Hindi News »Jharkhand »Jamshedpur »Jamshedpur» सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर

सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर

टाटा के राहुल झारखंड व आंध्र के सूरज देश में टॉपर, दिव्यांगों का कट ऑफ -35 तक गिरा; मेरिट में 1 से 6 तक सभी छात्रों को 350-350...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 03:10 AM IST

  • सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर
    +1और स्लाइड देखें
    टाटा के राहुल झारखंड व आंध्र के सूरज देश में टॉपर, दिव्यांगों का कट ऑफ -35 तक गिरा; मेरिट में 1 से 6 तक सभी छात्रों को 350-350 अंक


    सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर

    ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेन्स 2018 का रिजल्ट सोमवार शाम 6.30 बजे जारी हुआ। इस परीक्षा में देश भर से 2 लाख 31 हजार 24 बच्चे क्वालिफाई हुए हैं। यानी इतने बच्चे 20 मई को होने वाली जेईई एडवांस की परीक्षा में बैठेंगे। मेन्स की परीक्षा में आंध्र प्रदेश के सूरज कृष्णा भोगी ने देशभर में टॉप किया है। इन्होंने 360 में से 350 अंक हासिल किए हैं।

    जमशेदपुर के राहुल कुमार तिवारी ने राज्य भर में टॉप किया है। 335 स्कोर के साथ उन्हें देश में 22वीं रैंक मिली है। दूसरे नंबर पर बोकारो के आर्यन हैं। इनकी ऑल इंडिया रैंक 47 है। तीसरे स्टेट टॉपर जमशेदपुर के शुभम कर हैं। इनकी ऑल इंडिया रैंक 72 है। जेईई मेन्स का कट-ऑफ स्कोर लगातार चौथे साल गिरा है। सामान्य वर्ग की बात करें, तो इसमें पिछले साल 81 अंक हासिल करने पर छात्र एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई हुए थे, जबकि 2016 में यह 100 अंक थे। इस साल यह कट-ऑफ 74 पर आ गया है। इस साल ओबीसी का कट-ऑफ स्कोर 45, एससी का 29 और एसटी का 24 अंक रहा है। एससी कैटेगरी का कट-ऑफ स्कोर दो साल में आधा हो गया है। निशक्तजनों का कट-ऑफ माइनस 35 अंक रहा है। दिव्यांगों का कट ऑफ माइनस 35 तक गिर गया। संभवत: किसी प्रतियोगी परीक्षा में पहली बार ऐसा हुआ है। नंबर टाई होने पर गणित और इसके बाद फिजिक्स के अंकों की गणना की गई। यहां भी नंबर एक जैसे होने पर पॉजिटिव और निगेटिव आंसर के आधार पर रैंक तय की गई। पेज 6 भी देखें

    पिछली बार से 10 हजार अधिक रिजल्ट

    समान अंक होने पर ऐसे तय हुई मेरिट

    टॉप-6 छात्रों के नंबर एक समान होने पर अलग-अलग विषयों के अंकों के आधार पर मेरिट तय की गई है। नंबर टाई होने पर गणित के और इसके बाद फिजिक्स के अंकों की गणना की गई। यहां पर भी सभी के नंबर एक जैसे होने पर पॉजिटिव और निगेटिव आंसर के आधार पर रैंक तय की गई। इसमें आंध्र के सूरज कृष्णा ने बाजी मारी। 2017 में राजस्थान के कल्पित वीरवाल ने 100 फीसदी अंक हासिल कर रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने 360 में से 360 अंक हासिल किए थे।

    शहर के 5 टॉपर : राहुल तिवारी 335 शुभम कर 322 आयुष अग्रवाल 316 मोइनाख घोष 306 पीयूष अग्रवाल 306

    स्वामी विवेकानंद के प्रति पिता की आस्था, योग और ध्यान ने राहुल को बनाया स्टेट टॉपर

    स्वामी विवेकानंद के प्रति पिता की आस्था, योग और ध्यान ने वाटिका सिटी मानगो निवासी राहुल कुमार तिवारी को जेेईई मेन में स्टेट टॉपर बना दिया। जेपीएस बारीडीह के छात्र ने 360 में 335 स्कोर किया है। राहुल के पिता श्यामदेव तिवारी टाटा स्टील में जूनियर इंजीनियर हैं। उन्होंने बताया कि स्वामी विवेकानंद के प्रति मेरी गहरी आसक्ति थी। हमेशा उसे स्वामीजी के बारे में बताता था। धीरे-धीरे राहुल भी स्वामीजी की किताबें पढ़ने लगा। योग और ध्यान उसकी दिनचर्या का हिस्सा बन गया। इसने उसकी मेमोरी के साथ एकाग्रता को बढ़ाया। आज वह स्टेट का टॉपर बना है तो निश्चित रूप से उसमें पढ़ाई के साथ योग और ध्यान का योगदान है। उसे गणित में 120 में 120 मिले हैं। बकौल राहुल, मेरा लक्ष्य जेईई एडवांस है। उसकी मां सुनीता तिवारी हाउस वाइफ हैं, बड़ी बहन श्वेता तिवारी बीआईटी सिंदरी से इंजीनियरिंग कर रही है।

    मेन्स का 3 साल का कट-ऑफ

    कैटेगरी 2016 2017 2018

    सामान्य 100 81 74

    दो साल तक न रिश्तेदार के यहां गया शुभम, न शादी समारोह में हिस्सा लिया

    डीएवी पब्लिक स्कूल बिष्टुपुर के छात्र शुभम कर का अल्हड़ मिजाज उसकी सफलता का राज बन गया। फिल्में देखना, उपन्यास पढ़ना और नॉन वेज खाना उसका मिजाज है। जेईई मेन में उसका ऑल इंडिया रैंक 72 है। उसे 360 में से 322 अंक मिले हैं। उसके पिता देवाशीष कर बिजनेसमैन हैं। शुभम इकलौती संतान हैं। मां पियाली घोष कहती हैं-हम फिल्में खूब देखते हैं। वीक डेज में आउटिंग करना और फिल्में देखना शुभम का शगल है। वह पढ़ाई को लेकर हार्डकोर नहीं रहा, लेकिन जो भी पढ़ा मन से। बकौल शुभम, पिता देवाशीष कर का कोलकाता में बिजनेस है। मां हर पल साये की तरह साथ रहीं। क्योंकि, आईआईटीयन पैरेंट्स बनना अासान नहीं है। छोटी-छोटी खुशियों की कुर्बानी देनी पड़ती है। मैं दो साल तक किसी रिश्तेदार के यहां नहीं गया। किसी शादी समारोह में भाग नहीं लिया।

    पहली बार 50 हजार लड़कियां एडवांस्ड में

    पहली बार 50 हजार से ज्यादा लड़कियां एडवांस्ड तक पहुंची हैं। 2017 में 46 हजार से ज्यादा पहुंची थीं।

  • सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Jamshedpur News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: सिटी रिपोर्टर | नई दिल्ली/जमशेदपुर
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Jamshedpur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×