विसर्जन के बाद नदी को प्रदूषण से बचा सके इसके लिए नन/ऑर्गेनिक गड्ढे बनाकर डाली पूजन सामग्री

Jamshedpur News - डीबी स्टार

Oct 10, 2019, 07:10 AM IST
Jamshedpur News - to save the river from pollution after immersion nuns organic pits are made and worshiped
डीबी स्टार
विजयादशमी पर मां दुर्गा पूजा विसर्जन के दौरान व उसके बाद खास इंतजाम देखने को मिला। नदी को प्रदूषण से बचाने के लिए व पूजन सामग्री को नदी में बहने से रोकने के लिए विशेष इंतजाम किए गए। शहर के प्रमुख घाटों पर पूजन सामग्री के भंडारण के लिए अलग से गड्ढे बनाए थे। शहर की स्वयंसेवी संस्था कल्पतरू फाउंडेशन की पहल पर यह व्यवस्था प्रमुख 10 घाटों पर की गई थी। संस्था ने सोनारी के दो मुहानी घाट पर यह व्यवस्था चार सालों से की जा रही थी।

इस बार संस्था के अरूण कुमार सिंह ने डीसी रवि शंकर शुक्ला को पत्र लिख प्रमुख घाटों पर यह व्यवस्था करने का आग्रह किया था। उनके आग्रह पर डीसी ने जमशेदपुर अक्षेस व जुस्को को नदी के किनारे घाटों पर गड्ढा बनाने का आदेश दिया, जहां पूजन सामग्री का भंडारण हो सके। साकची सुवर्णरेखा घाट, पांडे घाट, बिष्टुपुर का हिन्दू पीठ घाट, सोनारी दो मुहानी घाट, दो मुहानी पुल के समीप बालू घाट, बाबू घाट व कदमा सती घाट पर यह व्यवस्था की गई थी। घाट पर की गई विशेष व्यवस्था के तहत पूजन सामग्री का भंडारण किया। उसे कुछ दिनों के बाद जुस्को की ओर से एकत्रित की जाएगी। जुस्को पूजन सामग्री का ऑर्गेनिक खाद बनाने में इस्तेमाल करता है। प्रतिमा विसर्जन के बाद पूजन सामग्री व प्रतिमा से साथ बनाए गए हथियार नदी में बहते रहते थे। नदी का पानी कम होने पर पूजन सामग्री नदी के किनारे पर आकर जमा हो जाती था, जिसे देखकर श्रद्घालुओं को कई बार अपमानजनक स्थिति से रूबरू होना पड़ता था।

कुछ दिनों के बाद इन पूजन सामग्री से ऑर्गेनिक खाद बनाने का काम करेगी जुस्को

संस्था के 30 से अधिक सदस्यों ने दिया योगदान

कल्पवृक्ष फाउंडेशन की पर्यावरण विंग जैम पॉट ग्रीन्स ने अभियान चलाकर लोगों को प्रतिमा की सजावट व अकार्बनिक सामग्रियों को नदी में विसर्जित ना करने की अपील भी की। संस्था के 30 से ज्यादा स्वयंसेवियों ने विभिन्न घाटों पर उपस्थित होकर प्रतिमा विसर्जन में योगदान दिया। जैम पॉट ग्रीन्स ने छह साल पहले अभियान शुरू किया था। इसमें स्थानीय नगर निकाय जेएनएसी, जुस्को व प्रशासन का सहयोग मिला। जेएनएसी ने शहर के सभी विसर्जन घाटों पर पूजन सामग्रियों को घाट पर ही बनाए गए कृत्रिम तालाबो में विसर्जित करने हेतु व्यवस्था की थी। अभियान में केंद्रीय दुर्गा पूजा कमेटी के अरुण सिंह, कल्पवृक्ष फाउंडेशन से तारक नाथ दास, प्रसून उपाध्याय, अभय मौर्या, तरुण कुमार, सुदीप्ता घोष, अरविंद कुमार का योगदान रहा।

घाट पर चलाया गया स्वच्छता अभियान

जन भावना संस्था के संरक्षक डॉ पवन पांडेय के नेतृत्व में विजयादशमी के मूर्ति विसर्जन के बाद मानगो सुवर्णरेखा नदी घाटों पर सफाई अभियान चलाया गया। डॉ. पवन ने कहा - सुवर्णरेखा नदी जमशेदपुर की लाइफ लाइन है। इससे जमशेदपुर के मानगो व कई इलाकों की बस्तियों में पानी की सप्लाई होती है। इसलिए इसको साफ रखना जरूरी है। क्योंकि जल है तो कल है। सफाई अभियान से संस्था ने यह संदेश देने का काम किया है कि नदी घाट की सफाई हम सभी जमशेदपुर वासियों की जिम्मेदारी है। इसे केवल प्रशासन व जुस्को के भरोसे छोड़ना उचित नहीं होगा। कार्यक्रम में तेजपाल सिंह, जितेंद्र मिश्रा, मिंटू प्रसाद, तरणदीप सिंह, उत्तम दास, इमरान खान, शैलेन्द्र झा, बिलाल अहमद उपस्थित थे।

सुवर्णरेखा नदी पर लोगों की भीड़।

बनाए गए गड्ढे में डालते पूजन सामग्री।

Jamshedpur News - to save the river from pollution after immersion nuns organic pits are made and worshiped
X
Jamshedpur News - to save the river from pollution after immersion nuns organic pits are made and worshiped
Jamshedpur News - to save the river from pollution after immersion nuns organic pits are made and worshiped
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना