• Home
  • Jharkhand News
  • Jhariya
  • झरिया में 14 को भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाएगी, तैयारी तेज
--Advertisement--

झरिया में 14 को भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाएगी, तैयारी तेज

1932 से झरिया में निकल रही है भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा भास्कर न्यूज | झरिया झरिया मेन रोड स्थित पंचदेव मंदिर में...

Danik Bhaskar | Jul 09, 2018, 03:15 AM IST
1932 से झरिया में निकल रही है भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा

भास्कर न्यूज | झरिया

झरिया मेन रोड स्थित पंचदेव मंदिर में रविवार को रथ पूजा संचालन समिति की बैठक हुई। बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पूर्व की तरह इस वर्ष भी 14 जुलाई को भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकाली जाएगी। रथ यात्रा पंचदेव मंदिर से निकलेेगी, जो नगर भ्रमण करते हुए नई दुनिया टैक्सी स्टैंड पहुंचेगी। यहां पर भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भाई बलभद्र के साथ तीन दिनाें तक मौसीबाड़ी में विश्राम करेंगे। बैठक में विष्णु त्रिपाठी, अजय गुप्ता, विजय पांडेय, सूरज गुप्ता, जीतेंद्र शर्राफ, सुबोध केशरी, मनोज शर्मा, लबली अग्रवाल, अमन सिंह, गुड्‌डू साव, संतोष साव आदि शामिल थे।

यह है रथ यात्रा का इतिहास

झरिया में रथ यात्रा निकाले जाने का अपना एक अलग ही इतिहास रहा है। जानकारों का कहना है कि झरिया की केला पट्‌टी निवासी स्व. राम खेलावन साह ने पुत्र र| की प्राप्ति के बाद 1932 में सर्वप्रथम रथ यात्रा निकाली थी। स्व. साह के पौत्र पुत्र सूरज गुप्ता ने बताया कि स्व. साह के विवाह के काफी दिनों के बाद भी जब कोई संतान नहीं हुआ तो, वे अपनी प|ी के साथ तीर्थयात्रा पर निकल गए। घुमते हुए दोनों पुरी पहुंचे। यहां पर भगवान जगन्नाथ की रथ यात्रा निकल रही थी। रात में स्व. साह को स्वप्न आया कि तुम रथ यात्रा निकालों तुम्हें पुत्र र| की प्राप्ति होगी। यह बात सुबह में स्व. साह ने अपनी प|ी को बताई। इसके बाद झरिया पहुंचकर अपने पंडित जी को बताया। इसके बाद स्व. साह ने स्वयं रथ बनाया। उन्हें दो पुत्रर| की प्राप्ति हुई। स्व. साह ने धूमधाम के साथ झरिया में पहली बार रथ यात्रा निकाली थी। कुछ वर्षो के बाद स्व. साह ने उक्त रथ यात्रा की जिम्मेवारी यहां के धार्मिक संगठनों को दे दिया। उस समय झरिया के राज ग्राउंड मेंं तीन दिनों तक मेल भी लगता था। उसके बाद से प्रत्येक वर्ष यहां पर धूमधाम से रथ यात्रा निकाली जाती है।