कसमार

  • Hindi News
  • Jharkhand News
  • Kasmar News
  • वीराने में 35 लाख से बना उपस्वास्थ्य केंद्र हुआ बदहाल, डॉक्टर और स्टाफ नहीं आया आज तक
--Advertisement--

वीराने में 35 लाख से बना उपस्वास्थ्य केंद्र हुआ बदहाल, डॉक्टर और स्टाफ नहीं आया आज तक

विपिन मुखर्जी

Dainik Bhaskar

Feb 22, 2018, 03:10 AM IST
वीराने में 35 लाख से बना उपस्वास्थ्य केंद्र हुआ बदहाल, डॉक्टर और स्टाफ नहीं आया आज तक
विपिन मुखर्जी
कसमार प्रखंड के दुर्गापुर पंचायत के बड़वाटांड़ में 3 साल पहले 35 लाख रुपए की लागत से उपस्वास्थ्य केंद्र, दुर्गापुर का निर्माण कराया गया। आनन-फानन में यहां सरकारी उप स्वास्थ्य केंद्र तो बना दिया गया, लेकिन यहां के लोगों को डॉक्टर और चिकित्सा कर्मी के दर्शन नहीं हुए। अधिकारी व जनता दोनों का मानना है कि भवन गलत जगह पर बना दिया गया। हकीकत तो यह है कि इस भवन का निर्माण भी अधूरा ही है। वही भवन को फाइल में पूर्ण बताकर एवं शौचालय निर्माण का काम अधूरा छोड़ ठेकेदार भाग गया।

नवनिर्मित भवन को एक ताला-चाबी भी नसीब नहीं हुआ। भवन के सभी खिड़की-दरवाजे व पंखा, लोहे के सामान चोरी हो गए। परिसर पर शौचालय निर्माण को भी अधूरा छोड़ ठेकेदार भाग गया। अब यहां जुआरियों और जंगली जानवरों का बसेरा हो चुका है, भवन में लगे शीशे की खिड़की व दरवाजा को हर दिन पत्थर फेंककर असामाजिक तत्व तोड़ रहे हैं। इस पर किसी का ध्यान नहीं है।

चोर भवन से साजो-सामान चुरा ले गए, खिड़की दरवाजे टूट गए

वीरान जगह पर बना स्वास्थ्य उपकेंद्र।

टूटा अस्पताल भवन का गेट और अधूरा पड़ा शौचालय।

वीराने पर बना दिया भवन, सुरक्षा गार्ड भी तैनात नहीं किया

वित्तीय वर्ष 2013- 14 में भवन निर्माण विभाग के तहत 35 लाख की लागत से यहां उप स्वास्थ्य केंद्र का भवन बड़ा ही तामझाम से बनाया गया। भवन बनाने के लिए गांव के विशेश्वर मांझी ने जमीन दान दी थी। वीराने पर भवन बनाए जाने के कारण भवन ग्रामीणों की नजरों से भी दूर है। भवन चड़यटुंगरी से एक जोरिया के किनारे बना है, इस भवन के पूर्व में चड़यटुंगरी, पश्चिम में रानीटांड़, उत्तर में मधुकरपुर व दक्षिण में डुंडाडीह है। भवन के चारों ओर स्थित सभी गांव डेढ़-दो किमी दूर हैं। लोगों का कहना है कि ठेकेदार द्वारा कमजोर ताला लगाए जाने पर सबसे पहले चोरों ने आसानी से उसे निशाना बनाकर तोड़ दिया, फिर अंदर के सामान की चोरी करने लगे।

गलत जगह पर भवन बनाया गया है

दुर्गापुर का स्वास्थ्य उपकेंद्र वीरान जगह पर बना दिया गया है। भवन बनाने के समय न तो स्वास्थ्य विभाग और न ही सिविल सर्जन से राय ली गई। ठेकेदार को जहां जमीन मिली, सेटिंग-गेटिंग कर अपने मनमुताबिक भवन बना दिया। एक साल पहले भवन स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर किया गया, लेकिन दुर्गापुर के लिए कोई स्वास्थ्यकर्मी नहीं होने के चलते उप स्वास्थ्य केंद्र को चालू नहीं किया जा सका। जब हैंडओवर किया गया था, उस वक्त भवन के दरवाजे, खिड़कियां, पंखे लगे थे। अगर चोरी होने की बात कही जा रही है, तो सही होगा, क्योंकि गलत जगह पर बना दिया है। 

डॉ. नवाब, प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी, कसमार

X
वीराने में 35 लाख से बना उपस्वास्थ्य केंद्र हुआ बदहाल, डॉक्टर और स्टाफ नहीं आया आज तक
Click to listen..