20 लाख की रंगदारी मांगने का आरोपी गिरफ्तार

Jamtara News - जरमुंडी के बजरंगबली मोड़ के समीप रहने वाले ठेकेदार विकास कुमार से 20 लाख की रंगदारी मांगने और दहशत फैलाने के लिए...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 06:41 AM IST
Dumka News - accused of demanding extortion of 20 lakhs arrested
जरमुंडी के बजरंगबली मोड़ के समीप रहने वाले ठेकेदार विकास कुमार से 20 लाख की रंगदारी मांगने और दहशत फैलाने के लिए उनकी जेसीबी में गोली मारने वाले रंजय राय और दिलीप पुजहर को पुलिस ने शनिवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया। दिलीप को जरमुंडी पुलिस ने पिछले साल हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था। सात जनवरी 18 को वह सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में तैनात जवानों को चकमा देकर फरार हो गया था। जबकि मुख्य आरोपी गंगाधर मांझी और चुनचुन मांझी की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है। शनिवार को अावासीय कार्यालय में जानकारी देते हुए एसपी वाईएस रमेश ने बताया कि विकास कुमार अपनी जेसीबी को भाड़े पर चलाता है। जरमुंडी निवासी गंगाधर व दिलीप ने 27 सितंबर को विकास को मोबाइल पर धमकी देकर 20 लाख की रंगदारी मांगी थी। विकास ने देने से साफ मना कर दिया था। पांच अक्टूबर को चारों ने परती डंगाल में शराब पी और साजिश रची कि विकास को डराने के लिए उसकी जेसीबी पर गोली मारना है। चुनमुन ने हथियार की व्यवस्था की। इसके बाद भी विकास रंगदारी में 40 हजार से अधिक देने को तैयार नहीं हुआ। सभी जेसीबी के शीशे में गोली मारकर फरार हो गए। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसडीपीओ अनिमेष नथानी के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। तकनीकी अनुसंधान के आधार पर जरमुंडी के दामुसिंधा निवासी रंजय राय को पकड़ा गया। उसकी निशानदेही पर सिटिकबोना से दिलीप पुजहर को पकड़ा गया। पूछताछ में दोनों ने अपना गुनाह स्वीकार किया। गंगाधर व चुनचुन ही साजिश के मास्टर माइंड हैं। जिस हथियार से गोली चलाई गई थी, वह उनके ही पास है। दोनों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

रंगदारी मांगने के आरोपी से जुड़ी जानकारी देते एसपी।

जेल में हुई थी गंगाधर व चुनचुन की दोस्ती

एसपी ने बताया कि जेल में ही गंगाधर व चुनचुन की दोस्ती हुई थी। जेल से छूटने के बाद दोनों साथ रहने लगे। इसी क्रम में चुनचुन और रंजय की दोस्ती हुई। इन लोगों की मुलाकात दिलीप से हुई थी वह इनके गैंग में शामिल हो गया। रंजन ने ही विकास का मोबाइल नंबर गंगाधर को दिया था। इसके बाद सभी ने मिलकर विकास से रंगदारी मांगने की साजिश रची।

पुलिस को चकमा देकर फरार हुआ था दिलीप

जरमुंडी पुलिस ने जामा में हुए एक हत्याकांड में चार जुलाई 16 को दिलीप पुजहर को गिरफ्तार किया था। पिछले साल जनवरी माह में दिलीप को इलाज के लिए सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में भर्ती कराया गया था। सात जनवरी 18 को वह तैनात जवानों को चकमा देकर फरार हो गया था। कई बार प्रयास करने पर भी हाथ नहीं आया।

X
Dumka News - accused of demanding extortion of 20 lakhs arrested
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना