चुनाव के लिए वीवीपैट मशीन के संचालन की दी जानकारी

Jamtara News - झारखंड में विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग के निर्देश पर मतदाताओं को चुनाव की जानकारी देने हेतु वीवीपैट मशीन की...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:35 AM IST
Narayanpur News - knowledge of operation of vvpat machine for election
झारखंड में विधानसभा चुनाव को लेकर चुनाव आयोग के निर्देश पर मतदाताओं को चुनाव की जानकारी देने हेतु वीवीपैट मशीन की कनेक्टिविटी की जानकारी दिया जाना शुरू हो गया है। नारायणपुर में बीडीओ महेश्वरी प्रसाद यादव, अंचलाधिकारी केदारनाथ सिंह द्वारा प्रखंड कार्यालय में अपने काम से आने वाले आमजनता को वीवीपैट मशीन से मतदान करने की जानकारी दी जा रही है। हालांकि अभी चुनाव आयोग द्वारा विधानसभा चुनाव के लिये अधिसूचना जारी होने में देर है। ऐसे में मतदाताओ को इस इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन तथा वीवीपैट की कनेक्टिविटी को लेकर जागरूकता लाने का काम प्रशासनिक स्तर पर किया जा रहा है। ताकि मतदाता अपने प्रत्याशी को वोट डालने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि उनका वोट उसी प्रत्याशी को गया है। जिसमे वे अपना बटन पुश अप किये है। नारायणपुर बीडीओ महेश्वरी प्रसाद यादव के निर्देश पर यह प्रशिक्षण सभी पंचायतों में बारी बारी से दिया जायेगा। इसके पूर्व भी लोकसभा चुनाव में भी इस मशीन का इस्तेमाल कर वोटिंग करायी जा चुकी है।

ईवीएम व वीवीपैट मशीन से कराया मॉक पोल

नाला|क्षेत्र के विभिन्न स्थानाें पर वीवीपैट के कार्यप्रणाली के संबंध में लोगों को जानकारी दी गई तथा मॉक पोल भी कराया गया। मौके पर प्रखंड कृषि पदाधिकारी रायनंद साहू एवं जनसेवक चंचल कुमार दास ने जानकारी देते हुए बताया कि वीवीपैट व्यवस्था के तहत वोट डालने के तुरंत बाद कागज की एक पर्ची बनती है। यहां एक कागज की पर्ची रहती है, इस पर जिस उम्मीदवार को वोट दिया गया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न अंकित रहता है। यह व्यवस्था इसलिए है कि किसी तरह का विवाद होने पर ईवीएम में पड़े वोट के साथ पर्ची का मिलान किया जा सके। ईवीएम में लगे शीशे के एक स्क्रीन पर यह पर्ची सात सेकंड तक दिखाई देती है। भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया लिमिटेड ने यह मशीन 2013 में डिज़ायन की। सबसे पहले इसका इस्तेमाल नागालैंड के चुनाव में 2013 में हुआ। इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने वीवीपैट मशीन बनाने और इसके लिए पैसे मुहैया कराने के आदेश केंद्र सरकार को दिए। चुनाव आयोग ने जून 2014 में तय किया कि अगले चुनाव यानी साल 2019 के चुनाव में सभी मतदान केंद्रों पर वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा।

अधिकारियों ने लिया मतदान केन्द्र का जायजा

मुरलीपहाड़ी|झारखंड विधानसभा चुनाव को लेकर प्रशासनिक अधिकारी अभी से ही जुटने लगे है। मतदान केन्द्र पर दिये जाने वाले सुविधाओं के मद्देनजर यह निरीक्षण अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। शनिवार को नारायणपुर बीडीओ महेश्वरी प्रसाद यादव, अंचल अधिकारी केदारनाथ सिंह, थाना प्रभारी अजित कुमार ने संयुक्त रूप से नारायणपुर प्रखंड अंतर्गत यूएमएस भैयाडीह, यूएमएस बैद्यनाथपुर, यूएमएस नारोडीह, यूएमएस भागाबांध, यूपीएस बथानबाङी में बनाये जाने वाले मतदान केन्द्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में अधिकारियों ने विद्यालय भवन के कमरों, पेयजल, बिजली, रैम्प शौचालय तथा अन्य सुविधाओं को देखा। कुछ खामियों को दुरूस्त कर लिये जाने की गुफ्तगू भी इन अधिकारियों ने किया। बीडीओ ने बताया कि चूंकि अब चुनाव की तारीख की घोषणा होना तय है। इससे पूर्व जिलाधिकारी के निर्देश पर यह काम कर लिया जा रहा है।

X
Narayanpur News - knowledge of operation of vvpat machine for election
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना