• Hindi News
  • Jharkhand
  • Kamasmar
  • झारखंड की भाषा और संस्कृति को बचाए रखने की जरूरत :डॉ. लंबोदर
--Advertisement--

झारखंड की भाषा और संस्कृति को बचाए रखने की जरूरत :डॉ. लंबोदर

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 02:50 AM IST

Kamasmar News - प्रखंड के मुंगो बगदा स्थित मां छिन्नमस्ता मंदिर परिसर में मकर संक्रांति के अवसर पर बगदा पंसस जीवन जगन्नाथ व...

झारखंड की भाषा और संस्कृति को बचाए रखने की जरूरत :डॉ. लंबोदर
प्रखंड के मुंगो बगदा स्थित मां छिन्नमस्ता मंदिर परिसर में मकर संक्रांति के अवसर पर बगदा पंसस जीवन जगन्नाथ व ग्रामीणों की पहल से भव्य मेला का शुभारंभ किया गया। मेला उद्घाटन मंत्री चन्द्र प्रकाश चौधरी के आप्त सचिव डॉ लंबोदर महतो ने किया। मेले मे टुसू प्रतियोगिता, गीत संगीत प्रतियोगिता, मुर्गा लड़ाई, बंगाल के प्रसिद्ध झूमर नृत्य आदि कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। डॉ महतो ने कहा कि झारखंड की भाषा व संस्कृति को बचाए रखने की जरूरत है। झारखंड की संस्कृति का अभिन्न अंग है झूमर नृत्य। टुसू प्रतियोगिता मुगो, बगदा को प्रथम, द्वितीय लालमटिया व पुरनीबगयारी को तृतीय घोषित किया गया। विजेताओं को समाज सेविका कौशल्या देवी ने पुरस्कार दिया। मौके पर मेला कमेटी के अध्यक्ष बिनोद महतो, सचिव अजीत महतो, उपाध्यक्ष नरेश महतो, उप सचिव दशरथ महतो, कोषाध्यक्ष फागू रजवार, रमेश रजक, मुख्य व्यवस्थापक गिरधारी महतो, संयोजक बीरेंद्र करमाली, उप संयोजक मिथिलेश पाण्डेय, प्रभारी गोपाल महतो, अरविंद महतो, किशोर रजक आदि मौजूद थे ।

X
झारखंड की भाषा और संस्कृति को बचाए रखने की जरूरत :डॉ. लंबोदर
Astrology

Recommended

Click to listen..