--Advertisement--

सरकारी रिकॉर्ड में मृत वृद्ध की पेंशन के इंतजार में मौत

सरकारी फाइलों में मृत घोषित कसमार अंचल की मधुकरपुर पंचायत के 80 वर्षीय पुशु सिंह ने पेंशन पाने के इंतजार में दम तोड़...

Dainik Bhaskar

Feb 04, 2018, 04:25 AM IST
सरकारी फाइलों में मृत घोषित कसमार अंचल की मधुकरपुर पंचायत के 80 वर्षीय पुशु सिंह ने पेंशन पाने के इंतजार में दम तोड़ दिया। सिंह को जिंदा रहते सरकारी कर्मियों ने मृत घोषित कर उनकी पेंशन रोक दी थी। इस कारण उन्हें 10 माह से पेंशन नहीं मिली।

दैनिक भास्कर में 23 दिसंबर को इस संबंध में खबर प्रकाशित की गई थी। तब सरकारी महकमे ने मामले को गंभीरता से लेकर पेंशन भुगतान की प्रक्रिया शुरू भी की, लेकिन वृद्ध के मौत तक पूरी नहीं हो पाई। ग्रामीणों के अनुसार भूख व कष्ट से उनकी मौत हो गई। इससे पहले भी वृद्ध पुशु पंचायत कर्मियों एवं जनप्रतिनिधियों समेत प्रखंड के अधिकारियों के यहां गुहार लगाते रहे, लेकिन बकाया 10 माह का पेंशन नहीं मिला। ग्रामीणों ने दोषी पंचायत कर्मी, जनप्रतिनिधि एवं अन्य लोगों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की मांग की है। इससे पहले पुशु सिंह को लगातार 8 साल तक वृद्धा पेंशन का लाभ मिलता रहा।

स्व. पुशु सिंह की फाइल फोटो।

सरकारी प्रक्रिया में ही रह गया मामला

भास्कर में खबर छपने के बाद सरकारी महकमा हरकत में आया। कसमार के अंचलाधिकारी खगेन महतो ने दोषी जनप्रतिनिधियों एवं लोगों को घेरे में लिया, जो वृद्धा पेंशन के लाभुक पुशु सिंह को जिंदा रहते हुए मृत घोषित कर प्रखंड एवं अंचल को गलत रिपोर्ट किए थे। इसके आधार पर उनका पेंशन रोक दिया गया था।

पोर्टल बंद रहने से प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई


खगेन महतो, अंचलाधिकारी, कसमार

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..