बालू उठाव पर प्रतिबंध से लाेगाें काे इस्तेमाल के लिए नहीं मिल रहा बालू

Jamtara News - बराकर नदी के घटियारी, चितामी, करमदाहा, नौघट्टा, नयाडीह आदि घाटों से बालू के खनन पर जिला प्रशासन एवं खनन विभाग द्वारा...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2019, 07:11 AM IST
Murlipahari News - sand will not be available for use due to ban on sand lifting
बराकर नदी के घटियारी, चितामी, करमदाहा, नौघट्टा, नयाडीह आदि घाटों से बालू के खनन पर जिला प्रशासन एवं खनन विभाग द्वारा रोक लगाए जाने की कार्रवाई के बाद स्थानीय लाेगाें काे अपने निजी काम के लिए भी बालू नहीं मिल पा रहा है। इससे लाेग परेशान है वहीं बालू उठाव बंद हाे जाने के बाद से स्थानीय युवक भी बेराेजगार हाे गए है। क्याेंकि उन्हें पहले बालू लाेड करने का काम मिल जाता था। जिससे उनका गुजर-बसर हाेता था। इस बाबत ग्रामीण इकराम अंसारी, शाहिद अंसारी, मुबारक अंसारी, निजाम अंसारी, अनवर अंसारी, मो आरिफ, कुद्दुस अंसारी, मो फिरोज, शकील अंसारी ने बताया क्षेत्र में एक भी छोटी नदी नहीं है। यदि एक छोटी नदी रजैया है भी तो उसका बालू बहुत साफ नहीं है। आखिर हम लोग घरेलू कार्य के लिए बालू का उठाव कहां से करें। हमें छोटे-छोटे जरूरतों के लिए जामताड़ा प्रखंड में अवस्थित छोटे नदी से बालू का उठाव नहीं कर सकते है। बराकर नदी समीप का नदी है। वर्षों से यहां से बालू का उठाव कर गांव के विभिन्न कार्यो को निपटाने का कार्य करते है। लेकिन सरकार के निर्देश पर खनन विभाग ने अभी हाल के दो-तीन महीने में स्थानीय ट्रैक्टर संचालकों के खिलाफ कार्रवाई किया है, उससे सबों को बालू मिलना मुश्किल हो गया है। प्रकृति ने जो संपदा क्षेत्र के विकास के लिए दिया है, उस पर सरकार को हथौड़ा नहीं चलाना चाहिए।

प्रतिक्रिया जताते बुटबेरिया गांव के ट्रैक्टर संचालक।

X
Murlipahari News - sand will not be available for use due to ban on sand lifting
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना