• Home
  • Jharkhand News
  • Jamua
  • माहुरी वैश्य महामंडल के 107 वां दो दिवसीय वार्षिक अधिवेशन का मिर्जागंज में शुभारंभ
--Advertisement--

माहुरी वैश्य महामंडल के 107 वां दो दिवसीय वार्षिक अधिवेशन का मिर्जागंज में शुभारंभ

माहुरी वैश्य महामंडल का 107वां दो दिवसीय वार्षिक अधिवेशन मिर्जागंज क्षेत्र में लिलिया देवी स्मृति भवन के नजदीक...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:00 AM IST
माहुरी वैश्य महामंडल का 107वां दो दिवसीय वार्षिक अधिवेशन मिर्जागंज क्षेत्र में लिलिया देवी स्मृति भवन के नजदीक शुभारंभ हुआ। कुलदेवी मां मथुरासिनी की माहुरी वैश्य महामंडल का 107वां वार्षिक अधिवेशन गिरिडीह जिला के मिर्जागंज में माहुरी वैश्य महामंडल के केंद्रीय अध्यक्ष सुबोध प्रकाश की अध्यक्षता में हुई। अधिवेशन 2 दिनों तक चलेगा। अधिवेशन के प्रथम दिन ध्वजारोहण का कार्यक्रम संपन्न हुआ जो मिर्जागंज मंडल के अध्यक्ष उमेश राम लोहानी द्वारा तथा माहुरी वैश्य महा मंडल के केंद्रीय अध्यक्ष सुबोध प्रकाश समेत महामंत्री सुशील कुमार कंधवे, केंद्रीय अध्यक्ष महिला समिति पूनम प्रकाश, संयुक्त महामंत्री रश्मि गुप्ता, स्वागताध्यक्ष अजीत कुमार सेठ, स्वागत मंत्री विजय कुमार गुप्ता, वीरेंद्र राम गुप्ता, रंजीत कुमार गुप्ता समेत कई अन्य लोग उपस्थित थे। मां मथुरासिनी की पूजा, हवन एवं प्रसाद का वितरण अजय कुमार गुप्ता की ओर से की गई। पूर्वाह्न 11 बजे कार्यकारिणी समिति की बैठक स्वर्गीय गोपी कृष्ण कक्ष, ललिया देवी माहुरी स्मृति भवन मिर्जागंज में हुई। बैठक में मिर्जागंज, खरगडीहा, जमुआ, चंदौरी, रेम्बा, नावाडीह आदि क्षेत्रों से स्वजाति बंधुओं ने भाग लिया। कार्यकारिणी समिति की बैठक में माहुरी वैश्य महामंडल के केंद्रीय अध्यक्ष सुबोध प्रकाश सेठ ने कहा कि सकारात्मक कार्य में सहयोग करें। आप सभी के सहयोग से सामाजिक कुरीतियों को दूर करने में समाज सक्षम होगा। उन्होंने कहा कि मथुरा स्थित कुलदेवी मां मथुरासिनी मंदिर के निर्माण हेतु आप लोग भरपूर सहयोग करें। उन्होंने कहा कि माहुरी समाज के लोग एक छतरी के नीचे आएं। आप सभी की नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि मंदिर निर्माण में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि महामंडल आपके द्वारा दिए गए सुझाव पर ही कार्यक्रम बनाती है। आप जो सुझाव देंगे महामंडल उस पर निश्चित तौर से विचार करेगी। माहुरी वैश्य महामंडल के महामंत्री सुशील कुमार कंधवे ने कहा कि संबंधित मंडल को सक्रिय करें। समाज के लोग श्राद्ध कार्यक्रम में सीमित दायरे में खर्च करें। समाज में अगर कोई विधवा हो तो रोजगार से जोड़ने के लिए प्रस्ताव दें। ताकि समाज वैसे लोगों को रोजगार देने में सक्षम हो सके। इसके लिए कुटीर उद्योग चलाया जाएगा। बरी, पापड़ आदि बना कर समाज का उत्थान किया जा सकता है। महिला संगठित होकर यदि काम करें तो रोजगार सृजित कर आमदनी बढ़ाई जा सकती है। बैठक में लोगों ने संबंधित मंडल को सक्रिय करने पर जोर डाला। स्वजाति बंधुओं ने कहा श्राद्ध कार्यक्रम में एकरूपता होनी चाहिए। क्योंकि श्राद्ध में लोग खर्चा करते हैं। अगर उस राशि से समाज के बीच कोई पुनीत कार्य किया जाए तो समाज के लोगों को लाभ मिलेगा। खास कर गरीब घर में बच्चों को शिक्षा के प्रति खर्च किए जाने पर मददगार साबित होगा। कुछ लोगों ने कहा कि महामंडल को साल में एक बार मंडल के लोगों के बीच जाना चाहिए जिससे संगठन मजबूत होगा। इस मुद्दे पर केंद्रीय अध्यक्ष सुबोध प्रकाश ने कहा कि महामंडल के लोग हर वक्त हर समय आपके साथ हैं। आप हमें सूचित करें हम तुरंत मंडल में पहुंच कर आपको सहयोग करेंगे। बैठक में सभी मंडलों में खाता खोलने को लेकर चर्चा हुई तथा निष्क्रिय मंडलों को सक्रिय करने पर जोर डाला गया। कार्यक्रम में समाज के सैकड़ों लोग मौजूद थे। इस दौरान कुलदेवी की अराधना के साथ सभी ने समाजिक कार्यों पर विचार-विमर्श किया।

ध्वजारोहण करते एवं समाज लोग।

लोगों को संबोधित करते केंद्रीय अध्यक्ष।