Hindi News »Jharkhand »Kamasmar» तीन साल से अधूरे पड़े हैं मनरेगा के आधा दर्जन कुएं, अधिकारियों की मिलीभगत से पंचायत कर्मियों ने नि

तीन साल से अधूरे पड़े हैं मनरेगा के आधा दर्जन कुएं, अधिकारियों की मिलीभगत से पंचायत कर्मियों ने निकाल लिए कुआं के पूरे पैसे

विपिन मुखर्जी

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 04:30 AM IST

विपिन मुखर्जी जैनामोड़

कसमार प्रखंड के मुंगो-बगदा में मनरेगा योजना से बनने वाले आधा दर्जन कुएं तीन साल से अधूरे पड़े हैं। जोड़ाई व चबूतरा ढलाई का काम बाकी है। ये कुएं वित्तीय वर्ष 2014-15 व 2015-16 के हैं। ब्लॉक में हुई सोशल ऑडिट में भी कूप अधूरे रहने व पैसे निकासी में गड़बड़ी की बात सामने आई थी, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इतना ही नहीं बगदा गांव के एक पूर्ण कुआं की फोटोग्राफी कर दूसरे लाभुक के अधूरे कुआं को पूर्ण बताकर प्राक्कलन की पूरी राशि की निकासी का मामला भी सामने आया है।

एक कुआं दो लाख 30 हजार रुपए से बनाना है।कई लाभुकों को इस्टीमेट का आधा, तो कुछ को एक तिहाई ही राशि मिली। लाभुकों का कहना है कि अधिकारियों व पंचायत कर्मियों की मिलीभगत से कूप निर्माण की पूरी राशि की निकासी कर ली गई है।

कई लाभुकों ने जेवर और बर्तन बेचकर या अपने बचत खाता से राशि निकासी कर कूप निर्माण में लगा दिया। लेकिन उन्हें सरकारी स्तर से पैसे नहीं मिलने से इन दिनों तंगहाली में जी रहा है। सभी अधूरे कुएं इन दिनों जानलेवा बने हुए हैं, कभी भी कूप में गिरकर इंसान या पालतू जानवरों की जान जा सकती है। अधूरे कुओं को पूर्ण कराने के लिए बीडीओ, उपायुक्त व मुखिया को पत्र लिखकर कई बार फरियाद भी की, लेकिन लाभुकों को कूप की पूरी राशि नहीं मिली। जब डीबी स्टार की टीम बगदा पहुंची, तो लाभुकों ने बताया कि एक तो पूरी राशि नहीं मिली, वहीं 15 से 20 हजार खुद भी खर्च किए।

सोशल ऑडिट में भी सामने आई थी कूप निर्माण व राशि निकासी में गड़बड़ी की बात, लाभुकों की शिकायत पर अधिकारियो ं ने नहीं दिया ध्यान

केस- 1

बगदा में हेमलाल रजक का अधूरा पड़ा कुअां।

वित्तीय वर्ष 2014-15 में मुंगो बगदा के हेमलाल रजक को मनरेगा के तहत कुआं पास हुआ। पंचायत सेवक के निर्देश पर हेमलाल ने 15 फीट तक कूप की खुदाई कर ली। लेकिन, रोजगार सेवक ने यह कहकर आगे की खुदाई रोक दी कि पत्थर निकल गया है। हमेलाल ने अपने पैसे से रस्सा, गैंता, कुदाल, बेलचा आदि की खरीदारी की। इसमें करीब 10 हजार रुपए खर्च हुए। इसके बाद पंचायत से चार किस्तों में 70 हजार रुपए मिले। जबकि कूप का कुल प्राक्कलन दो लाख 29 हजार था। आधी राशि में हेमलाल ने खुदाई 15 फीट खुदाई के साथ जोड़ाई का काम भी कराया। अभी मजदूरों की 6-6 दिन की मजदूरी भी बाकी है। पैसे के अभाव में आगे काम नहीं हुआ। हेमलाल ने बताया कि पंचायत सेवक व अन्य कर्मियों ने पूरी राशि निकाल ली।

केस-2

जगेश्वर महतो का अधूरा पड़ा कूप।

बगदा के जगेश्वर महतो को भी वर्ष 2014-15 में कूप आवंटित हुआ। इन्हें प्राक्कलन की आधी राशि ही लगभग 80 हजार रुपए ही मिले। इन्होंने भी 32 फीट खुदाई किया व मात्र 15 फीट ही जोड़ाई का काम किया। इन्होंने अपने घर से 15 हजार रुपए खर्च किए। उन्होंने बताया कि तत्कालीन मुखिया राजेंद्र उर्फ राजू तिवारी को भी अधूरा कुआं के बारे जानकारी दी गई, इसके बावजूद भी कुआं पूरा नहीं करवाया गया। पंचायत कर्मियों द्वारा कूप के प्राक्कलन की पूरी राशि की निकासी कर ली गई है। लाभुक जगेश्वर ने कहा कि पूरी राशि मिल जाती तो, अधूरा कुआं पूर्ण हो जाता। कुआं इन दिनों जानलेवा बना हुआ है इसमें कई जानवर गिरकर जख्मी हो चुके हैं। वहां खेलने आने वाले बच्चों के भी गिरने का भय बना रहता है।

15 दिनों के अंदर काम पूरा हो जाएगा : रोजगार सेवक

रोजगार सेवक दशरथ वेदिया ने कहा कि सोशल ऑडिट के दौरान हमारे पंचायत के निर्माणाधीन कुओं के भौतिक सत्यापन की रिपोर्ट मांगी गई थी, मैंने रिपोर्ट जमा कर दिया है। 15 दिनों के अंदर अधूरे कूप पूर्ण हो जाएंगे। 5-6 फीट जोड़ाई काम बाकी है, सब हो जाएगा।

एसीबी से जांच होनी चाहिए : जीवन

सभी कूप अधूरे पड़े हैं, लेकिन राशि की निकासी कर ली गई है। इसकी एंटी करप्शन ब्यूरो से जांच होनी चाहिए, दोषी व जिम्मेवार पंचायत कर्मियों पर तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। इसके कारण 2017-18 सत्र में पंचायत में नए कूप बनने में बाधा उत्पन्न हो गई है।  जीवन जगरनाथ, पंसस, बगदा।

एक माह के अंदर काम पूरा कराने का निर्देश

बगदा पंचायत में अधूरे कुओं को एक माह के अंदर पूरा करने का निर्देश दिया गया है, अधूरा कुओं के पूर्ण नहीं होने तक मनरेगा से नए कूप बनाने की प्रशासनिक स्वीकृति पर तत्काल रोक लगाई गई है। रोजगार सेवक से मिली जानकारी के अनुसार मेटेरियल हेड में राशि नहीं होने के कारण कूप अधूरे हैं। कीकू महतो, बीडीओ, कसमार।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kamasmar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×