बुद्ध पूर्णिमा पर गाजोत्सव सह मेला में भक्तों ने की पूजा

Jamtara News - भास्कर न्यूज| फतेहपुर/बिंदापाथर जलाई गांव स्थित बाबा धर्मराज मंदिर में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर तीन दिवसीय...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:26 AM IST
Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
भास्कर न्यूज| फतेहपुर/बिंदापाथर

जलाई गांव स्थित बाबा धर्मराज मंदिर में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर तीन दिवसीय गाजोत्सव सह मेला का आयोजन किया गया। इसे लेकर भक्तों में उत्साह देखा गया। उत्सव लेकर जलाई सहित मंझलाडीह, नामुजलांई,आम्बाबाक, लाकड़ाकुन्दा, डुमरिया, चड़कमारा, बड़वा, मोहनवाक, बावुडीह, पिपला, बाघमारा, डाढ़ सहित पूरे क्षेत्रों में भक्ति एवं उत्साह का वातावरण बना हुआ है। हर साल की तरह इस बार भी विभिन्न क्षेत्र से भक्ता एवं श्रद्धालु बाबा धर्मराज के दरबार में पहुंचने लगे हैं। निर्धारित प्रथा के अनुसार शनिवार को मंझलाडीह गांव स्थित मुख्य यजमान सिंह परिवार के निकटस्थ जलाशय एक पहाड़ तलाब में दर्जनों भक्ताओं ने पवित्र स्नान किया। मुख्य पुजारी रवीन्द्र नाथ झा द्वारा तालाब पर वैदिक रीति रिवाज एवं वैदिक मंत्रोचारण के साथ सभी भक्ताओं को रक्षासूत्र बांधा गया। रक्षासूत्र धारण करने के साथ ही बाबा धर्मराज धाम में धार्मिक गतिविधि शुरू हुआ। फलाहार में रहकर धर्मराज बाबा की उपासना में लीन रहते हैं। प्राचीन परंपरा के अनुसार भक्तो द्वारा कतारबद्ध होकर मुख्य पुजारी को अपने-अपने कंधों में चढ़ाकर बाब धर्मराज मंदिर तक ले जाया गया। तत्पश्चात रात्रि में गाजोत्सव का विशेष पूजा का शुभारंभ हुआ। शनिवार को सुबह पट खुलते ही गाजाेत्सव का मुख्य पूजा-पाठ का प्रारंभ किया जाएगा। जिसमें पूरे दिन पूजा-पाठ करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ती है। मुख्य पुजारी ने कहा कि बाबा धर्मराज की आशिष से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। प्राचीन मान्यता के अनुसार भक्तों के द्वारा कांटों पर उछलना, आग लेकर खेलना, नुकीले तार से अंग छेद करना आदि हैरतअंगेज करतब प्रस्तुत किया जाता है। इस अवसर पर मेला का भी आयोजन किया गया है। मेला प्रेमियों द्वारा मेला का आनंद उठा रहे हैं। मेला में विभिन्न प्रकार झूले, ब्रेक डांस, सर्कस, मीना बाजार, मिठाई दुकान का स्टॉल लगाया गया है।

पूजा के दौरान उपस्थित ग्रामीण।

भास्कर न्यूज| फतेहपुर/बिंदापाथर

जलाई गांव स्थित बाबा धर्मराज मंदिर में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर तीन दिवसीय गाजोत्सव सह मेला का आयोजन किया गया। इसे लेकर भक्तों में उत्साह देखा गया। उत्सव लेकर जलाई सहित मंझलाडीह, नामुजलांई,आम्बाबाक, लाकड़ाकुन्दा, डुमरिया, चड़कमारा, बड़वा, मोहनवाक, बावुडीह, पिपला, बाघमारा, डाढ़ सहित पूरे क्षेत्रों में भक्ति एवं उत्साह का वातावरण बना हुआ है। हर साल की तरह इस बार भी विभिन्न क्षेत्र से भक्ता एवं श्रद्धालु बाबा धर्मराज के दरबार में पहुंचने लगे हैं। निर्धारित प्रथा के अनुसार शनिवार को मंझलाडीह गांव स्थित मुख्य यजमान सिंह परिवार के निकटस्थ जलाशय एक पहाड़ तलाब में दर्जनों भक्ताओं ने पवित्र स्नान किया। मुख्य पुजारी रवीन्द्र नाथ झा द्वारा तालाब पर वैदिक रीति रिवाज एवं वैदिक मंत्रोचारण के साथ सभी भक्ताओं को रक्षासूत्र बांधा गया। रक्षासूत्र धारण करने के साथ ही बाबा धर्मराज धाम में धार्मिक गतिविधि शुरू हुआ। फलाहार में रहकर धर्मराज बाबा की उपासना में लीन रहते हैं। प्राचीन परंपरा के अनुसार भक्तो द्वारा कतारबद्ध होकर मुख्य पुजारी को अपने-अपने कंधों में चढ़ाकर बाब धर्मराज मंदिर तक ले जाया गया। तत्पश्चात रात्रि में गाजोत्सव का विशेष पूजा का शुभारंभ हुआ। शनिवार को सुबह पट खुलते ही गाजाेत्सव का मुख्य पूजा-पाठ का प्रारंभ किया जाएगा। जिसमें पूरे दिन पूजा-पाठ करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ती है। मुख्य पुजारी ने कहा कि बाबा धर्मराज की आशिष से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। प्राचीन मान्यता के अनुसार भक्तों के द्वारा कांटों पर उछलना, आग लेकर खेलना, नुकीले तार से अंग छेद करना आदि हैरतअंगेज करतब प्रस्तुत किया जाता है। इस अवसर पर मेला का भी आयोजन किया गया है। मेला प्रेमियों द्वारा मेला का आनंद उठा रहे हैं। मेला में विभिन्न प्रकार झूले, ब्रेक डांस, सर्कस, मीना बाजार, मिठाई दुकान का स्टॉल लगाया गया है।

हरिनाम संकीर्तन का अनुष्ठान आयोजित

कार्यक्रम पेश करते कलाकार।

पबिया|लोकनिया दास टोला में 24 प्रहर हरिनाम संकीर्तन का अनुष्ठान किया गया। ग्रामीण मानते हैं कि मानवता एवं भक्ति से ही संसार में सुखी जीवन व्यतीत किया जा सकता है। बांग्ला पाला कीर्तन में मूल गायक काजल चंद्र ने भगवान श्री कृष्ण के गुणगान का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि सृष्टिकर्ता एवं सभी जीवो के तारणहार भगवान श्री कृष्ण ही है। संसार में लोग जो भी जिस रूप में देवी-देवताओं को पूजते हैं। वह सभी भगवान श्री कृष्ण के ही अंश से हैं। कलियुग में मानव को काम, क्रोध, लोभ, मोह से दूर रहना चाहिए। अहंकार में आकर लोग अपने जीवन में बहुत सारे पाप कर बैठते हैं और उसका प्रायश्चित भी बड़े कष्ट से भोगना पड़ता है। इसलिए मनुष्य को सत मार्ग पर चलकर सत्कर्म करना चाहिए। कीर्तन गान के माध्यम से कृष्ण लीलाओं के वर्णन के साथ साथ जीवन के सदुपयोग के लिए बहुत सारे उपदेश दिया गया। मौके पर ग्रामीण संजय दास, ओपीन दास, विजय दास, प्रवीण, प्रदीप दास, सुमन दास, मुकेश दास, दीपक दास सहित सभी ग्रामीण व भक्त उपस्थित थे।

हनुमंत महायज्ञ को ले ध्वजारोहण कार्यक्रम

21 को कलश यात्रा के साथ ही आरंभ होगा यज्ञ व धार्मिक अनुष्ठान

भास्कर न्यूज | मुरलीपहाड़ी

आगामी 21 से 24 मई तक नारायणपुर प्रखंड के कालीपहाड़ी गांव में तीन दिवसीय हनुमंत महायज्ञ का शुभारंभ होने जा रहा है। इस वर्ष भी तीन दिवसीय यज्ञ कराने का निर्णय लिया गया है। यज्ञ को लेकर विधिवत रूप से ग्रामीणों ने ध्वज पताका लहराते हुए पूरे गांव का भ्रमण कर लोगों को भागवत भक्ति का संदेश दिया। इस यज्ञ के निमित गांव में बनाये गये यज्ञ मंडप पर ध्वजारोहण कार्यक्रम शुक्रवार को किया गया। यज्ञ के आरंभ से लेकर समापन तक कई धार्मिक कार्यक्रम आयोजित किए जायेंगे। इस बाबत प्रचार रथ को प्रखंड के विभिन्न गांवों मे प्रचार-प्रसार के लिये लगा दिया गया है। तीन दिवसीय महायज्ञ के पहले दिन 21 मई को कलश यात्रा निकाली जायेगी जो बराकर नदी के करमदहा घाट तक ले जाया जायेगा। नदी से कलश मे जल भरने का रस्म कराने के बाद उसी दिन से भजन-कीर्तन एवं प्रवचन कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। लोगों में इस धार्मिक अनुष्ठान को लेकर काफी उत्साह देखा जा रहा है। बैठक कर यज्ञ की सफलता को लेकर प्रतिदिन विचार-विमर्श किया जा रहा है। ध्वजारोहण कार्यक्रम में यज्ञ समिति के सदस्य प्रदीप मंडल, प्रमोद मंडल, निवारण मंडल, योगेन्द्र तुरी, संदीप मंडल, पशुपति तुरी, नंदु तुरी, शिवप्रसाद मंडल, अशोक मंडल आदि इस धार्मिक अनुष्ठान में शामिल रहे। इस कार्यक्रम के आयोजन से लोगों में काफी प्रसन्नता देखी जा रही है।

ध्वजारोहण के मौके पर श्रद्धालु।

Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
X
Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
Narayanpur News - devotees worshiped at the gajotsav cum fair at buddha purnima
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना