• Hindi News
  • Jharkhand
  • Jamtara
  • चंद्रग्रहण के दौरान बंद रहे मंदिरों के कपाट
--Advertisement--

चंद्रग्रहण के दौरान बंद रहे मंदिरों के कपाट

इस साल का पहला चंद्रग्रहण बुधवार को दिखा। यह आकाशीय घटना खगोल वैज्ञानिकों और ज्योतिषियों के लिए खास रहा।...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:45 PM IST
चंद्रग्रहण के दौरान बंद रहे मंदिरों के कपाट
इस साल का पहला चंद्रग्रहण बुधवार को दिखा। यह आकाशीय घटना खगोल वैज्ञानिकों और ज्योतिषियों के लिए खास रहा। जामताड़ा में चंद्र ग्रहण के दौरान चांद लाल रंग का दिखा। जिसे देखने के लिए लोग अपने घरों के छत पर थे। चांद देखने के लिए लोगों में काफी उत्सुकता थी। विज्ञानियों ने इसे ब्लड मून का नाम दिया है। ऐसी स्थिति 35 साल पहले बनी थी। बुधवार को चंद्रग्रहण के दौरान जिले की सभी मंदिरों के पट बंद कर दिए गया। इस दौरान श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक थी। शाम पांच बजे ही मंदिरों के कापाट बंद कर दिये गए थे। जो रात लगभग नौ बजे खोला गया। रात में मंदिर खोलने के बाद कहीं-कहीं मंदिरों को धोया गया, जिसके बाद संध्या आरती की गई। वहीं कई मंदिरों को आरती के बाद बंद किया गया, जो गुरुवार की सुबह खुलेंगी। पंडित उमेश शास्त्री ने बताया कि बुधवार को माघ शुक्ल पूर्णिमा पर ग्रस्तोदित खग्रास चंद्र ग्रहण रहा।

चंद्रग्रहण के दौरान खाली पड़ा मंदिर।

चंद्रग्रहण को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में भी उत्साह

नाला | मंगलवार को पूर्णिमा की शाम 5.18 बजे से रात 7.38 तक पूर्णग्रास चंद्रग्रहण का नजारा देखने के लिए ग्रामीण इलाकों के लोगों में भी उत्साह दिखा। धार्मिक आस्था के अनुसार इस क्षण में जलपान, भोजन एवं पेय पदार्थ का सेवन आदि से क्षेत्र के लोग अपने को दूर रखे। इस अवधि में क्षेत्र के विभिन्न गांवों में हरिनाम कीर्तन का आयोजन हुआ। कीर्तन मंडली में शामिल भक्त, वैष्णव एवं आमजनों ने हरिनाम कीर्तन करते हुए गांव टोला का भ्रमण किया।

X
चंद्रग्रहण के दौरान बंद रहे मंदिरों के कपाट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..