• Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamtara
  • ईस्टर संडे पर पूर्वजों की कब्र पर कैडल जला ईसाइयों ने की प्रार्थना
--Advertisement--

ईस्टर संडे पर पूर्वजों की कब्र पर कैडल जला ईसाइयों ने की प्रार्थना

Jamtara News - जामताड़ा | जामताड़ा अाैर चितरंजन रेल इंजन कारखाना क्षेत्र के कब्रिस्तान में क्रिश्चियन समुदाय द्वारा ईस्टर संडे...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:45 AM IST
ईस्टर संडे पर पूर्वजों की कब्र पर कैडल जला ईसाइयों ने की प्रार्थना
जामताड़ा | जामताड़ा अाैर चितरंजन रेल इंजन कारखाना क्षेत्र के कब्रिस्तान में क्रिश्चियन समुदाय द्वारा ईस्टर संडे मनाया गया। जिसमें जामताड़ा, चितरंजन एवं मिहिजाम के मसीही सम्मिलित होकर प्रभु यीशु मसीह के वचनों को सुना। बेवा स्थित चर्च में प्रार्थना सभा हुई। यहां फादर राबर्ट ने प्रभु यीशु मसीह के वचनों को सुनाया। इसके अलावे सुंदर पहाड़ी नॉर्थ जी एल चर्च के पास्टर विशेश्वर हांसदा द्वारा प्रभु यीशु मसीह के वचनों को सुनाया गया। उन्होंने ईस्टर संडे के बारे में सभी को बताते हुए प्रभु की महिमा का गुणगान किया। इसके अलावा लोगों ने अपने प्रिय जनों के कब्र में पुष्प अर्पित कर मोमबत्ती जलाकर याद किया। ईस्टर संडे के प्रार्थना सभा की तैयारी में जुटे इसाई भाइयों ने कब्रिस्तान की साफ सफाई से लेकर चाय नाश्ता के अलावा बेहतर सेवा का योगदान दिया।

मिहिजाम/चित्तरंजन संवाददाता के अनुसार रविवार को क्षेत्र के इसाई धर्मावलंबियों ने ईस्टर संडे का पवित्र पर्व मनाया। माना जाता है कि गुड फ्राईडे के दिन प्रभु ईसा मसीह को सूली पर चढ़ा दिया गया था। जिसके तीन दिन बाद यानी रविवार को वह जीवित हो उठे थे। यह पर्व ईसा मसीह के जीवित हो उठने की खुशी में मनाया जाता है। इस अवसर पर चित्तरंजन स्थित अजय नदी के किनारे बरियल ग्राउंड के ग्रेभ यार्ड में तड़के सुबह क्षेत्र के सैकड़ों इसाई धर्मावलंबी जमा हुए और अपने अपने तरीके से प्रार्थना की। इससे पहले गुड फ्राईडे पर क्षेत्र के विभिन्न चर्चाें में दोपहर 3 बजे प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। माना जाता है कि प्रभु ईसु मसीह को दोपहर करीब 12 बजे सूली पर चढ़ाया गया था। जिसके तीन घंटे बाद उनकी मृत्यु हो गई थी। इसी तीन घंटे तक प्रार्थना सभा में भी लोग प्रभु ईसु मसीह के आदर्शों व बलिदानों को याद करते है। ईस्टर संडे के अवसर पर लोगों ने पवित्र ग्रेव यार्ड में अपने पूर्वजों के कब्र पर सिर झुकाया, प्रार्थना की, एक दूसरे को बधाई दी, कैंडल जलाया, अपने गलतियों की झमा मांगी और सभी के अमन चैन की दुआ मांगी।

X
ईस्टर संडे पर पूर्वजों की कब्र पर कैडल जला ईसाइयों ने की प्रार्थना
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..