पीएम ने टाटा का नाता गुजरात से जोड़ा, बोले-जहां कमल, वहीं मोदी

Jamshedpur News - इलेक्शन डेस्क | जमशेदपुर/रांची झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार में मंगलवार को प्रधानमंत्री...

Dec 04, 2019, 09:15 AM IST
इलेक्शन डेस्क | जमशेदपुर/रांची

झारखंड विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार में मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जमशेदपुर और खूंटी में जनसभा की। जमशेदपुर के मंच से उन्होंने कोल्हान की 14 सीटों को कवर किया। गोपाल मैदान में संबोधन में मोदी ने टाटा का नाता गुजरात से जोड़ा। साथ ही कहा- ‘मोदी की एक ही पहचान है, कमल है तो ही मोदी है...’। इससे पहले मोदी ने खूंटी में जनसभा को संबोधित किया। खूंटी से रांची, हटिया, कांके, सिल्ली, खिजरी, तोरपा और तमाड़ समेत क्षेत्र की सारी सीटों को कवर किया तो मोदी ने भी मंच के अनुरूप ही भाषण को अलग-अलग धार दी। खूंटी के मंच से आदिवासियों तो जमशेदपुर के मंच से शहरी वोटरों और श्रमिकों को साधने की पूरी कोशिश की। जमशेदपुर के भाषण में सरयू राय की गैर-मौजूदगी और खूंटी के मंच पर कड़िया मुंडा की मौजूदगी दोनों ही चर्चा का विषय रहे।

जमशेदपुर में मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत करते मुख्यमंत्री रघुवर दास, झारखंड चुनाव प्रभारी ओम माथुर व अन्य।

कांग्रेस-झामुमो पर खुलकर साधा निशाना

पहले चरण के मतदान से पूर्व की रैलियों में प्रधानमंत्री ने सीधे हेमंत सोरेन या झामुमो पर वार नहीं किया था। मगर इस बार खूंटी और जमशेदपुर दोनों ही सभाओं में पीएम मोदी ने खुलकर कांग्रेस-झामुमो गठबंधन पर निशाना साधा।

आयकर छूट से हेल्थ सुविधा तक

जमशेदपुर की सभा में मोदी का लक्ष्य शहरी मध्यम वर्ग को साधना था। यहां आयकर छूट की सीमा 5 लाख तक बढ़ाने के कदम से लेकर राज्य में मेडिकल कॉलेजों की संख्या बढ़ाने तक का जिक्र किया।

सरयू और 86 बस्ती का जिक्र नहीं

मोदी ने सरयू राय या जमशेदपुर में मुद्दा बने 86 बस्ती के नियमितीकरण का जिक्र नहीं किया। सरयू का नाम लिए बिना कहा कि मोदी की पहचान सिर्फ एक है...कमल। जहां कमल फूल नहीं, वहां मोदी नहीं।

डबल इंजन 8 बार...नारा 2 बार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुल 8 बार (खूंटी में 3 बार, जमशेदपुर में 5 बार) डबल इंजन शब्द का प्रयोग किया। यही नहीं राज्य में भाजपा के नारे ‘झारखंड पुकारा, भाजपा दोबारा’ का भी दो बार जिक्र किया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना