--Advertisement--

पत्नीहंता को सुनाई गई 10 वर्ष सश्रम कारावास की सजा

तेनुघाट व्यवहार न्यायालय में सुनवाई के बाद सजा सुनाई भास्कर न्यूज | तेनुघाट तेनुघाट व्यवहार न्यायालय के जिला...

Dainik Bhaskar

Apr 05, 2018, 02:45 AM IST
तेनुघाट व्यवहार न्यायालय में सुनवाई के बाद सजा सुनाई

भास्कर न्यूज | तेनुघाट

तेनुघाट व्यवहार न्यायालय के जिला जज द्वितीय गुलाम हैदर ने प|ी की हत्या करनेवाले को दोषी पाते हुए कसमार थाना अंतर्गत पिड़गुल निवासी खिरोधर नायक को दस साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। धनबाद जिला के हरिहरपुर थाना अंतर्गत बरवाडीह निवासी कालीचरण साव ने कसमार थाना में बयान दर्ज कराया था कि उनकी पुत्री हेमवंती देवी की शादी 2 जुलाई 07 को खिरोधर नायक के साथ हुई थी।

शादी के चार महीने बाद से ही ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। जिसे लेकर कई बार ग्रामीणों ने समझौता कराया। 16 अगस्त 08 को खिरोधर नायक ने फोन कर बताया कि उनकी बेटी मर गई है। उनको पूरा विश्वास है कि दहेज के लिए बेटी को ससुराल वालों ने मार डाला। इस बयान के आधार पर कसमार थाना कांड संख्या 34/08 दर्ज किया गया।

आरोप पत्र समर्पित होने के बाद सत्रवाद संख्या 211/09 स्थानांतरित होकर हैदर की न्यायालय में आया। जहां उपलब्ध गवाह एवं उभय पक्ष की बहस सुनने के बाद हैदर ने अभियुक्त खिरोधर नायक को दहेज हत्या में दोषी पाते हुए दस साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। अभियोजन पक्ष की ओर से अपर लोक अभियोजक संजय कुमार सिंह ने बहस की।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..