पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कामवाली बाई के प्यार में दीवाने आशिक ने अपने शरीर पर केरोसिन डाल लगा ली आग, मरने से पहले प्रेमिका को एहसास दिलाने के लिए कर रहा था उल्टी-सीधी हरकत

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जमशेदपुर गुरुवार की दोपहर 12.45 बजे प्यार में पागल एक युवक ने केरोसिन से आग लगाकर जान दे दी। बस्ती की गली में उसने खुद पर केरोसिन छिड़का और माचिस से आग लगा ली। वह सेंथेटिक जैकेट पहना था, इसलिए आग तेजी से फैल गई। लोग वहां पहुंचते, इसके पहले ही अचेत होकर गिर गया। घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जुगसलाई थाने की पुलिस को युवक की पहचान में मशक्कत करनी पड़ी। स्थानीय युवकों ने उसकी पहचान जुगसलाई के रवि शर्मा के रूप में की।

प्रेमिका को एहसास दिलाने के लिए कर रहा था उल्टी-सीधी हरकत
स्थानीय लोगों के अनुसार, रवि मुहल्ले के एक घर में काम करने वाली नौकरानी ने प्यार करता था। प्यार का एहसास दिलाने के लिए वह कुछ दिनों से उल्टी-सीधी हरकत कर रहा था। बस्ती की गली में वह प्रेम जताने के लिए सो गया था। रवि के पिता नंदू शर्मा दर्जी का काम करते थे। टीबी रोग से उनकी मौत कुछ वर्ष पूर्व हो गई थी। मां भी नहीं हैं। वहीं, रवि के एक भाई ने सात साल पहले फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसका अपनी साली के साथ प्रेम संबंध था। रवि का एक भाई जुगसलाई में एक दुकान में काम करता है। उसने कहा-भाई अक्सर घर में रहता नहीं था।

नशे का आदी था रवि

लोगों ने बताया रवि नशा का आदी था। वह बस्ती में घूमता रहता था। किसी से भी 10-20 रुपए मांग लेता था और नशा करता था। आशंका है कि घटना के वक्त भी वह नशे में होगा। क्योंकि जिस स्थान पर उसने आग लगाई है, वहां से भागने का प्रयास नहीं किया। अाग का निशान गली के एक मकान की दीवार पर है। वहीं, जलने के कारण उसके हाथ की उंगली अलग हो गई थी।


युवक के जलकर मरने की सूचना मिली। प्रारंभिक तौर पर यह आत्महत्या का मामला लग रहा है। उसकी पहचान रवि शर्मा के तौर पर हुई है। वह नशा का आदी था। आशंका है कि नशे की हालत में उसने जान दे दी। पुलिस जांच में जुटी है। नित्यानंद महतो, थाना प्रभारी, जुगसलाई


जलता रहा युवक, किसी ने नहीं देखा

युवक ने गली में खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली, लेकिन बस्ती के लोगों ने उसे जलते नहीं देखा। पुलिस के डर से कोई यह नहीं बता रहा है कि उसके ऊपर पानी किसने डाला था। जिस गली में उसने खुद को आग लगाई वह छपरहिया मोहल्ला की ओर निकलती है। गली की चौड़ाई तीन फीट से भी कम है, लेकिन किसी को भनक नहीं लगी।

खबरें और भी हैं...