Hindi News »Jharkhand »Jamtara» दिन में तेज धूप, शाम में आंधी व बारिश के कारण देर रात तक गुल रही बिजली

दिन में तेज धूप, शाम में आंधी व बारिश के कारण देर रात तक गुल रही बिजली

शाम में छाया अंधेरा...। धूल की उड़ी आंधी...। झमाझम हुई बारिश...। जामताड़ा में रविवार को काल-वैशाखी की स्थिति बनी और मौसम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:45 AM IST

दिन में तेज धूप, शाम में आंधी व बारिश के कारण देर रात तक गुल रही बिजली
शाम में छाया अंधेरा...। धूल की उड़ी आंधी...। झमाझम हुई बारिश...। जामताड़ा में रविवार को काल-वैशाखी की स्थिति बनी और मौसम का मिजाज बदल गया। मौसम विभाग के अनुसार मार्च से अप्रैल के बीच कई बार इस तरह के हालात बनते हैं। ठंड के जाने के बाद अचानक बढ़ने वाला तापमान मौसम को सूखा बना देता है। नमी के कारण लोकल थंडर स्टॉर्म विकसित होता है। जिसके कारण आंधी-पानी और ओलावृष्टि की संभावना बनती है। इस स्थिति को काल-वैशाखी कहते हैं। मौसम विभाग ने बताया कि शाम 4 बजे के बाद काल-वैशाखी की स्थिति मजबूत हो गई। झारखंड के आसमान में ऊपरी हवा का चक्रवात सक्रिय हो गया। शाम 5 बजते-बजते आसमान में अंधेरा छा गया। इसके प्रभाव से 30 से 45 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से हवाएं चलने लगी। धूल की आंधी से आसमान ढंक गया। जामताड़ा जिले के सभी इलाकों में बारिश शुरू हो गई। शाम 8 बजे तक बारिश का झमाझम जारी रहा। अचानक बदले इस मौसम ने रात का न्यूनतम तापमान 5 डिग्री सेल्सियस तक गिरा दिया। रात 12 बजे न्यूनतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। जामताड़ा सहित नाला, करमाटांड़, मिहिजाम, कुंडहित, फतेहपुर सहित अन्य प्रखंडों में बारिश हुई। जामताड़ा में रविवार की शाम अचानक मौसम ने करवट ली। जामताड़ा सहित कई जगहों पर शाम को तेज हवाएं चलीं अाैर बारिश हुई। तेज आंधी के साथ हुई बारिश ने लोगों को राहत दी। दिन में मौसम सामान्य था, जबकि तीन बजे के बाद से मौसम के रूख में बदलाव का अहसास होने लगा था। धीरे-धीरे आसमान में काले बादल छाने लगे, तेज हवा चलने लगी। लगभग शाम छह बजे से तेज आंधी के साथ बारिश शुरू हो गई।

शाम के वक्त जामताड़ा में बारिश का नजारा।

दिन का अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रहा

रविवार को ‘रवि’ का तेवर तीखी ही रहा। सुबह में धूप निकली और दिन चढ़ने के साथ वह तीखी हो गई। दिन के 11 बजते-बजते धूप की चुभन ने बेहाल कर दिया। मौसम का मिजाज शुष्क हो गया। पारा चढ़ता गया। दिन के 2 बजे अधिकतम तापमान 37 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

आज भी छा सकते हैं बादल : रविवार को हुई बारिश का असर सोमवार को दिख सकता है। मौसम विभाग के अनुसार आसमान में बादल आ सकते हैं। बारिश की स्थिति भी बन सकती है। धूप-छांव के कारण पारा लुढ़केगा। अधिकतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस गिरने का अनुमान है।

अस्त-व्यस्त हुआ जनजीवन : कई लोग बारिश में फंसे :- अचानक बदले मौसम ने लोगों को हैरान किया। शाम के बाद शहर अस्त-व्यस्त हो गया। संडे का आनंद लेने घरों से निकले लोग इस बारिश में फंस गए। इस बारिश का अनुमान किसी को था नहीं, इसलिए लोग इस बारिश में भीगने से स्वयं बचा नहीं सके।

सड़कों पर लगा रहा जाम :आंधी-पानी से शहर व आसपास के कुछ इलाकों में क्षति की भी सूचना है। शहर के कुछ जगहों पर पेड़ की टहनी गिरने के कारण यातायात बाधित हुई। इससे जाम की स्थिति बनी। शहर की कुछ सड़कों पर रात 9 बजे तक लोग जाम का सामना करते रहे।

शहर के साथ अन्य प्रखंडों में ब्लैक आउट

आंधी-बारिश के बाद शहर की बिजली व्यवस्था ठप हो गई। सड़क से लेकर मुहल्ले तक अंधेरा छा गया। बिजली विभाग ने बताया कि तेज हवा के कारण कई जगहों पर फॉल्ट की सूचना है। रात 11 बजे तक विभाग बिजली सप्लाई शुरू नहीं कर पायी थी।

क्या कहते हैं अधिकारी

कृषि विज्ञान केन्द्र जामताड़ा के मुख्य समन्वयक संजीव कुमार ने बताया कि आगे भी बारिश होने की पूरी संभावना है। यदि बारिश होती है तो सब्जी के फसल को भारी नुकसान होगा। कृषि वैज्ञानिकों की माने तो ओला वृष्टि भी हो सकती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jamtara

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×