पलामू के डॉन सुजीत सिन्हा पुलिस रिमांड पर

Jamshedpur News - पेट्राेल पंप मैनेजर के खिलाफ दर्ज एससी एसटी एक्ट मामले में एसएसपी ने दी गवाही धालभूमगढ़ स्थित झारखंड फ्यूल...

Jan 21, 2020, 07:11 AM IST
Jamshedpur News - palamu39s don sujit sinha on police remand
पेट्राेल पंप मैनेजर के खिलाफ दर्ज एससी एसटी एक्ट मामले में एसएसपी ने दी गवाही

धालभूमगढ़ स्थित झारखंड फ्यूल ट्रेड पेट्रोल पंप मालिक को जाति सूचक शब्द कहने, रंगदारी मांगने और पांच लाख रुपए गबन के मामले में एसएसपी अनूप बिरथरे ने सोमवार को काेर्ट में गवाही दी। मामले की सुनवाई जिला जज-1 राधाकृष्ण की अदालत में चल रही है।

इस मामले में काेर्ट ने जुलाई 2019 में अनूप टी मैथ्यू, एसएसपी अनूप बिरथरे, अनीश गुप्ता और अलवन तिग्गा काे समन जारी किया था। घाटशिला के तत्कालीन एसडीपीओ अनूप टी मैथ्यू, एएसपी अनीश गुप्ता और एसडीपीअाे अलवन तिग्गा की गवाही बाकी है। बिरथरे ने कोर्ट को बताया कि 14 सितंबर 2009 को वह घाटशिला के एएसपी सह अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी थे। उसी दौरान जादूगोड़ा थाना कांड संख्या 36/2008 एसटी-एससी में रंगदारी और रुपए गबन के मामले के अनुसंधान का जिम्मा उन्हें अलवन तिग्गा से मिला था। अभियुक्त प्रदीप भकत ने 8 अप्रैल 2010 को न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था। कोर्ट के आदेश पर मैंने 21 अप्रैल को घाटशिला उपकारा में उसका बयान दर्ज कराया था। साथ ही गवाह उत्तम कुमार महतो, गोविंद महतो, राधेश्याम दास का बयान भी लिया था। मुख्य गवाह सिंघो चाकी का बयान फाेन के माध्यम से दर्ज किया था। गवाहों के बयान से मामला सत्य पाया था। 29 जुलाई 2010 को सिमडेगा एसपी बनने के बाद मैंने अनुसंधान का जिम्मा घाटशिला एसडीपीअाे को सौंप दिया था। कोर्ट ने 29 जनवरी को अगली गवाही तिथि तय की है। उक्त पेट्रोल पंप की मालिक रूपांती बानरा ने 19 जुलाई 2008 को धालभूमगढ़ थाना में पंप के मैनेजर मंतोष भकत और उसके चाचा प्रदीप भकत के खिलाफ जाति सूचक शब्द कहने, रंगदारी और पंप के पांच लाख रुपए का गबन करने का मामला दर्ज कराया था।

धालभूमगढ़ में पंप मैनेज पर पंप की मालकिन को जाति सूचक शब्द कह गाली- गलौज करने का मामला

रंगदारी मांगने और 5 लाख गबन का है अाराेप

यह है मामला : रूपांती को जाति सूचक शब्द कह गाली दी व 10 हजार रुपए रंगदारी मांगी थी

पेट्रोल पंप मालिक रूपांती वानरा ने प्राथमिकी में बताया था कि 14-15 जुलाई 2008 को वह पंप पर गईं तो पता चला कि पेट्रोल नहीं हैं। मैनेजर से पूछने पर बताया कि पैसा नहीं हाेने के कारण पेट्रोल नहीं मंगवाया। रूपांती का कहना था कि मार्च में मैनेजर को एक टैंकर तेल लिए 4.4 लाख रुपए दिए थे। | दूसरे दिन हिसाब-किताब की जांच की तो पता चला कि 5 लाख रुपए कम हैं। उन्होंने सभी स्टाफ को रुपए उनके रिश्तेदार सिंगो चाकी को देने की बात कह लौटने लगीं। रास्ते मेें पंप के स्टाफ राधेश्याम ने फोन कर बताया कि मैनेजर गायब है। कुछ देर के बाद पुन: फोन अाया कि मैनेजर अपने चाचा प्रदीप कुमार भकत को साथ लेकर पंप पहुंचा और सभी स्टाफ को गाली-गलौज करने लगा। प्रदीप ने फोन पर रूपांती को जाति सूचक शब्द कह गाली दी अाैर 10 हजार रुपए रंगदारी मांगी।

परसुडीह थाना में दर्ज है सुजीत सिन्हा के खिलाफ मामला

पलामू के डॉन सुजीत सिन्हा ने घाघीडीह जेल से ही रांची में भाजपा नेता सहित तीन की हत्या की साजिश रची थी। इस मामले में परसुडीह थाना में सीआईडी के डीएसपी (कोल्हान प्रभारी) अनिमेष कुमार गुप्ता ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। प्राथमिकी में सुजीत सिन्हा के साथ रांची जेल में बंद इमरान, सेठी और तीन अज्ञात को आरोपी बनाया है। इन पर हत्या की साजिश रचने, रंगदारी मांगने का आरोप है। घटना का खुलासा 21 अगस्त को रांची में होने के बाद इमरान और बबलू को गिरफ्तार किया था।

मोबाइल का सीडीआर की जांच करने के बाद मिला था सुराग

फर्जी सिम कार्ड लगाकर मोबाइल फोन का इस्तेमाल घाघीडीह जेल में बंद सुजीत सिन्हा कर रहा था, उस मोबाइल फोन का सिमकार्ड मानगो के आजादनगर रोड नंबर छह में रहने वाली जुबेदा खातून के नाम पर किसी ने फर्जी तरीके से निकाला था। जुबेदा लोगों के घरों में आया का काम करती है। सिम कार्ड को मानगो के ओल्ड पुरुलिया रोड स्थित मोबाइल सोल्यूशन नामक दुकान से खरीदा गया था। मोबाइल का सीडीआर जांच करने के बाद इसका सुराग मिला था।

X
Jamshedpur News - palamu39s don sujit sinha on police remand

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना