जमशेदपुर

  • Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamshedpur
  • लैब निर्माण में पूरी पारदर्शिता बरती गई है : डॉ सिन्हा बिना जांच के राशि का भुगतान क्यों किया : डॉ तिवारी
--Advertisement--

लैब निर्माण में पूरी पारदर्शिता बरती गई है : डॉ सिन्हा बिना जांच के राशि का भुगतान क्यों किया : डॉ तिवारी

जमशेदपुर

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
जमशेदपुर
अनियमितता के दावे गलत, व्यक्तिगत खुन्नस निकाल रहे : डॉ एमआर सिन्हा

जमशेदपुर को-ऑपरेटिव कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ एमआर सिन्हा ने कहा कि कंप्यूटर लैब में किसी तरह का घोटाला या गड़बड़ी की बात कोरी कल्पना है। लैब निर्माण में पूरी पारदर्शिता बरती गई है। को-ऑपरेटिव कॉलेज झारखंड में ई लैब तैयार करने वाला पहला कॉलेज बना है। इसकी तारीफ करने की जगह कुछ लोग व्यक्तिगत खुन्नस निकालने के लिए गलत तथ्य प्रस्तुत कर रहे हैं। यह कंप्यूटर लैब चांसलर पोर्टल के जरिए होने वाले नामांकन प्रक्रिया में बहुत कारगर साबित होगा। इसका इस्तेमाल कर कॉलेज विभिन्न ऑन लाइन परीक्षाएं संचालित करा सकता है।

प्रिंसिपल बताएं लैब में लगा एक कंप्यूटर कितने में खरीदा : डाॅ तिवारी

पूर्व प्रिंसिपल के जवाब पर को-ऑपरेटिव कॉलेज के बर्शर डॉ. एमएन तिवारी ने कहा कि अगर कंप्यूटर लैब के निर्माण में कोई गड़बड़ी नहीं हुई तो बिना जांच के राशि का भुगतान क्यों किया गया। इसकी शिकायत पहले ही हो चुकी थी। पूर्व प्रिंसिपल ये क्यों नहीं बता रहे हैं कि एक कंप्यूटर को कितने में खरीदा गया है। डॉ तिवारी ने कहा कि बर्शर होने के नाते कॉलेज के धन की रक्षा करना उनका काम है। अगर कॉलेज में कुछ गलत लगता है तो वे इसकी सूचना उच्चाधिकारियों देते हैं। कंप्यूटर लैब निर्माण मामले में भी ऐसा ही किया है, क्योंकि इसमें कई स्तर पर अनियमितता दिखाई देती है।

X
Click to listen..