• Home
  • Jharkhand News
  • Jamtara
  • विदेशी महिला का गलत तरीके से दस्तावेज बनाने के आरोपी पति की जमानत खारिज
--Advertisement--

विदेशी महिला का गलत तरीके से दस्तावेज बनाने के आरोपी पति की जमानत खारिज

विदेशी महिला को घर में रखने एवं गलत दस्तावेज बनाने के आरोपी छोटूराम की जमानत याचिका प्रधान जिला जज जामताड़ा के...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:10 AM IST
विदेशी महिला को घर में रखने एवं गलत दस्तावेज बनाने के आरोपी छोटूराम की जमानत याचिका प्रधान जिला जज जामताड़ा के न्यायालय से गुरुवार को खारिज कर दिया है। अभियुक्त के खिलाफ मिहिजाम थाना में कांड संख्या 15/18 दर्ज है। प्राथमिकी के अनुसार अभियुक्त ने बांग्लादेशी महिला का फर्जी तरीके से वोटर कार्ड, अाधार कार्ड सहित अन्य दस्तावेज मिहिजाम में बनवाया था। इस मामले को लेकर मिहिजाम पुलिस ने छोटू राम एवं अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया था। मिहिजाम थाना कांड संख्या 15/18 में कहा गया है कि महिला के पति छोटू राम एवं अन्य ने गलत तरीके से विदेशी महिला को अपने घर में रखकर उसका गलत तरीके से दस्तावेज तैयार कराकर यहां का निवासी बनाया था। यह प्राथमिकी एएसआई नबी उल्लाह खान ने दर्ज कराया था। इस मामले में पुलिस ने गत 6 फरवरी को छोटू राम नामक अभियुक्त को गिरफ्तार कर एसडीजेएम जामताड़ा के कोर्ट में पेश किया था। अभियुक्त उक्त तिथि से जामताड़ा जेल में है। गौरतलब है कि इससे पूर्व सदर अस्पताल जामताड़ा से नवजात शिशु की चोरी मामले में पुलिस ने अाराेपी बांग्लादेशी महिला रीना देवी काे गिरफ्तार किया था। नवजात के चोरी की घटना के बाबत जामताड़ा थाना में कांड संख्या 19/18 दर्ज किया गया था। महिला रीना ने पुलिस को बताया था कि उसकी शादी दो वर्ष पूर्व मिहिजाम कालीतल्ला निवासी छोटू राम के साथ मंदिर में हुई थी।

साइबर अपराधी मिथिलेश को नहीं मिली राहत

जामताड़ा।
साइबर अपराधी मिथिलेश कुमार मंडल की जमानत याचिका प्रधान जिला जज प्रदीप कुमार चौरसिया के न्यायालय से खारिज कर दिया गया है। अभियुक्त के खिलाफ करमाटांड़ थाना में कांड संख्या 236/17 दर्ज है। यह प्राथमिकी पुलिस पदाधिकारी सत्येंद्र शर्मा ने दर्ज कराया था। दर्ज मामले में कहा गया था कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि फोफनाद गांव में कुछ अपराधी साइबर अपराध को अंजाम दे रहे हैं। पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर छापामारी कर अभियुक्त को गिरफ्तार किया था। अभियुक्त के पास से विभिन्न कंपनी के मोबाइल फोन, सिम कार्ड, एटीएम कार्ड, बैंक पासबुक एवं अन्य सामान जब्त किया था। वर्तमान में अभियुक्त जेल में बंद है।