पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बीमार महिला को लेने नहीं अाई एंबुलेंस, खटिया पर लाद सड़क तक ले गए बस्ती के लोग; मौत

6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गोविंदपुर थाना अंतर्गत धुअां कॉलोनी में रहने वाली महिला मनी पात्रा (45) की रविवार की सुबह अचानक तबीयत बिगड़ गई। उसे तेज बुखार, पेट दर्द और सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। 108 नंबर पर फोन करने पर जब एंबुलेंस नहीं पहुंची तो खटिया पर लादकर महिला को मुख्य सड़क तक बस्ती के लोग ले गए। जहां देर शाम सड़क पर एक कार चालक से लिफ्ट मांगकर परिजन किसी तरह उसे लेकर एमजीएम अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचने के पूर्व ही रास्ते में महिला ने दम तोड़ दिया। एमजीएम पहुंचने पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया, जिसके बाद परिजन शव लेकर घर चले गए। महिला देबू पात्रा की प|ी थी। वह गोविंदपुर में कैटरर का काम करती थी। महिला के दामाद सुधीर दास ने बताया कि उसकी सास की तबीयत सुबह से बिगड़ी थी।

दामाद ने बताया कि सास को अस्पताल पहुंचाने के लिए 108 नंबर पर कई बार फोन किया गया, परंतु उन्हें कहा गया कि एंबुलेंस खाली नहीं है। अस्पताल भेजने के लिए गोविंदपुर पुलिस से भी मदद मांगी गई, परंतु पुलिस ने हाथ खड़े कर दिए। देर शाम तक एंबुलेंस नहीं अाई तो बस्ती के लोगों के साथ मिलकर उसे खटिया पर लादकर मुख्य सड़क तक लाया गया। इसके बाद एक कार चालक से लिफ्ट मांग कर उसे एमजीएम पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

शव वाहन पर कोरोना का बैनर लगा था, ब्रेन हैमरेज से मृत युवक का शव हरमू मुक्तिधाम से लौटाया

रांची | कोरोना महामारी के नाम का इतना खौफ लोगों के मन में बैठ चुका है कि लोग संक्रमण का नाम सुनते ही दूरी बना लेते हैं। कुछ ऐसा ही रविवार शाम राजधानी रांची में भी हुआ। हरमू मुक्तिधाम में शाम 6:30 बजे एक टाटा 407 वाहन में शव लेकर परिजन अंतिम संस्कार के लिए पहुंचे। वाहन के आगे एक बैनर लगा हुआ था, जिस पर लिखा था-कोरोना बैनर, उपायुक्त हजारीबाग। ये बैनर देखते ही लोगों ने मान लिया कि शव किसी कोरोना पॉजिटिव मरीज का है। इसके बाद वहां मौजूद लोग वहां से भाग गए। मुक्तिधाम के लोगों ने शव को जलाना तो दूर वाहन से उतारकर अंदर रखने तक से इनकार कर दिया। जबकि सच्चाई ये थी कि मृतक दुर्गा प्रसाद रांची के कोकर स्थित चूना भट्ठा का रहने वाला था। उसकी मौत ब्रेन हैमरेज से हुई थी। दरअसल, शव जिस वाहन में लाया गया वह कोरोना से जुड़े बैनर व अन्य सामग्री ढोने का काम करता था। उसी का बैनर गाड़ी पर लगा हुआ था। मृतक दुर्गा प्रसाद के भांजे साकेत कुमार पासवान ने बताया कि बहुत समझाने के बाद भी हरमू मुक्तिधाम में लोग तैयार नहीं हुए। अंतत: वे लोग शव लेकर लौट गए। बाद में 9:30 बजे स्वर्णरेखा घाट पर अंतिम संस्कार किया गया।

परिजनों ने गाड़ी भेजने से मना किया था

परिजनों की शिकायत पर गाड़ी उपलब्ध कराई गई थी, परंतु परिजनों द्वारा बाद में महिला की मौत होने की सूचना पुलिस को दी गई। परिजनों द्वारा गाड़ी भेजने से मना किया गया।
भुवन मुनि पाठक, थाना प्रभारी गोविंदपुर

नंबर पर कई बार फोन किया गया, परंतु उन्हें कहा गया कि एंबुलेंस खाली नहीं है। अस्पताल भेजने के लिए गोविंदपुर पुलिस से भी मदद मांगी गई, परंतु पुलिस ने हाथ खड़े कर दिए। देर शाम तक एंबुलेंस नहीं अाई तो बस्ती के लोगों के साथ मिलकर उसे खटिया पर लादकर मुख्य सड़क तक लाया गया। इसके बाद एक कार चालक से लिफ्ट मांग कर उसे एमजीएम पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।


कार से लिफ्ट मांग कर पहुंचाया अस्पताल

इसी वाहन की वजह से अफवाह

तेज बुखार, सांस लेने में तकलीफ और पेट में दर्द की थी शिकायत, बार-बार फोन करने पर भी नहीं आई 108 एंबुलेस, एमजीएम अस्पताल पहुंचने से पहले ही महिला ने दम तोड़ा

लॉकडाउन में लापरवाही...

इधर, रांची में कोरोना के नाम का खौफ...

खाट पर लादकर अस्पताल ले जाते ग्रामीण।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें