जो उनके खिलाफ थी। रणनीतिकारों का आकलन है कि भाजपा हर बूथ पर है। कांग्रेस, राजद और झामुमो किसी खास बूथ पर हैं। भाजपा के पक्ष में खामोश वोटरों की तादाद सबसे अधिक है।

प्रत्याशी का दावा

निगम में 108 बूथ हैं। ऐसी कोई पार्टी या उम्मीदवार नहीं है, जिसे हर बूथ पर मत मिला हो। भाजपा को सभी बूथों पर मत मिले हैं, इसलिए जीतेंगे।

मुन्ना शर्मा के वोट पर जीत-हार

पुरेंद्र नारायण सिंह (राजद)

छवि ऐसी रही है कि जब बुलाओ तब हाजिर। आदित्यपुर रोड नंबर 10 से 19 तक पुरेंद्र ने गहरी छाप छोड़ी है। आदित्यपुर में व्यापारी वर्ग का बड़ा तबका उनकी ओर झुका है। अर्जुन यादव ने भी मेहनत की। पुरेंद्र के रणनीतिकारों का आकलन है कि मुन्ना शर्मा को 15 हजार से अधिक वोट मिलते हैं तो पुरेंद्र का रास्ता साफ हो जाएगा।

प्रत्याशी का दावा

नगर निकाय में जनता को ऐसा जनसेवक चाहिए जो आधी रात में भी हाजिर हो। ईमानदार हो। गम्हरिया में भी मजबूत है। 100% जीत होगी।

वर्षों बाद एकजुट हुए कांग्रेसी

मुन्ना शर्मा (कांग्रेस)

वीजी गोपाल हत्याकांड में बरी होने के बाद सियासत में आए मुन्ना शर्मा एक साल पहले से चुनाव की तैयारी शुरू कर दी थी। बंद टायो के कर्मियों के साथ आंदोलन किया। फरारी की अवधि में गम्हरिया के गांवों में बड़ा अरसा गुजारा है। कांग्रेसी रणनीतिकारों की मानें तो कांग्रेसियों ने एकजुट होकर मेहनत की है। सफलता मिलेगी।

प्रत्याशी का दावा

गम्हरिया में भाजपा व झामुमो से अधिक मत मिलेंगे। लंबे समय बाद कांग्रेसी एकजुट होकर लड़े हैं। पुराने भाजपाई साथ दिए हैं। जीत तय है।

बस्ती में तीर-धनुष की पकड़

रंजीत प्रधान (झामुमो)

कुलुपटांगा, बंता नगर, माझी टोला, सालडीह, शहरबेड़ा, सपड़ा, बोंडी, बेल्डीह आदि बस्ती इलाकों में तीर-धनुष भारी रहा है। झामुमो के रणनीतिकारों का मत है कि आदित्यपुर में भाजपाई गढ़ को मुन्ना शर्मा व पुरेंद्र नारायण सिंह ने कमजोर कर दिया है। भाजपाई वोट बंटने से झामुमो की जीत का रास्ता बन गया है।

प्रत्याशी का दावा

गम्हरिया और आरआईटी इलाके में बढ़त मिलेगी। आदित्यपुर में बढ़िया प्रदर्शन किया है। भाजपा के वोटों में बंटवारा भी हुआ है। हम जीतेंगे।

डिप्टी मेयर में भारी दिख रहे बॉबी, अंबुज और मनोज भी मुकाबले में हैं

डिप्टी मेयर के चुनाव में भाजपा के अमित कुमार उर्फ बॉबी सिंह भारी दिख रहे हैं। सभी बूथों पर बॉबी को वोट मिला है। कांग्रेस प्रत्याशी अंबुज कुमार और झामुमो के मनोज महतो भी मुकाबले में हैं। गंगा शर्मा के डिप्टी मेयर से पीछे हटने पर यह बॉबी के पक्ष में गया। कांग्रेस उम्मीदवार अंबुज को मुन्ना शर्मा के प्रचार का लाभ हुआ है। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने उनके लिए मेहनत की। झामुमो के मनोज महतो को अर्द्धशहरी इलाके में समर्थन मिला है। इस दम पर वे भी जीत के प्रति आश्वस्त हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jamshedpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×