जहां आपराधिक प्रवृत्ति के लाेग प्रभावित कर सकते हैं मतदान, वहां कड़ी सुरक्षा तैनात करें

Jamtara News - विधानसभा चुनाव को लेकर जामताड़ा विधानसभा क्षेत्र के लिए प्रतिनियुक्त पुलिस प्रेक्षक डॉ. रमन सिंह सिकरवार ने...

Dec 10, 2019, 09:06 AM IST
Jamtara News - deploy tight security where criminal propensity can affect voting
विधानसभा चुनाव को लेकर जामताड़ा विधानसभा क्षेत्र के लिए प्रतिनियुक्त पुलिस प्रेक्षक डॉ. रमन सिंह सिकरवार ने सोमवार को नारायणपुर प्रखंड क्षेत्र के चेकपोस्ट एवं मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। सर्वप्रथम वहां उन्होंने थाना परिसर में संबंधित पदाधिकारियों से विधानसभा क्षेत्र के बूथों की संख्या, सामान्य बूथों की संख्या, संवेदनशील, अति संवेदनशील बूथों की संख्या आदि की जानकारी लिया। प्रेक्षक ने वैसे बूथों की जानकारी ली। आपराधिक प्रकृति के लोग चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं। वैसे लोगों के विरुद्ध पुलिस ने क्या कार्रवाई की, वारंट सहित अन्य समीक्षा की गई और सर्तकता बरतने का निर्देश दिया। ऐसे मतदान केंद्रों की सूची तैयार की जा रही है, ताकि वहां पर्याप्त सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की जा सके। मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान नारायणपुर प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय धर्मपुर के मतदान केन्द्र संख्या 141 एवं 142, उच्च विद्यालय पबिया के मतदान केन्द्र संख्या 123 एवं 124, उत्क्रमित मध्य विद्यालय लोहारंगी के मतदान केन्द्र सं 28 उच्च विद्यालय नारायणपुर के आवासन स्थल मतदान केन्द्र सं 145, उम विद्यालय दिघारी के मतदान केन्द्र संख्या 46, 47, बालिका छात्रावास चैनपुर, प्रोजेक्ट प्लस टू उच्च स्कूल चैनपुर एवं नारायणपुर अस्पताल के न्यू आवासन स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने मतदाता व मतदान कर्मियों को दी जाने वाली सुविधा जैसे पेयजल, क्लस्टर पर मतदान कर्मियों को ठहरने के लिए की जाने वाली व्यवस्था रैम्प आदि सुविधाओं की जानकारी ली।

बूथ का निरीक्षण करते प्रतिनियुक्त पुलिस प्रेक्षक डॉ. रमन सिंह सिकरवार।

सेक्टर मजिस्ट्रेट के वाहन की जीपीएस से होगी ट्रेकिंग

लोकसभा चुनाव की तरह विधानसभा चुनाव में भी इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों के मूवमेंट की मोबाइल बेस्ड जीपीएस से ट्रैकिंग की जाएगी। इसको लेकर राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से जिला सूचना पदाधिकारियों को इस सिस्टम की बारीकियों से अवगत कराया गया है। जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी विजय केरकेट्टा ने बताया कि ईवीएम को ले जाने के लिए जिलेभर के 698 बूथों के लिए 118 सेक्टर मजिस्ट्रेटों के वाहन में जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम) लगाया जाएगा। मतदान केंद्र तक ईवीएम ले जाने तथा मतदान के बाद वापस लाने के दौरान इसकी ट्रैकिंग होगी। मतदान के दिन आवश्यकता पड़ने पर लगाए जाने वाले रिजर्व ईवीएम के मूवमेंट की भी जीपीएस ट्रैकिंग की जाएगी।

175 बूथों में होगी वेबकास्टिंग की व्यवस्था

जिलेभर के 175 मतदान केंद्रों पर वेबकास्टिंग बूथ बनाया गया है। जिसमें नाला विधानसभा के 83 एवं जामताड़ा विधानसभा के लिए 92 मतदान केंद्र शामिल हैं। कोई भी व्यक्ति इन बूथों की गतिविधियों को ऑनलाइन देख सकता है। पिछले लोकसभा चुनाव में भी कई मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग बूथ की व्यवस्था की गई थी।

पोस्टल बैलेट शिविर में एक भी नहीं हुआ मतदान

सिटी रिपोर्टर | जामताड़ा

सोमवार को एसजीएसवाई सभागार में जिला प्रशासन ने जामताड़ा व नाला विधानसभा चुनाव को लेकर पोस्टल बैलेट से मतदान के लिए शिविर लगाया। किसी ने भी पोस्टल बैलेट से मतदान नहीं किया। मंगलवार को पुन: एसजीएसवाई सभागार में शिविर लगाया जाएगा। वहीं 12 से 16 दिसंबर तक जेबीसी प्लस टू उच्च विद्यालय में पोस्टल बैलेट से मतदान को लेकर शिविर लगाया जाएगा। बताया गया कि नाला और जामताड़ा विधानसभा में 20 दिसंबर को मतदान होना है। इसके अतिरिक्त विधानसभा चुनाव को लेकर बनाए गए चेकपोस्टों में मुरलीपहाड़ी चेकपोस्ट, लच्छुडीह चेकपोस्ट, देवलबाड़ी चेकपोस्ट, करमदहा चेकपोस्ट आदि स्थानों पर विधानसभा चुनाव हेतु जांच पड़ताल के लिए बनाए गए चेक पोस्ट पर सघन जांच पड़ताल की। उन्होंने चेकपोस्ट में कार्यरत कर्मियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

पोस्टल बैलेट से मतदान कराने के लिए बैठे पदाधिकारी व कर्मी।

80 पार के वोटर पोस्टल बैलेट से कर सकते हैं वोट

पोस्टल बैलट भी बैलेट पेपर की तरह ही होते हैं। पोस्टल बैलेट से मतदाता अपने मत का इस्तेमाल करते हैं। पोस्टल बैलेट केवल सरकारी कर्मी, वाहन चालक, पुलिस के जवान के लिए होते हैं। पोस्टल बैलेट से वोटिंग करने वालों की संख्या चुनाव आयोग पहले ही निर्धारित कर लेता है। विधानसभा चुनाव में इस बार 80 की उम्र पार कर चुके मतदाता भी पोस्टल बैलेट से वोट दे सकेंगे। 80 साल से ज्यादा उम्र के वोटरों और दिव्यांग वोटरों को घर बैठे पोस्टल बैलेट से मतदान में भाग लेने की सुविधा दी जा रही है।

175 वेब कास्टिंग बूथ व 118 सेक्टर मजिस्ट्रेट की है व्यवस्था

मोबाइल एप से ईवीएम की ट्रैकिंग

मोबाइल एप के माध्यम से ईवीएम के मूवमेंट की ट्रैकिंग की जाएगी। यदि ईवीएम ले जा रहे सेक्टर मजिस्ट्रेट का वाहन निर्धारित रूट से डायवर्ट होता जाता है तो इसकी तुरंत जानकारी मिल सकेगी तथा सेक्टर मजिस्ट्रेट को अविलंब इसकी सूचना दी जाएगी। ताकि वे अपने निर्धारित मार्ग पर लौट सके। ईवीएम के जीपीएस ट्रैकिंग के लिए कंट्रोल रूम बनाया जाएगा।

Jamtara News - deploy tight security where criminal propensity can affect voting
X
Jamtara News - deploy tight security where criminal propensity can affect voting
Jamtara News - deploy tight security where criminal propensity can affect voting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना