वारदात / नक्सलियों ने गोली मारकर की युवक की हत्या, पर्चा भी छोड़ा

घटनास्थल पर युवक की लाश व नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया पर्चा। घटनास्थल पर युवक की लाश व नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया पर्चा।
X
घटनास्थल पर युवक की लाश व नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया पर्चा।घटनास्थल पर युवक की लाश व नक्सलियों द्वारा छोड़ा गया पर्चा।

  • पर्चा में लिखा- मुखिया मंगल मुंडा के हत्यारों में से एक दुर्गा मुंडा को दी गई मौत की सजा

दैनिक भास्कर

Feb 17, 2020, 07:34 PM IST

खरसावां. कुचाई के नक्सल प्रभावित कोपलोन चौक पर सोमवार को नक्सलियों ने एक युवक को गोली मारकर हत्या कर दी है। सिर में गोली लगने के कारण युवक की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। घटना के बाद नक्सलियों ने पर्चा छोड़कर हत्याकांड का जिम्मेदारी ली। साथ ही पर्चा के जरिए कहा कि मंगल मुंडा के हत्यारों में से एक दुर्गा मुंडा को मौत की सजा दी गई है। कहा गया है कि दुर्गा मुंडा भाकपा माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलता था। घटना रविवार देर रात 9 बजे की बताई जा रही है।

मृतक की पहचान तरम्बा गांव के 26 वर्षीय निवासी दुर्गा मुंडा के रूप में हुई है। देर रात और सुनसान क्षेत्र होने के कारण घटना की सूचना किसी को नहीं मिली। आसपास के स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि रविवार रात के 9 बजे गोली चलने की आवाज सुनाई दी थी लेकिन माघे पर्व होने के कारण ग्रामीणों को लगा कि लोग पटाखा जला रहा है। कुचाई पुलिस हत्याकांड की जांच में जुट गई है। मृतक दुर्गा मुंडा वर्ष 2014 में गैंगरेप के मामले में जेल जा चुका था।
 
एक माह के अंदर दूसरी नक्सली घटना

कुचाई थाना क्षेत्र में एक माह के अंदर यह दूसरी नक्सली घटना है। इससे पहले 17 जनवरी 2020 को दोपहर 2 बजे नक्सलियों ने कुचाई के कड़कदा पुलिया में तोड़ागडीह गांव के 45 वर्षीय निवासी छोटू कालिंदी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्याकांड के दो दिनों बाद कुचाई में पोस्टरबाजी कर नक्सलियों ने हत्याकांड की जिम्मेदारी ली थी। 

आठ माह पहले हुई थी मुखिया मंगल सिंह मुंडा की हत्या
बता दें कि आठ महीने पहले 10 जून 2019 की शाम अज्ञात अपराधियों ने कुचाई के रोलाहातु पंचायत के मुखिया मंगल सिंह मुंडा की हत्या पोड़ाडीह के सोना नदी के कुदाशा घाट के पास कर दी थी। 

नक्सली निर्दोष लोगों को कर रहे टारगेट: एसडीपीओ
एसडीपीओ राकेश रंजन ने कहा कि नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान से बौखलाहट में आकर नक्सली ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। नक्सल विरोधी अभियानों की वजह से नक्सली संगठन बैकफुट पर आ गए हैं। वे बौखलाहट में आकर निर्दोष लोगों को टारगेट कर रहे हैं। इनका उदेश्य सिर्फ दशहत फैलाना है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना