नौकरी दिलाने के नाम पर बरहेट की दो युवतियाें को दिल्ली में ले जाकर बेचा

Jamtara News - साहेबगंज जिले के बरहेट प्रखंड की दो आदिवासी लड़कियों को नौकरी दिलाने के नाम पर दिल्ली में बेच दिया गया। लड़कियां...

Jan 16, 2020, 07:55 AM IST
Sahebgang News - in the name of getting a job two young women of barhet were taken to delhi and sold
साहेबगंज जिले के बरहेट प्रखंड की दो आदिवासी लड़कियों को नौकरी दिलाने के नाम पर दिल्ली में बेच दिया गया। लड़कियां जिस गांव में रहती हैं, उसी गांव के सृजन मुर्मू किसी मिशनरी में नौकरी दिलाने का सब्जबाग दिखाकर उन्हें अपने साथ दिल्ली ले गया। फिर वहां दोनों को बेच दिया। जिन्हें लड़कियां बेची गई थीं, वे उनसे झाड़ू-पोंछा का काम लेते थे। 20 दिन वहां रहने के बाद उनमें से एक लड़की किसी प्रकार वहां से भाग निकली और फिर दो महीने तक पैदल चलने के बाद मध्य प्रदेश के सीधी पहुंची। वहां पुलिस ने उसे बदहवास स्थिति में देखा तो थाना ले गई। सीधी में वह 20-25 दिन रही। उसके बाद सीधी पुलिस ट्रेन से उसे लेकर साहेबगंज ले आई। अपने गांव पहुंचने के बाद उसे पूरी आपबीती सुनाई। फिर बरहेट थाना पहुंच सृजन मुर्मू के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई। सृजन पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

लड़की को वापस लाने के नाम पर ढाई हजार लेकर हुआ फरार

दिल्ली से भागी लड़की के गांव पहुंचने के बाद उस माता की हालत खराब है, जिसकी बेटी को भी सृजन उसी लड़की के साथ दिल्ली ले गया था। सृजन उस समय गांव में ही मौजूद था। एफआईआर के अनुसार, दिल्ली से लौटी लड़की से उसने दूसरी लड़की को वापस लाने के नाम पर ढाई हजार रुपए भी लिए, परंतु न उस लड़की को लेकर लौटा और न वह गांव में मौजूद है।

रोंगटे खड़ी कर देने वाली है लड़की की दास्तान

होटलों की जूठन खाकर दो माह तक पैदल चलती रही, रात में पेड़ों पर रहती थी दिल्ली से लौटी लड़की ने भास्कर को रौंगटे खड़ी करने वाली आपबीती बताई। उसने बताया-संथाली के अलावा कोई भाषा जानती नहीं। गांव के सृजन ने दिल्ली में उसे 20 हजार रुपए में बेच दिया। 20 दिन बाद वहां खरीदार की चंगुल से निकलने के बाद बिना मंजिल भागती रही। यह क्रम दो माह तक चला। दिन में होटलों की जूठन खाकर जिंदा रहती और फिर पैदल चलती रहती। अंधेरा ढलने के बाद वह सुरक्षित रहने के लिए किसी पेड़ पर चढ़ जाती। वहां भी डर के कारण सोती नहीं थी। दिन में झपकी जरूर ले लेती थी। दो माह तक नहीं नहाने के कारण शरीर से बदबू आ रही थी। कमजोरी से आंखें बाहर निकल आई थीं। मध्य प्रदेश पुलिस भी उसकी भाषा नहीं समझ पा रही थी। सिर्फ एक बार मुंह से झारखंड निकल गया। उसके बाद पुलिस ने किसी प्रकार साहेबगंज पुलिस से संपर्क कर मेरे गांव के बारे में मालूम कर वापस पहुंचाया।


X
Sahebgang News - in the name of getting a job two young women of barhet were taken to delhi and sold
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना